क्या जबलपुर तैयार हैं ?
क्या जबलपुर तैयार हैं ?|Raj Express
मध्य प्रदेश

आपदा से निपटने नहीं है कोई तैयारी, जनता पर आ सकती है मुसीबत भारी

जलप्लावन, नदी-नालों में ऊफान, घरों में पानी घुसना आदि से निपटने के लिए व्यापक पैमाने मे पहले से ही तैयारियां होना चाहिए, जो कि अभी तक होती हुई नहीं दिख रही है। बारिश का मौसम शुरू, नहीं हुआ टीम का गठन।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

जबलपुर, मध्य प्रदेश। बारिश का मौसम शुरू हो गया है, लेकिन आपदा प्रबंधन के नाम पर प्रशासनिक कोई व्यवस्था होती हुई नहीं दिखाई दे रही है। जिससे प्राकृतिक आपदा आने पर उससे निपटने के लिए तत्काल में उठाए जाने वाले कदमों से जनता को बचाना मुश्किल हो सकता है। इसलिए इस तरह की व्यवस्थाएं प्रशासन को पूर्व से ही कर लेना चाहिए, लेकिन वर्तमान न तो निगम प्रशासन और जिला प्रशासन की ऐसी कोई टीम का गठन होता दिख रहा है न ही जनता के लिए बारिश के दिनों में होने वाले जलभराव, बाढ़ आदि से निपटने के लिए या जानकारी देने के लिए किसी कन्ट्रोल रूम की स्थापना हुई है।

उल्लेखनीय है कि बीते वर्षो में बारिश के दिनों में जगह-जगह हुए जलप्लावन सहित अन्य बारिश के दिनों की घटनाएं सभी के सामने आ चुकी हैं, जिसको अच्छी तरह से सभी ने देखा व जाना है। इसलिए जलप्लावन, नदी-नालों में ऊफान, घरों में पानी घुसना आदि से निपटने के लिए व्यापक पैमाने में पहले से ही तैयारियां होना चाहिए, जो कि अभी तक होती हुई नहीं दिख रही है।

इनकी लगाई जाती है ड्यूटी :

बारिश के पूर्व होमगार्ड के सैनिक, नगर निगम का मैदानी अमला सहित अन्य की अतिरिक्त ड्यूटी संभागवार लगाई जाती है, ताकि बारिश के कारण अगर कहीं पर भी कोई आप्रिय स्थिति निर्मित होती है तो तत्काल आपदा प्रबंधन का काम कर रहे कर्मियों के द्वारा नागरिकों को आप्रिय घटना से बचाया जा सके। वहीं अभी तक तो आपदा प्रबंधन के लिए अलग से टॉक्स फोर्स का भी गठन हो जाना चाहिए, जो कि दूर-दूर होता हुआ नहीं दिखाई दे रहा है।

कहां पर दी जाए जानकारी :

बारिश के दिनों में आने वाली तरह-तरह की आपदाओं से निपटने के लिए प्रशासन स्तर पर कन्ट्रोल रूम की स्थापना की जाती है, ताकि शहर व जिले के नागरिक किसी भी प्रकार की आप्रिय आपदा आने की जानकारी मोबाईल फोन के माध्यम से जानकारी दे सकें, लेकिन ऐसा फिलहाल वर्तमान में ऐसी कोई व्यवस्था नहीं की गई है।वहीं नगर निगम सीमा अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों को बारिश के दिनों में जलप्लावन, अति वर्षा से होने वाले नुकसान सहित आंधी-तूफान आदि से बचाने के लिए संभागीय कार्यालय स्तर पर निगम कर्मी व अधिकारियों की ड्यूटी लगाई जाती है, लेकिन सिर पर मानसून होने के बावजूद भी इस तरह की व्यवस्था अभी तक नहीं की गई है।

गनीमत है मौसम सामान्य है :

बीतों वर्षों की बात की जाए तो अभी तक बारिश से शहर तर-बतर हो जाता और जगह-जगह जलभराव, मकान गिरने सहित अन्य घटनाएं सामने आने लगती हैं, लेकिन गनीमत यह है कि मौसम सामान्य होने के कारण अब तक शहर या जिले में कोई विपरीत स्थिति पैदा नहीं हुई है।

इनका कहना है :

हमारे द्वारा बारिश से निपटने के लिए सभी आवश्यक तैयारियां की जा रही हैं। जिसके तहत नाला-नालियों की सफाई आदि का कार्य भी जारी है।

राकेश अयाची, उपायुक्त, नगर निगम, जबलपुर

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co