इंदौर: शुरू हुआ ट्रैफिक पुलिस का चैकिंग अभियान
इंदौर: शुरू हुआ ट्रैफिक पुलिस का चैकिंग अभियान|Social Media
मध्य प्रदेश

इंदौर: शुरू हुआ ट्रैफिक पुलिस का चैकिंग अभियान

इंदौर, मध्य प्रदेश: ट्रैफिक पुलिस को वसूली के आरोप से बचाने के लिए एएसपी महेन्द्र जैन ने मुख्यालय से बीस बॉडी वार्न कैमरे बुलवाए हैं। दस पूर्व और दस पश्चिम की टीम को दिए गए हैं।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

इंदौर, मध्य प्रदेश। लॉकडाऊन हटने के 15 दिन बाद ट्रैफिक पुलिस अपने रंग में आ चुकी है। मंगलवार को शहर के विभिन्न चौराहों पर कई ट्रैफिक टीम वाहन चैकिंग में जुट गई। कई लोगों के चालान भी बनाए गए। चेकिंग में लोग मोबाइल पर बात कराने की कोशिश करते हैं। नहीं करें, तो पैसे मांगने का आरोप लगा देते हो, इसलिए टीम बाडी वार्न कैमरा लगाकर ही जांच कर रही है।

ट्रैफिक पुलिस को वसूली के आरोप से बचाने के लिए एएसपी महेन्द्र जैन ने मुख्यालय से बीस बॉडी वार्न कैमरे बुलवाए हैं। दस पूर्व और दस पश्चिम की टीम को दिए गए हैं। शर्ट पर बटन के सहारे इस कैमरे को लगाने के बाद ही कार्रवाई शुरू होती है। इसमें बारह घंटे लगातर रिकार्डिंग की जा सकती है, जिसमें छेड़छाड़ भी नहीं की जा सकती, न ही कोई दूसरा रिकार्डिंग को निकाल सकता है। हफ्तेभर से इसी कैमरे के साथ अमला चैकिंग कर रहा है। इन्हें कहा गया है कि झगड़े की नौबत आए, तो सबूत के तौर पर रिकार्डिंग रहेगी। पहले एक सिपाही मोबाइल या कैमरा लेकर तैनात किया जाता था। अधिकारियों के अनुसार कैमरा आने के बाद जैसे ही गाड़ी मालिक को अहसास होता है कि रिकार्डिंग हो रही है, वह ठीक से बात करता है और दबाव बनाने की बजाय राहत देने की बात करता है।

वाहन चालकों में रोष :

पुलिस की सख्ती से दो-चार हुए वाहन चालकों ने रोष भी जताया कि अभी लाकडाऊन से बाहर आए हैं। कई लोगों के लायसेंस और रजिस्ट्रेशन की मियाद भी निकल गई है। आरटीओ में पूरी तरह काम शुरू नहीं हो पाया है। ऐसे में पुलिस की चालानी कार्रवाई समझ से परे है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co