Raj Express
www.rajexpress.co
बदमाशों ने ट्रक में सो रहे ड्राइवर-सहयोगी को कट्टे की नोक पर लूटा
बदमाशों ने ट्रक में सो रहे ड्राइवर-सहयोगी को कट्टे की नोक पर लूटा|Pankaj Yadav
मध्य प्रदेश

बदमाशों ने ट्रक में सो रहे ड्राइवर-सहयोगी को कट्टे की नोंक पर लूटा

बमीठा, छतरपुर : सीमेंट भरकर जा रहे ट्रक के चालक ने राष्ट्रीय राजमार्ग 75 में गंज के पास ट्रक खड़ा किया तभी रात करीब 2.30 बजे लुटेरों ने ड्राइवर और सहयोगी को कट्टे की नोंक पर लूटा

Pankaj Yadav

हाइलाइट्स

  • लुटेरों ने ट्रक में सो रहे ड्राइवर और सहयोगी को कट्टे की नोंक पर लूटा

  • रात ढाई बजे बदमाशों ने ट्रक चालक के साथ मारपीट की

  • लुटेरों ने न केवल मारपीट की बल्कि 25 हजार रूपए नगद, 3 मोबाइल ले गए

  • ट्रक के चालक ने राष्ट्रीय राजमार्ग 75 में गंज के पास ट्रक खड़ा किया था

  • इस घटना की शिकायत बमीठा में की गई

राज एक्सप्रेस। सीमेंट भरकर जा रहे ट्रक के चालक ने राष्ट्रीय राजमार्ग 75 में गंज के पास ट्रक खड़ा कर दिया ताकि, कुछ आराम कर सके और इसके बाद आगे की यात्रा करे। रात करीब ढाई बजे जब ट्रक चालक और उसका सहयोगी गहरी नींद में सो रहे थे तभी कट्टे की नोंक पर आए लुटेरों ने न केवल मारपीट की बल्कि 25 हजार रूपए नगद, तीन मोबाइल ले गए हैं। बदमाशों ने ट्रक में तोडफ़ोड़ भी की है। जैसे-तैसे घटना की शिकायत बमीठा में की गई है।

जानकारी के मुताबिक

ट्रक क्रमांक एमपी 32 एचए 0307 में सीमेंट भरा था उसके साथ चलने वाला एक ट्रक गंज में खराब हो गया इसलिए दूसरे ट्रक के चालक ने अपना ट्रक हाईवे पर गंज में रोक लिया। ट्रक चालक गोवर्धन पाल, विक्की श्रीवास और रविन्द्र अहिरवार सो गए। चालक गोवर्धन पाल नौगांव क्षेत्र के लहेरापुरवा का रहने वाला है।

एनएच 75 में रात ढाई बजे की घटना

रात ढाई बजे मोटर साईकिलों से आए दो बदमाशों ने कट्टे की नोंक पर ट्रक चालक के साथ मारपीट की और 25 हजार रूपए छीन लिए। लुटेरों के चंगुल से छूटकर ट्रक चालक बसारी पहुंचे जहां से उन्होंने डायल 100 को सूचना दी। मौके पर पहुंची डायल 100 की मदद से चालक और उसके साथी को उपचार दिलाया गया है। वहीं बमीठा में मामले की शिकायत की गई है। घटना स्थल पर एक 315 बोर का कारतूस पाया गया है।

पुलिस को सुविधा शुल्क देकर लगाए जा रहे लाखों के दांव

भरोसेमंद सूत्र बताते हैं कि पुलिस को पैसे देकर क्षेत्र के कई स्थानों में लाखों रूपए के दांव लगाए जा रहे हैं। पिछले एक माह से जुआ खेला जा रहा है। इसी जुआ के कारण आपराधिक घटनाएं हो रही हैं। सूत्र बताते हैं कि पुलिस सुविधा शुल्क लेती है इसलिए वह हस्तक्षेप भी नहीं करती। विगत दिनों दो पुलिसकर्मी जुआ की फड़ पर गए थे लेकिन जुआ खिलाने वाले लोगों ने आरक्षकों को यह कहते हुए दुत्कार कर भगा दिया कि वे थाने के बड़े साहब को नजराना देते हैं।