150 की टीम ने 6 कंपनियों के 9 ठिकानों पर एक साथ मारे छापे
150 की टीम ने 6 कंपनियों के 9 ठिकानों पर एक साथ मारे छापे|Pradeep Chouhan
मध्य प्रदेश

इंदौर : 150 की टीम ने 6 कंपनियों के 9 ठिकानों पर एक साथ मारे छापे

इंदौर, मध्य प्रदेश : एडवाइजरी कंपनियों के खिलाफ शनिवार को क्राइम ब्रांच ने 150 लोगों की टीम के साथ 6 कंपनियों के 9 ठिकानों पर छापे मारे। जांच में कई गड़बड़ियां सामने आने की संभावना।

Pradeep Chauhan

इंदौर, मध्य प्रदेश। एडवाइजरी कंपनियों के खिलाफ शनिवार को क्राइम ब्रांच ने 150 लोगों की टीम के साथ 6 कंपनियों के 9 ठिकानों पर छापे मारे। यहां सैकड़ों कर्मचारी काम करते हुए मिले। कई स्थानों पर तो लाक डाउन के नियमों की भी धज्जियां उड़ाई जा रही थीं। पुलिस ने आम लोगों से अपील की थी कि एडवाइजरी कंपनी से धोखा खाए लोग पुलिस को शिकायत करें। कुछ ही दिनों में पुलिस के पास सैकड़ों शिकायतें पहुंची उसके बाद ये कार्रवाई की गई। कंपनियों पर मारे छापे के दौरान कई गड़बड़ियां मिली हैं। इनकी गंभीरता से पड़ताल की जा रही है, कई बड़ी गड़बड़ियों के सामने आने की संभावना है।

चिटफंड, मल्टी लेवल मार्केटिंग, तथा अनाधिकृत रूप से चलने वाली इन्वेस्टमेंट एडवाइजरी कम्पनियों, साथ विभिन्न प्रकार के प्रलोभन देकर लोगों से पूँजी जमा कराकर धोखाधड़ी करने वाली कम्पनियों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए आईजी विवेक शर्मा द्वारा इंदौर झोन के समस्त जिलों में अभियान चलाया जा रहा है। इस तरह की शिकायतों के लिये हेल्पलाइन नम्बर 7049124445 भी जारी किया गया है। इस पर वाट्सएप या काल कर शिकायत दर्ज करवाई जा सकती है।

शिकायतें मिली तो पुलिस ने बनाई प्लानिंग :

पीड़ितों के साथ होने वाली आर्थिक ठगी की घटनाओं की शिकायत करने हेतु इंदौर में डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र द्वारा क्राइम एएसपी राजेश दण्डोतिया को शिकायतों का पर्यवेक्षणकर्ता अधिकारी नियुक्त किया गया है। पुलिस को हेल्पलाइन के साथ ही सिटीजन काप,ईमेल एवं कुछ लोगों ने स्वयं उपस्थित होकर भी शिकायतें की थी। ठगी करने वाली कंपनियों के संबंध में प्राप्त शिकायतों का गंभीरतापूर्वक अवलोकन किया जिसमें सेबी के अधिकारियों से बातचीत कर एडवाईजरी कंपनियों के विरूद्ध लंबित शिकायतों, पुलिस विभाग में प्राप्त शिकायतों पर्यवेक्षण के दौरान यह पाया कि इंदौर के विजयनगर में निवेश के नाम पर सलाह मुहैया कराने वाली कंपनियों द्वारा ठगी का बड़ा नेटवर्क स्थापित कर लिया है जिसमें कंपनियों द्वारा विभिन्न प्रकार की अनियमिततायें कारित की जा रहीं हैं जैसे कंपनी का सेबी रजिस्ट्रेशन ना होना, कंपनी के पते के प्रमाणीकरण का नगर निगम गुमास्ता लायसेंस ना होना, स्नातक पास कर्मचारियों की नियुक्त ना होना,कार्यरत कर्मचारी जो निवेश की सलाह मुहैया कराते है उनके पास आवश्यक प्रमाण पत्र ना होकर अयोग्य होना, एक ही कंपनी का एक से अधिक पते पर अवैध रूप से संचालित होना,कंप्लायस, एचआर, ऑडिट आफिसर की नियुक्ति ना होना, लंबित शिकायतों को निराकृत ना किया जाना, निवेश के नाम पर लोगों से पैसे प्राप्त कर ठगी करना, ग्राहक के डीमेट एकाउण्ट के आईडी पासवर्ड प्राप्त कर छल करना,कॉलिंग सर्वर में फर्जी नाम पते की सैकड़ों सिम कार्ड लगाकर लोगों को झांसा देना, कंपनी का निश्चत मापदण्डों के अनुरूप टर्नओवर ना होने पर छल-कपट पूर्वक लोगों से धोखाधड़ी कर पैसे प्राप्त करना, तय क्षमता से अधिक लोगों को कार्य में लगाकर लॉकडाउन के दिशा निर्देशों का उल्लंघन करना, श्रम कानून के अनुरूप कर्मियों का पंजीकरण नही होना इत्यादि।

