नारियल का पौधा लगाकर CM बोले- "भारतीय सभ्यता में इसे शुभ और मंगलकारी माना गया है"
नारियल का पौधा लगाकर बोले CM Social Media

नारियल का पौधा लगाकर CM बोले- "भारतीय सभ्यता में इसे शुभ और मंगलकारी माना गया है"

भोपाल, मध्यप्रदेश : CM चौहान अपने संकल्प के परिपालन में प्रतिदिन पौधा रोपण करते हैं, आज सीएम चौहान ने निवास परिसर में नारियल का पौधा लगाया है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। MP में पौधारोपण का अभियान तेजी से जारी है, अपने प्रदेश को हरा-भरा रखने हर दिन एक पेड़ लगाने के संकल्प के तहत CM द्वारा पौधारोपण किया जा रहा है। एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने संकल्प के परिपालन में प्रतिदिन पौधा रोपण करते हैं, आज भी सीएम चौहान ने निवास परिसर में नारियल का पौधा लगाया है।

सीएम शिवराज ने किया ट्वीट

एमपी के सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कहा कि आज निवास में नारियल का पौधा रोपा। इस अवसर पर सीएम शिवराज ने कहा- नारियल को भारतीय सभ्यता में शुभ और मंगलकारी माना गया है। इसलिए पूजापाठ और मंगल कार्यों में इसका उपयोग किया जाता है, नारियल पानी में इलेक्ट्रोलाइट्स अच्छी मात्रा में होते हैं, जिससे थकान या कमजोरी लगने पर ताजा महसूस होता है। एक नारियल में लगभग 600 मिलिग्राम पोटेशियम होता है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बताया

एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि, नारियल एक बहुवर्षी एवं एकबीजपत्री पौधा है। इसका तना लम्बा तथा शाखा रहित होता है। धार्मिक अनुष्ठानों में नारियल के फल का विशेष महत्व है। वहीं नारियल फल आयुर्वेद में भी औषधीय गुणों के लिए प्रसिद्ध है।

बता दें कि, पर्यावरण सम्पूर्ण विश्व के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है, यदि विश्व को बचाना है, धरती के अस्तित्व को बचाना है या मानव जीवन भविष्य में सुरक्षित रखना है तो हम अपनी धरती को रहने लायक बनाए और वृक्षारोपण करें। तो वहीं, पौधारोपण की मुहिम को आगे बढ़ाते हुए मध्‍य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने नर्मदा जयंती के अवसर पर 19 फरवरी, 2021 को अमरकंटक में आयोजित कार्यक्रम के दौरान प्रतिदिन एक पौधा लगाने का संकल्प लिया था।

उसी दिन से मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान राज्य में हर दिन एक पेड़ लगा रहे हैं। अभी तक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आम, पारिजात, सप्तपर्णी, नीम, सीता अशोक, गुल बकावली, शीशम, करंज, पुत्रजीवक, वटवृक्ष, पीपल, कदम, बाँस, हरसिंगार, गूलर, बेल, चंदन, महानीम, खिरनी, रुद्राक्ष जैसे पौध लगा चुके हैं। पर्यावरण को बचाने के लिए पौधारोपण करना बहुत आवश्यक है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.