खरगोन : बड़ा आदमी बनने के चक्कर में घर छोड़ भागे तीन नाबालिग
तीनों नाबालिग खरगोन के ग्राम ठीकरी के पास मिले।
राज एक्सप्रेस, संवाददाता

खरगोन : बड़ा आदमी बनने के चक्कर में घर छोड़ भागे तीन नाबालिग

मुंबई जाने के लिए, घर छोड़ना फिल्मों में ही देखा गया है, लेकिन ग्राम विश्वास नगर में तीन नाबालिग छोड़ कर चले गए। तीनों नहीं लौटे तो परिजनों ने थाने में इसकी सूचना दी। खरगोन के ग्राम ठीकरी के पास मिले।

खरगोन, मध्य प्रदेश। बड़ा आदमी बनने के लिए घर छोड़ना फिल्मों में ही देखा गया है। लेकिन ग्राम विश्वास नगर में तीन नाबालिग बड़ा आदमी बनने के लिए घर छोड़ कर चले गए। तीनों शाम तक जब घर नहीं लौटे तो परिजनों ने थाने में इसकी सूचना दी।

तीन नाबालिगों के गुम होने से हड़कंप मच गया। सोशल मीडिया पर अपहरण जैसी चर्चाएं भी चलने लग गई। मामले को गंभीरता से देख चौकी प्रभारी देवेंद्र मिश्रा ने पुरी टीम को नाबालिगों को खोजने में लगा दिया।

बुधवार दोपहर तीन बजे तीन नाबालिग आकाश, शुभम, आदर्श घर से कपड़े से भरा बैग और कुछ पैसे लेकर घर से भाग गए। तीनों की उम्र 12 से 14 वर्ष है। शाम तक आदर्श घर नहीं पहुँचा तो परिजनों ने उसे ढूंढना शुरू किया, आधे घन्टे बाद जानकारी लगी कि शुभम और आकाश भी घर पर नहीं हैं। दोस्तो से लेकर रिश्तेदारों तक ढूंढने पर भी नहीं मिले। ग्राम में तीन नाबालिगों के गुमने की खबर से हड़कंप मच गया। परिजनों ने इसकी जानकारी विश्वास नगर चौकी पर दी।

परिजनों के बताए बयान के आधार पर पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी कैमरे खँगाल डाले, लेकिन तीनों का पता नहीं चला। पुलिस ने संजय जलाशय सहित आसपास के पिकनिक स्पॉट पर तीनों को ढूंढना शुरू किया। ग्राम विश्वास नगर में अपहरण जैसी अफवाहें भी चलने लगी थी कि रात 11 बजे शुभम का फ़ोन उसके पिता को आया उसने पूरी बात पिताजी को बताई। तीनों खरगोन के ग्राम ठीकरी पर एक पेट्रोल पंप पर रात में सोने के लिए रुके थे। पुलिस ने पैट्रोल पम्प संचालक को तीनों को वहीं रखने के लिए बोला।

पुलिस की एक टीम परिजनों के साथ खरगोन पहुँच गई। तीनों को देख पुलिस से लेकर परिजनों ने राहत की सांस ली। चौकी प्रभारी देवेंद्र मिश्रा ने बताया कि तीनों को बड़ा आदमी बनना था। इसलिए वो मुंबई जा रहे थे। वो सोने के लिए एक पेट्रोल पंप पर रुके थे। परिजनों ने पुलिस का आभार व्यक्त किया।

बच्चों को अपने पास रखे :

इस बारे में डॉक्टर हेमंत पटेल ने बताया कि बच्चों को मोबाइल और टीवी से दूर रखें। बच्चे छोटी उम्र में सीरियल में देखी हुई चीज रियल लाइफ में करने की कोशिश करते हैं। माता-पिता बच्चों को समझाएं और उनके साथ समय बिताए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co