पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों को पारी बाहर पदोन्नति देने का मामला
पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों को पारी बाहर पदोन्नति देने का मामला|Syed Dabeer-RE
मध्य प्रदेश

पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों को पारी बाहर पदोन्नति देने का मामला, उठाई मांग

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में राष्ट्रपति और राज्यपाल से पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों को पारी बाहर पदोन्नति देने का मामला ठंडे बस्ते में चला गया है।

Shahid Kamil

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में राष्ट्रपति और राज्यपाल से पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों को पारी बाहर पदोन्नति देने का मामला ठंडे बस्ते में चला गया है। कोई 8 साल निकल चुके हैं लेकिन तब से अभी तक इन शिक्षकों को कोई प्रमोशन नहीं दिया गया है।

अब जब शिक्षक दिवस पर पुरस्कारों की चर्चा शुरू हुई तो पहले के सम्मानित शिक्षकों ने प्रदेश में पारी बाहर पदोन्नति पाने के नगाड़े पीटे हैं। शिक्षकों का कहना है कि सरकार ने ही नियम बनाए थे कि राष्ट्रपति और राज्यपाल से जो पुरस्कार प्राप्त शिक्षक हैं उन्हे सम्मानित वर्ष में ही पारी बाहर पदोन्नति देने का प्रावधान होगा। वहीं इस मामले में आरोप है कि वर्ष 2012 से इन शिक्षकों को पदोन्नति का लाभ नहीं दिया गया है। तब से अभी तक ढाई सौ शिक्षक प्रदेश में पदोन्नति के लिए लोक शिक्षण तो कभी मंत्रालय में चक्कर काटते देखे जाते हैं। बताया गया है कि इसके लिए चार पूर्व मंत्री भी सरकार को नोट सीट लिख चुके हैं। उसके बाद भी अधिकारियों ने कोई ध्यान नहीं दिया है।

पारी बाहर पदोन्नति पुरस्कृत शिक्षकों का हक : राठौर

मध्य प्रदेश शिक्षक संघ के प्रदेश महामंत्री क्षेत्र वीर सिंह राठौर का कहना है कि पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों को पारी बाहर पदोन्नति मिलना उनका हक है क्योंकि, सरकार ने ही इस प्रकार के नियम बनाए हैं। यह प्रमोशन भी सम्मान से जुड़ा हुआ हिस्सा है। राठौर ने कहा कि पिछले साल वह स्वयं शासन को पत्र लिख चुके हैं। अधिकारियों ने सिर्फ आश्वासन दिए हैं। लेकिन आज तक प्रमोशन के रास्ते नहीं खोले गए हैं। उपेक्षा होने के कारण पुरस्कृत शिक्षक स्वयं को कुंठित महसूस कर रहे हैं। उन्होंने मांग की है कि तत्काल पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों को आउट आफ टर्न प्रमोशन देना चाहिए।

नोटशीट लिखने के बाद भी नहीं दिया गया ध्यान : दहायत

वरिष्ठ शिक्षक नेता गिरीश दहायत का कहना है कि प्रदेश के कई जिलों में राष्ट्रपति और राज्यपाल पुरस्कार से सम्मानित सहायक शिक्षक, शिक्षक, प्रधानध्यापक, व्याख्याताओं को पारी बाहर पदोन्नति से वंचित रखा जा रहा हैं। वर्ष 2012 से यह स्थिति बनी हुई है। जबकि प्रदेश के पूर्व शिक्षा मंत्री पारस जैन के अलावा पूर्व मंत्री अर्चना चिटनिस विजय शाह दीपक जोशी द्वारा नोटशीट लिखने के बाद भी पुरुस्कार प्राप्त शिक्षकों को पारी बाहर पदोन्नति का लाभ आज दिनांक तक नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि अब मुख्यमंत्री एवं मौजूदा शिक्षा मंत्री को पत्र लिखकर मांग है कि सम्मानित पुरुस्कार शिक्षकों पदोन्नति दी जायें।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co