वैक्सीन पर राजनीति नहीं होनी चाहिए, यह राष्ट्र का सवाल है : डॉ. मिश्रा
वैक्सीन पर राजनीति नहीं होनी चाहिए, यह राष्ट्र का सवाल है : डॉ. मिश्राRaj Exp

वैक्सीन पर राजनीति नहीं होनी चाहिए, यह राष्ट्र का सवाल है : डॉ. मिश्रा

भोपाल, मध्य प्रदेश : पूरा देश जान गया है किसानों का आंदोलन भ्रम फैलाने वाला। मोदी जी को आपदा को अवसर में बदलने में महारथ हासिल।

भोपाल, मध्य प्रदेश। प्रदेश के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि पूरा देश जान गया है कि किसानों का आंदोलन भ्रम फैलाने वाला आंदोलन है। आज तक न तो एमएसपी बंद हुई। ना कोई मंडी बंद हुई। धान खरीदी भी हो गई। जींस की खरीदी भी हो रही है। गृहमंत्री रविवार को यहां मीडिया से चर्चा कर रहे थे।

गृहमंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी ने अपने वादे के अनुसार जनवरी में वैक्सीन की अनुमति दे दी। विगत आठ माह से भय के साए में रह रही आम जनता आज राहत महसूस कर रही है। वैक्सीन में राजनीति नहीं होनी चाहिए। सभी को लगवानी चाहिए। यह राष्ट्र का सवाल है। अखिलेश यादव जी तुष्टिकरण की राजनीति कर रहे हैं। वैक्सीन पर भ्रम फैलाना अच्छी सोच नहीं कहा जा सकता है, क्या करें। वे न तो अपने चाचा की सुनते हैं और ना अपने पिताजी की सुनते हैं। उन्होंने विपक्षियों के पास सत्य बचा ही नहीं। वे झूठ का, भ्रम का और भय के सहारे राजनीतिक जमीन तलाश कर रहे हैं। विपक्षी दल आम जनता को भ्रमित और भयभीत कर राजनीति कर रही है वैक्सीन पहला मामला नहीं है। इसके पहले भी विपक्षियों ने सीएए और किसानों के मामले में गुमराह करने का काम किया है।कांग्रेस को सबसे पहले अपने युवा नेता को जो इटली में है उन्हें प्रशिक्षण देना चाहिए बाद में दूसरों को। इसकी शुरुआत गंगोत्री से होना चाहिए।

गृहमंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि हम नहीं कहते जमाना कहता है। वैश्विक क्षितिज पर सर्वप्रथम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का नाम होता है, इससे भारत माता का मस्तक गौरवान्वित होता है। आपदा को अवसर में बदलने की महारत हमारे माननीय प्रधानमंत्री जी को हासिल है और सचमुच हम उनके नेतृत्व में एक बार पुन: विश्व गुरु बनने की ओर अग्रसर है। गृहमंत्री ने कहा कि नवनियुक्त मुख्य न्यायाधीश का स्वागत है। साथ में सभी का स्वागत है। एक सवाल के जवाब में डॉ. मिश्रा ने कहा कि कश्मीर में पत्थर फिकते थे तो कहते थे भटके हुए नौजवान हैं और यहां क्या कहेंगे तुष्टीकरण वाले। हमने तो तब भी कहा था जिस घर से पत्थर आएंगे वहीं से पत्थर निकाले जाएंगे। ऐसे लोग जो समाज की शांति को भंग करने की कोशिश करते हैं। यह मध्यप्रदेश की सरकार है और यहां कानून का राज है और जरूरत पड़ी तो पत्थरबाजों के विरुद्ध सख्त कानून बनाएंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co