Raj Express
www.rajexpress.co
कई वर्षो से फरार बदमाश गिरफ्तार
कई वर्षो से फरार बदमाश गिरफ्तार|Abhay Mor
मध्य प्रदेश

टीकमगढ़: हत्या के आरोप में कई वर्षों से फरार बदमाश गिरफ्तार

टीकमगढ़, मध्यप्रदेश : पिछले 8 वर्षों से फरार बदमाश गिरफ्तार, आरोपी के विरुद्ध ओरछा में 12 से अधिक मामलों में हत्या, लूट , हत्या के प्रयास, आर्म्स एक्ट के तहत आपराधिक।

Abhay Mor

राज एक्सप्रेस। टीकमगढ़ पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया ने बताया कि, लगातार ऐसे फरारी बदमाशों पर कार्रवाई की जा रही है, जो कई वर्षों से फरार चल रहे हैं और अपनी फरारी के दौरान अपराध करते हैं और फिर फरार हो जाते हैं ऐसे भी प्रकरण ज्ञान में आए हैं कि, ऐसे अपराधी अपनी पारिवारिक आपराधिक पृष्ठभूमि का फायदा लेकर अपने परिवार के सदस्यों को आगे बढ़ाकर क्षेत्र में अपना वर्चस्व बनाने की कोशिश करते हैं। सूत्रों से यह भी ज्ञात हुआ है कि अपने वर्चस्व की होड़ में रहने वाले लोग इन्हीं फरार आरोपियों के संरक्षण में इनका नाम लेकर आमजन को दबाने का प्रयास कर गलत फायदा उठाने का कार्य कर रहे हैं।

पिछले दिनों सतत् रूप से इस प्रकार के फरारी बदमाश जिन पर इनाम घोषित है और वे काफी वर्षों से फरार चल रहे हैं और फरारी के दौरान ही अपराध कर जनता में भय का वातावरण निर्मित कर रहे हैं, आपराधिक तत्वों को आश्रय दे रहे हैं, इस संबंध में लक्ष्य बनाकर पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया ने एसडीओपी जतारा प्रदीप सिंह राणावत के साथ अपराधियों के विरुद्ध ठोस जानकारी एकत्रित कर अधिकारियों की टीम बना रहे हैं, ताकि बदमाशों की तत्काल गिरफ्तारी हो सके।

विगत 8 वर्षो से फरार बदमाश पकड़ा गया

इसी क्रम में पुलिस अधीक्षक के द्वारा उपनिरीक्षक नीतू सिंह धाकड़ सिटी कोतवाली और उनकी टीम को उक्त आशय की कार्यवाही के लिए कुछ बदमाशों के संबंध में जानकारी दी थी। उपनिरीक्षक नीतू सिंह धाकड़ के द्वारा तत्काल अपनी टीम एवं थाना प्रभारी जतारा उप निरीक्षक आनंद सिंह परिहार और उनकी टीम की सहायता लेकर एक प्रभावी कार्यवाही की गई। उनके द्वारा विगत 8 वर्षो से फरार बदमाश मुकेश पिता बैजनाथ यादव उम्र 42 साल निवासी जसवंतपुरा थाना ओरछा जिला निवाड़ी को जिला बांदा रेलवे स्टेशन पर पकड़ा गया।

ज्ञातव्य है कि आरोपी सन् 1999 से ही अपराध की दुनिया में सक्रिय हो गया था सन् 2011 में आरोपी नगर पालिका ओरछा में उपाध्यक्ष के पद पर रह चुका है सन् 2011 में बदमाश मुकेश यादव ओरछा कस्बा निवासी नव दुर्गा विसर्जन के समय छोटे से विवाद पर हत्या कर दी थी, आरोपी पर थाना निवाड़ी में अपराध क्रमांक 142/11 धारा 302, 307, 147, 148, 149 के तहत 25, 27 आर्म्स एक्ट के अपराध पंजीबद्ध हैं। उसके बाद से वह लगातार उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश के चिरगांव, बांदा, दतिया, निवाड़ी जिलों में फरारी काटता रहा अपनी फरारी के दौरान ही इसने पूर्व सरपंच मुकेश यादव जो अपराध क्रमांक 142/11 का फरियादी था, उसे राजीनामा ना करने पर से खत्म कर दिया था और फिर फरार हो गया था

