Raj Express
www.rajexpress.co
मैरिज हाउस बने मुसीबत
मैरिज हाउस बने मुसीबत|Sanjay Awasthi
मध्य प्रदेश

छतरपुर: बिना पार्किंग के 'मैरिज हाउस' बने मुसीबत

छतरपुर, मध्यप्रदेश : शहर के राष्ट्रीय राजमार्गों पर बढ़ते ट्रॉफिक, अतिक्रमण एवं बिजली के खंभों के कारण पहले ही चलना मुश्किल है और अब इस मुसीबत में वैवाहिक सीजन की समस्याएं भी जुड़ गई हैं।

Sanjay Awasthi

हाइलाइट्स :

  • वैवाहिक सीजन के पहले ही दिन शहर में मुसीबत

  • हाईवे पर नाचती बारातों से दो घंटे जाम रहा ट्रॉफिक

  • मैरिज हाउस के बाहर खड़े वाहन भी शहर को फंसाए रहे

  • हाईवे पर बारातों के जाम के खिलाफ भी नहीं होती कार्यवाही

राज एक्सप्रेस। शहर के राष्ट्रीय राजमार्गों पर बढ़ते ट्रॉफिक, अतिक्रमण एवं बिजली के खंभों के कारण पहले ही चलना मुश्किल है और अब इस मुसीबत में वैवाहिक सीजन की समस्याएं भी जुड़ गई हैं। इसी सप्ताह से शुरू हुई सहालग के पहले दिन मंगलवार की रात जब शहर के हर मैरिज हाउस में विवाह समारोह आयोजित हो रहे थे तब शहर की सड़कें वाहनों के कारण पूरी तरह जाम हो चुकी थीं। सड़कों पर नाचते बाराती इस हाईवे जाम के लिए सबसे बड़े जिम्मेदार रहे तो वहीं बिना पार्किंग के गैर कानूनी तरीके से चल रहे मैरिज हाउस के बाहर खड़े वाहन भी दो घंटे तक शहर को फंसाए रहे।

हर सीजन में होती है दिक्कत, फिर भी जिम्मेदार चुप

ये पहला मौका नहीं है जब वैवाहिक सीजन प्रारंभ होने के साथ ही शाम के वक्त शहर की सड़कें चोक हो जाती हैं। हर वैवाहिक सीजन में शहर से गुजरे दोनों राष्ट्रीय राजमार्ग झांसी-रीवा एवं सागर-कानपुर पूरी तरह फंस जाते हैं। बीती रात भी ऐसा ही हुआ। रात करीब 9 बजे नौगांव रोड बस स्टेण्ड से लेकर पूरे जवाहर रोड, आकाशवाणी तिराहे तक वाहन फंसे हुये थे जिस वक्त मेहमान शादियों की तरफ जाते हैं उसी समय बारातें सड़क पर उतर आती हैं और इसी समय दोनों हाईवे से निकलने वाले भारी वाहन भी छोड़ दिए जाते हैं जिस कारण जाम की स्थिति बन जाती है। यह समस्या हर सीजन में आती है। मीडिया इसको लेकर हर बार जिला प्रशासन को चेताती है लेकिन फिर भी न तो नगर पालिका इस पर ध्यान देती है और न ही जिला प्रशासन।

हाईवे जाम करने वाले बारातियों पर कब चलेगा डण्डा?

आमतौर पर हाईवे पर किसी भी तरह का अवरोध पैदा करने वालों के खिलाफ पुलिस द्वारा मुकदमा कायम किया जाता है लेकिन बारातियों के द्वारा हाईवे पर शराब के नशे में घंटों तक नाचने-गाने के दौरान हाईवे को जाम कर दिया जाता है इसके खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं होती। यातायात पुलिस ऐसे बारातियों के खिलाफ कार्यवाही कर एक कड़ा संदेश दे सकती है जिससे कि इन बारातों के पीछे फंसे सैकड़ों मुसाफिरों को राहत मिल सके।

क्यों चल रहे बिना पार्किंग के मैरिज हाउस?

छतरपुर में मौजूद 50 से अधिक विवाह घरों में से 30 मैरिज हाउस बिना पार्किंग के धड़ल्ले से चल रहे हैं। खासतौर पर जवाहर रोड पर मौजूद इन विवाहघरों के कारण अक्सर जाम की स्थिति निर्मित होती है तो वहीं सागर रोड और पन्ना रोड पर मौजूद विवाह घर भी मुसीबत की वजह बने हुए हैं। शादियों से लाखों रूपए कूटने वाले इन विवाह घरों के खिलाफ जिला प्रशासन कोई कार्यवाही नहीं करता। जवाहर रोड पर आशीर्वाद मण्डपम्, सहम्बी मण्डपम् कल्याण मण्डपम्, नौगांव रोड पर रीजेन्सी, पन्ना रोड पर होटल लॉ कैपिटॉल, सागर रोड पर विराज गार्डन मुसीबत की वजह बने हुए हैं।

सीएमओ से सीधी बात

  1. प्रश्न- बिना पार्किंग के मैरिज हाउस का संचालन क्यों हो रहा है?

    उत्तर-जिन विवाह घरों के पास 40 फीसदी हिस्सा पार्किंग के लिए नहीं छोड़ा गया है वे सभी अवैधानिक हैं। ऐसे सभी मैरिज संचालकों को आज ही नोटिस जारी कर दिए गए हैं।

  2. प्रश्न- ऐसे मैरिज हाउसों के खिलाफ कब तक कार्यवाही की जाएगी?

    उत्तर- अवैध विवाह घरों के खिलाफ कार्यवाही के लिए एसडीएम एवं तहसीलदार को भी सूचित किया गया है। समुचित जवाब न मिलने पर पुलिस के साथ जाकर अवैध विवाह घरों की तालाबंदी की जाएगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर ।