आज सुबह CM ने बुलाई आपात बैठक
आज सुबह CM ने बुलाई आपात बैठकSocial Media=

आज सुबह CM ने इन महत्वपूर्ण विषयों के संबंध में बुलाई आपात बैठक, अधिकारियों को दिए सख्त निर्देश

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज सुबह मुख्यमंत्री ने मध्यप्रदेश में पशुओं में लंपी बीमारी की रोकथाम और उपचार के लिए उठाये जा रहे आवश्यक कदमों एवं अन्य महत्वपूर्ण विषयों के संबंध में समीक्षा बैठक की।

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज सुबह 7:00 बजे मध्यप्रदेश के मख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आपात बैठक बुलाई। बैठक में मुख्यमंत्री ने मध्यप्रदेश में पशुओं में लंपी बीमारी की रोकथाम और उपचार के लिए उठाये जा रहे आवश्यक कदमों एवं अन्य महत्वपूर्ण विषयों के संबंध में निवास पर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा की एवं आवश्यक निर्देश दिए।

आपात बैठक :

बच्ची से रेप मामले पर समीक्षा :

एमपी के भोपाल में निजी स्कूल की बस में मासूम बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म के मामले में मुख्यमंत्री ने बड़ी बैठक बुलाई है। सीएम ने प्रातः 7:00 बजे बुलाई आपात बैठक में निर्देश देते हुए कहा कि भोपाल के एक निजी स्कूल की बस में बेटी के साथ हुई वारदात विश्वास को हिला देने वाली घटना है। माता-पिता अपने बच्चों को भरोसे पर स्कूल भेजते हैं, यह भरोसा बनाए रखना स्कूल प्रबंधन का दायित्व है।

सीएम शिवराज ने कहा कि, दोषी ड्रायवर और आया के खिलाफ कार्यवाही के साथ-साथ स्कूल प्रबंधन के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाए। स्कूल बसों में चलने वाले स्टाफ का वेरिफिकेशन स्कूल प्रबंधन की जवाबदारी है। बच्चों को हम दरिंदों के हवाले नहीं छोड़ सकते। बस में सीसीटीवी कैमरे काम क्यों नहीं कर रहे थे, यह स्कूल प्रबंधन को देखना चाहिए था। यह स्कूल प्रबंधन का दायित्व है। समाज में यह संदेश नहीं जाना चाहिये कि प्रभावशाली व्यक्तियों पर कार्यवाही नहीं होगी।

आगे मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि, यह विश्वास मजबूत होना चाहिए कि सरकार है तो अपराधी छूटेंगे नहीं, निश्चित समय में कड़ी कार्यवाही की जाए, ताकि प्रबंधन अपनी जवाबदारी और दायित्व समझे। वहीं सीएम बोले- भोपाल के सभी स्कूलों के ड्रायवरों तथा बसों में चलने वाले स्टाफ का परीक्षण हो। अपराधी रिकॉर्ड और चारित्रिक रूप से दोषी व्यक्तियों को ना रखा जाए। इस स्टाफ के प्रशिक्षण और कानूनी प्रावधानों के संबंध में कार्यशाला आयोजित की जाए। इसके साथ ही बच्चों और पालकों में पॉक्सो एक्ट के प्रावधानों के संबंध में जागरूकता और जानकारी पर केन्द्रित प्रशिक्षण सभी शासकीय और निजी शालाओं में आयोजित किए जाएं। पुलिस भी पालकों और समाज के साथ प्रभावी तरीके से इस विषय पर संवाद करें।

लंपी वायरस पर समीक्षा :

निवास पर आयोजित बैठक में सीएम शिवराज ने पशुओं में लम्पी वायरस की प्रदेश में स्थिति की समीक्षा की। सीएम ने कहा कि, प्रदेश में लम्पी वायरस की स्थिति पर लगातार दृष्टि रखी जाए। इसको फैलने से रोकने के लिए हर स्तर पर आवश्यक प्रयास करें। पड़ोसी राज्यों से पशुओं का प्रवेश रोका जाए। संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक टीकों की कमी नहीं आनी चाहिए। संक्रमण फैलने से रोकने के लिए पशुओं को आयसोलेट करने तथा अन्य उपायों के संबंध में पशुपालकों को जागरूक करें।

बैठक में जानकारी दी गई कि प्रदेश में अब तक 03 हजार 314 पशु लम्पी वायरस से प्रभावित हैं। कुल 02 हजार 742 पशु स्वस्थ हो गए हैं और 38 की मृत्यु हुई। संक्रमण से बचाव के लिए अब तक 01 लाख 49 हजार 530 पशुओं का टीकाकरण किया जा चुका है। प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में टीके उपलब्ध हैं। भिंड, मुरैना और श्योपुर में लम्पी वायरस के प्रकरण सामने आए हैं तथा वहाँ आवश्यक प्रबंध किया जा रहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co