Raj Express
www.rajexpress.co
बांधवगढ़ के प्राकृति सौंदर्य का दीदार
बांधवगढ़ के प्राकृति सौंदर्य का दीदार|Social Media
मध्य प्रदेश

बांधवगढ़ के प्राकृति सौंदर्य का दीदार, निर्माण कार्य आखिरी चरण पर

उमरिया, मध्य प्रदेश : पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार की स्वदेश दर्शन योजना है, इसी के तहत मध्यप्रदेश शासन को वाइल्ड लाईफ सर्किट स्वीकृत हुआ है।

Kamlesh Yadav

राज एक्सप्रेस। पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार की स्वदेश दर्शन योजना है, इसी के तहत मध्यप्रदेश शासन को वाइल्ड लाईफ सर्किट स्वीकृत हुआ है। इस रूट में पांच नेशनल पार्क कान्हा, पेंच, बांधवगढ़, संजय दुबरी, पन्ना सहित मुकुंदपुर सफारी भी शामिल किए गए हैं। टाइगर रिजर्व प्रबंधन के साथ यहां वाइल्ड लाइफ से जुड़ी अधोसंरचनाएं विकसित की गई हैं। इन्हें बनाने का उद्देश्य टाईगर रिजर्वाे में टाईगर साइटिंग का दबाव कम करना है। शुरूआती तौर पर कान्हा व संजय टाईगर रिजर्वों में आंशिक तौर पर प्रोजेक्ट चालू किया गया है। शेष स्थानों पर अगले माह पूर्ण रूपेण प्रारंभ हो सकता है।

 स्वदेश दर्शन योजना
स्वदेश दर्शन योजना
Kamlesh Yadav

मिलेगी सुविधाएं

वन्यजीवों से प्रेम, प्रकृति की गोद में बसने की इच्छा लेकर मध्यप्रदेश के टाईगर रिजर्व आने वाले लोगों के लिए अच्छी खबर है। कोर एरिया में टाईगर सफारी से अलग नया टूरिस्ट डेस्टीनेशन तैयार किया गया है। पर्यटकों को रात भर रूकने के लिए पांच सितारा होटलों जैसी सुविधाएं मिलेगी। मेहमानों के लिए वाइल्ड लाइफ से जुड़ी जानकारी के लिए इंफरमेंशन सेंटर, ओपन एयर एमपी थियेटर, कैनौपी वॉक जैसी एडवेंचर चीजें हैं। फिनशिंग का कार्य होते ही अगले माह दिसंबर से इनमें पूरी तरह पर्यटन चालू कर दिया जाएगा।

प्राकृतिक सौंदर्य का अकूत भंडार

बांधवगढ़ में पनपथा के बफर एरिया में यह स्थान चयनित किया गया है, यहां पर्यटकों के लिए चिन्हित सभी जरूरतों को ख्याल रखते हुए कार्य कराया गया है। सालभर बाद निर्माण कार्य आखिरी चरण में है। दिसंबर माह तक कार्य होते ही यह पर्यटकों के लिए खोल दिया जाएगा। यहां ठहरने व प्रकृति सौंदर्य का लाभ लेने पहले बांधवगढ़ ताला में इसके नवीन बुकिंग ऑफिस से निर्धारित शुल्क जमा कर अनुमति लेना होगा। इसके अलावा खेतौली कोर एरिया के पचपेढ़ी व अन्य बफर क्षेत्र में पर्यटकों के भ्रमण का रूट बनाया गया है।

ज्ञात हो कि-

यहां पर्यटन के लिए तीन जोन हैं। ताला, मगधी तथा खेतौली ये सभी कोर एरिया में है। बफर में भी बाघ के साथ अन्य जानवरों और प्राकृतिक सौंदर्य का अंकूत भंडार है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।