आरोपी के खिलाफ 12 से अधिक हत्या के मामले दर्ज

इसके अलावा उक्त आरोपी सन् 2000 में जेल में कैद था जब इसे पेशी हेतु माननीय न्यायालय ले जाया जा रहा था तो पुलिस पर अपने साथियों से हमला कर फरार हो गया था, जिस पर थाना पृथ्वीपुर में अपराध क्रमांक 120/ 2000 धारा 227, 34, 120 बी 409, 323, 325 तहत 25, 27 आर्म्स एक्ट में पंजीबद्ध हुआ था। सिटी कोतवाली टीकमगढ़ में भी आरोपी मुकेश यादव का धारा 364ए 365, 325, 120 बी के अंतर्गत स्थाई वारंट में वांछित है आरोपी के विरुद्ध थाना पृथ्वीपुर, भरेट जिला दतिया, निवाड़ी, ओरछा में 12 से अधिक मामलों में हत्या, लूट, प्रयास हत्या आर्म्स एक्ट के तहत आपराधिक रिकॉर्ड है ।

एक मर्डर करने के उपरांत राजीनामा न करने पर फरियादी का मर्डर कर देना साबित करता है कि आरोपी मुकेश इतना दुसाहसी हो गया था कि कोई भी उसके खिलाफ जाएगा तो उसे वह खत्म कर देगा। फरारी मुकेश यादव ने टीकमगढ़ जिले के निवाड़ी, पृथ्वीपुर, ओरछा के आसपास क्षेत्र एवं उत्तर प्रदेश के चिरगांव, बांदा क्षेत्र में एक दहशत का माहौल बना रखा था और लोगों को डरा धमका कर उनसे रुपयों की मांग करना रुपये ना मिलने पर से उनके साथ मारपीट करना उसके लिए एक आम बात हो गई थी।

यह भी पता चला है कि इसकी पत्नी एवं बच्चे चिरगांव में रहते हैं जहां यह आता जाता रहता था इसकी एक प्रेमिका जिसे यह बांदा जिला में रखे हुए था और उसे पार्लर का धंधा खुलवाएं था जिसके लिए वह लोगों से मासिक वसूली करता था और उन रुपयों को अपनी प्रेमिका को दे देता था । मुकेश यादव के इस बढ़ते आपराधिक तंत्र को खत्म करना पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती बनता जा रहा था, जिसको खत्म करने में टीकमगढ़ पुलिस को बड़ी सफलता प्राप्त हुई जब 25,000 रूपये के इस इनामी अंतरराज्यीय दुर्दांत आरोपी को जिला बांदा उत्तर प्रदेश के रेलवे स्टेशन से पकड़ा गया ।

पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया द्वारा इस प्रशंसनीय कार्य के लिए उप निरीक्षक नीतू सिंह धाकड़, थाना प्रभारी उपनिरीक्षक आनंद सिंह परिहार, आरक्षक 867 सतीश शर्मा, आरक्षक 200 फूलचंद तिवारी, आरक्षक 993 कपिल शर्मा, आरक्षक 793 मुकेश, आरक्षक 825 प्रशांत, आरक्षक 50 कैलाश विश्वकर्मा, आरक्षक 832 राहुल, आरक्षक भूपेंद्र, थाना जतारा आरक्षक 371 रहमान खान, साइबर सेल टीकमगढ़ को आरोपी पर घोषित 25,000 का पारितोषिक देने की घोषणा की है।