भोपाल में तीन दिवसीय पल्स पोलियो अभियान 31 जनवरी से
भोपाल में तीन दिवसीय पल्स पोलियो अभियान 31 जनवरी सेSocial Media

भोपाल में तीन दिवसीय पल्स पोलियो अभियान 31 जनवरी से

भोपाल जिले में तीन दिवसीय राष्ट्रीय पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान बी.ओ.पी.व्ही. वैक्सीन के साथ 31 जनवरी से शुरू होगा, जिसमें पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों को दो बूंद पोलियो की दवा पिलाई जाएगी।

भोपाल, मध्यप्रदेश। भोपाल जिले में तीन दिवसीय राष्ट्रीय पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान बी.ओ.पी.व्ही. वैक्सीन के साथ 31 जनवरी से शुरू होगा, जिसमें पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों को दो बूंद पोलियो की दवा पिलाई जाएगी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रभाकर तिवारी ने बताया कि जिले के पांच वर्ष तक के बच्चों को दिव्यांगता से बचाने के लिए 31 जनवरी, एक फरवरी और 2 फरवरी को विशेष पल्स पोलियो अभियान चलाया जाएगा। इसके लिए पूरे जिले में पोलियो बूथ स्थापित किये जायेंगे। इन बूथ पर 31 जनवरी को पोलियो की दवा पिलाई जायेगी। इस दिन पल्स पोलियो की दवाई से वंचित रहें बच्चों को दूसरे एवं तीसरे दिन घर-घर जाकर दवा पिलाई जायेगी।

उन्होंने कहा है कि वर्तमान में आस-पड़ोस के देशों में पोलियो वायरस विद्यमान है। पोलियो का खतरा एवं वैक्सीन डिनाईट पोलियो वायरस के द्रष्टिगत रखते जन समुदाय की पोलियो के विरूद्ध प्रतिरोधी शक्ति बनाये रखना अतिआवश्यक है। सन 1988 में पोलियो के सबसे अधिक मामले सामने आए, जब लगभग 350,000 लोग संक्रमित हुए थे। सन 2015 में पूरी दुनिया में पोलियो के केवल 74 मामले सामने आए थे। केवल दो ही देश पाकिस्तान और अफगानिस्तान में अभी भी पोलियो का व्यक्ति से व्यक्ति प्रसार जारी है। लगभग 94 - 95 प्रतिशत पोलियो के मामलों में व्यक्ति में किसी भी तरह के लक्षण नहीं दिखाई देता। ये असिम्प्टोमैटिक मामले कहलाते हैं।

शेष पोलियो के मामलों को तीन प्रकारों में वर्गीकृत किया जा सकता है :

  • अबॉर्टिव पोलियो

  • नन-पैरालिटिक पोलियो

  • पैरालिटिक पोलियो।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज़ एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co