मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान|Social Media
मध्य प्रदेश

मैं अपनी अंतिम सांस तक गरीबों के हक की लड़ाई लडूंगा : चौहान

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीहोर ज़िले के रेहटी में आयोजित बूथ स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन में अपने विचार साझा किये।

Aditya Shrivastava

राज एक्सप्रेस। आज मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सीहोर ज़िले के रेहटी में आयोजित भाजपा मंडल सलकनपुर के बूथ स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन में पहुंचे। वहां चौहान ने कार्यकर्ताओं से अपने विचार साझा किये। कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि, कांग्रेस जिस तरह से प्रदेश में काम कर रही है, ज्यादा लंबे समय तक चलने वाली नहीं है।

सिंह ने कहा कि चारों तरफ त्राहि-त्राहि मची है, लेकिन आपके अधिकार और हक की लड़ाई हम लड़ेंगे। मैं मुख्यमंत्री था तो कांग्रेसियों के क्षेत्र में भी विकास के काम हो जाया करते थे। लेकिन अब सिर्फ गलियों में पत्थर बिछवाये जा रहे हैं। सारे विकास के काम ठप पड़े हैं। गरीबों के कल्याण की सब योजना बंद पड़ी हैं। जहां भी जाओ लोग कहते हैं, मामा वापस आ जाओ, वापस आ जाओ। मैं अपनी अंतिम सांस तक गरीबों के हक की लड़ाई लडूंगा।

CAA 2019 को लेकर बोले शिवराज कि यह नागरिकता देने का कानून है, छीनने का नहीं। लोगों को डराया जा रहा है कि भाजपा वाले भगा देंगे। मुसलमानों को निकाल देंगे। भारत में रहने वाले किसी मुस्लिम भाई-बहन को इससे डरने की जरूरत नहीं है।

नागरिकता कानून को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। यह मानवीय कानून है। पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान से धार्मिक आधार पर प्रताड़ित होकर जो हमारे हिंदू, सिख भाई-बहन भारत आए हैं, उन्हें भारत की नागरिकता दी जाएगी। हमें गर्व होना चाहिए कि वर्षों से पीड़ा झेल रहे शरणार्थी बंधुओं को नागरिकता संशोधन कानून से भारत की नागरिकता मिलेगी।

हम सब संकल्प लेंगे कि पूरी मजबूती के साथ गांव-गांव में संगठन को खड़ा करेंगे। जनता या किसी कार्यकर्ता के साथ अत्याचार हुआ तो हम सब लड़ेंगे

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co