क्राइम ब्रांच की टीमों ने की रैकिंग :

इस प्रकार कुल 6 कंपनियों के विरूद्ध कार्यवाही करने हेतु एएसपी ने क्राइम ब्रांच के समस्त टीम प्रभारियों तथा संबंधित क्षेत्रों विजयनगर व लसूड़िया थाने के थानाधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर छापेमार कार्यवाही की योजना बनाई। क्राईम ब्रांच की टीमों ने रैकी कर 6 कंपनियों के कुल 9 स्पाट पहचाने जहां पर एक साथ रेड डाली जानी थी चूॅकि कुछ कंपनियां एक ही नाम से 2 अलग अलग स्थानों पर संचालित हो रहीं थी अत: रेड के लिये एएसपी क्राइम के नेतृत्व में 150 की टीम को ब्रीफ किया गया। शनिवार को प्रात: करीबन 11 बजे क्राईम ब्रांच की टीम ने इन कंपनियों के ठिकानों पर एक साथ छापे मारे। फ्रेंकलिन रिसर्च अपोलो टावर, विजयनगर, यह कंपनी दो अलग अलग ठिकानों पर नियमों के विरूद्ध कार्यवाही कर रही थी जिसके दोनों ठिकानों पर छापामार कार्यवाही की गई।

इन कंपनियों के ठिकानों पर मारे छापे :

वेल्थ रिसर्च प्रिंसेस पार्क, केप विजन यूके बैंक के उपर स्कीम नम्बर 78 में दो अलग अलग ठिकानों पर संचालित हो रही थी जिन पर कार्यवाही की गई। निवेश आईकन मेट्रो टॉवर,कैपिटल लाईफ महालक्ष्मी नगर, तथा वृंदावन होटल के उपर दो अलग अलग ठिकानों पर संचालित की जा रही थी जिस पर कार्यवाही की गई। प्रोफिट विस्टा सगुन आर्केड इंदौर । इस प्रकार कुल 6 कंपनियों के विरूद्ध 9 ठिकानों पर कार्यवाही जारी है जिसमें सेबी की गाईडलाईन के विपरीत अनेकों अनियमिततायें पाई जाने की आशंका है। इन कंपनियों द्वारा सेबी के दिशा निर्देशोंं का अनुपालन ना करते हुये, गलत पते पर ऑफिस संचालित किये जाना, बिना किसी विशेषज्ञता के निवेश हेतु स्वयं को सलाहकार बताते हुये लोगों से छल करना, निवेश के नाम पर पैसे प्राप्त कर लोगों के डीमेट एकाउण्ट ना खोलकर उनका निजी उपभोग करना, आदि अनियमिततायें कारित किये जाने की संभावना है जिनके विरूद्ध ज्ञात तथ्यों के परीक्षण की कार्यवाही जारी है। पुलिस ने आम जनता से अपील की है कि हेल्पलाइन नम्बर 7049124445 पर अथवा स्वयं उपस्थित होकर चिटफंड-मल्टी लेवल मार्केटिंग/पूँजी निवेश के नाम पर एडवाइजरी आदि कम्पनियों द्वारा कारित की जाने वाली ठगी अथबा यदि ऐसी कम्पनियां अनाधिकृत रूप से संचालित होना आपको ज्ञात है तो शिकायत दर्ज कराएं, आपका नाम गुप्त रखा जायेगा।

150 की टीम ने 6 कंपनियों के 9 ठिकानों पर एक साथ मारे छापे

150 की टीम ने 6 कंपनियों के 9 ठिकानों पर एक साथ मारे छापे

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co