प्रदेश से होकर गुजर रहे हैं लगातार बन रहे सिस्टम, सितंबर अंत तक पड़ेंगी बौछारें

भोपाल, मध्यप्रदेश : मौसम विज्ञानियों का कहना है कि लगातार बन रहे सिस्टम के कारण मानसून की विदाई अभी नहीं होगी। सितंबर के अंत तक प्रदेश के कई हिस्सों में तेज बारिश तो कहीं-कहीं बौछारें पड़ती रहेंगी।
प्रदेश से होकर गुजर रहे हैं लगातार बन रहे सिस्टम, सितंबर अंत तक पड़ेंगी बौछारें
सितंबर अंत तक पड़ेंगी बौछारेंSyed Dabeer Hussain - RE

भोपाल, मध्यप्रदेश। राजधानी में बीते दो दिनों से वर्षा नहीं होने से मौसम का मिजाज एक बार फिर बदल गया है। जिससे तापामन में भी बढ़ोत्तरी हुई है। वहीं वातावरण में मौजूद नमी के साथ ही धूप निकलने से उमस से लोग परेशान हैं। हालांकि बंगाल की खाड़ी में सिस्टम के सक्रिय होने से वर्षा की गतिविधियों में फिलहाल थमने का कोई आसार नहीं हैं। इस सिस्टम के बाद बंगाल की खाड़ी में गुरुवार को एक अन्य कम दबाव का क्षेत्र बनने जा रहा है। जिसके भी प्रदेश से होकर गुजरने के आसार हैं। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि लगातार बन रहे सिस्टम के कारण मानसून की विदाई अभी नहीं होगी। सितंबर के अंत तक प्रदेश के कई हिस्सों में तेज बारिश तो कहीं -कहीं बौछारें पड़ती रहेंगी।

एक सिस्टम मौजूद, 24 को बन रहा है नया सिस्टम :

मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में फिलहाल एक सिस्टम बना हुआ है। इसके बाद 24 को नया सिस्टम बन रहा है। इसके कारण अगले एक सप्ताह तक रेनफाल एक्टीविटी जारी रहेगी। इस दौरान प्रदेश में कहीं-कहीं तेज बारिश होगी तो कहीं हल्की से मध्यम बौछारें पड़ सकती हैं।

अभी मौजूद कम दबाव का क्षेत्र वर्तमान में दक्षिणी-पश्चिम झारखंड और उससे लगे उत्तरी छत्तीसगढ़ के आसपास सक्रिय है। राजस्थान पर भी एक चक्रवात मौजूद है। इसके अतिरिक्त मानसून ट्रफ भी अभी प्रदेश के गुना, सीधी से होकर गुजर रहा है। सिस्टम के प्रदेश से होकर गुजरने की वजह से कई इलाकों में वर्षा हो रही है। हालांकि राजधानी भोपाल में दो दिन से बारिश नहीं होने से हीटिंग होपे के साथ तापामन भी बढ़ गया है। लेकिन सिस्टम के के प्रभाव से गुरुवार से पूर्वी मध्यप्रदेश में बारिश होगी। राजधानी सहित पश्चिमी मध्यप्रदेश में 24 या 25 सितंबर से वर्षा की संभावना है।

मौसम के मिजाज :

बुधवार को राजधानी में सुबह से बादलों की आंशिक मौजूदगी के बाच धूप खिली रही, जिससे उमस बनी रही। दिन और रात के तापामन में अधिक अंतर नहीं हुआ। पारा सामान्य से एक डिग्री अधिक रहा। अधिकतम तापामन 32 डिग्री, तो न्यूनतम 23 डिग्री दर्ज किया गया। शहर के कुछ इलाकों में छिटपुट बौछारें पड़ीं। साहा ने बताया कि गुरुवार को भी बादलों की आंखमिचोली चलती रहेगी। छिटपुट बौछारें पड़ने के आसार हैं।

पारे की चाल में रही तेजी (तापमान डिग्री सेल्सियस में) :

  • सुबह 05:30 बजे 23.2 डिग्री सेल्सियस

  • सुबह 08:30 बजे 25.8 डिग्री सेल्सियस

  • सुबह 11:30 बजे 29.2 डिग्री सेल्सियस

  • दोपहर 02:30 बजे 31.7 डिग्री सेल्सियस

  • शाम 05:30 बजे 29.6 डिग्री सेल्सियस

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.