भोपाल : परिवहन विभाग ने लक्ष्य से 105 करोड़ अधिक का किया राजस्व संग्रहण
परिवहन विभाग ने लक्ष्य से 105 करोड़ अधिक का किया राजस्व संग्रहणSocial Media

भोपाल : परिवहन विभाग ने लक्ष्य से 105 करोड़ अधिक का किया राजस्व संग्रहण

भोपाल, मध्यप्रदेश : परिवहन विभाग द्वारा वित्तीय वर्ष 2020-21 में राजस्व प्राप्ति के लिए निर्धारित लक्ष्य 2,640 करोड़ रुपए के विरुद्ध 2,745 करोड़ रुपए की राशि राजस्व के रूप में अर्जित की गई है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। परिवहन विभाग द्वारा वित्तीय वर्ष 2020-21 में राजस्व प्राप्ति के लिए निर्धारित लक्ष्य 2,640 करोड़ रुपए के विरुद्ध 2,745 करोड़ रुपए की राशि राजस्व के रूप में अर्जित की गई, जो निर्धारित लक्ष्य से 105 करोड़ रुपए अधिक है। परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने बताया कि विभाग ने निर्धारित लक्ष्य 2,640 करोड़ रुपए 23 मार्च 2021 को ही प्राप्त कर लिया था।

परिवहन मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि यह उपलब्धि कोरोना संक्रमण काल की वित्तीय परिस्थितियों को देखते हुए रिकार्ड राजस्व का संग्रहण मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कुशल नेतृत्व को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि "कोरोनो काल में आम जनता की परेशानियों को हल करने के साथ हुए राजस्व लक्ष्य से अधिक की प्राप्ति नि:संदेह परिवहन विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों की कर्मठता का ही परिणाम है, इसके लिए वे बधाई के पात्र हैं।"

योजना बनाकर की सामूहिक चेकिंग :

परिवहन आयुक्त मुकेश जैन ने बताया कि राजस्व संग्रहण के लिए पथ भ्रष्ट वाहनों पर छूट एवं एक मुश्त भुगतान की सरल समाधान योजना की मॉनीटरिंग प्रति सप्ताह की जाती रही। सभी जिलों को माह के प्रारंभ में ही बकाया कर वाले वाहनों की सूची उपलब्ध कराकर उनसे राजस्व प्राप्ति के लिए निर्देशित किया गया। मंत्री श्री राजपूत के निर्देशानुसार एक योजना बनाकर क्षेत्रीय और जिला परिवहन अधिकारियों, चेक पोस्ट प्रभारियों एवं सुरक्षा स्कवॉड के मध्य सामूहिक चेकिंग का कार्य किया गया।

बकाया टैक्स की वसूली की :

अपर परिवहन आयुक्त अरविंद सक्सेना द्वारा प्रवर्तन अमले द्वारा सघन चेकिंग कर बकाया कर से संबंधित चिन्हित वाहनों से वसूली की कार्यवाही की गई। विशेषकर उद्योगों में संबद्ध ऐसे वाहन जिन पर कर की राशि बकाया थी, को समय-समय पर चेक कर उनसे वसूली की गई। लॉकडाउन अवधि के बाद पूरे प्रदेश में सरेंडर बसों का नियमित संचालन प्रारंभ किया गया। इसके साथ ही अन्य राज्यों को जारी किए जाने वाले परमिटों के नवीनीकरण द्वारा अंतरराज्यीय बस सेवाओं को सामान्य एवं नियमित करने से राजस्व आय में वृद्धि के प्रयास तेज किए गए। श्री सक्सेना ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 के प्रथम पांच माह 15 अगस्त तक भारी मालवाहक वाहनों का आवागमन 30 से 40 प्रतिशत रहने से त्रैमासिक कर में भारी गिरावट हुई है। संपूर्ण वित्तीय वर्ष में विभिन्न परिवहन दस्तावेजों का नवीनीकरण माफ होने से राजस्व प्राप्ति में कमी आई थी। इसके बावजूद भी विभाग द्वारा 105 करोड़ रुपए से अधिक राजस्व प्राप्ति उल्लेखनीय है।

इन्होंने लक्ष्य से अधिक राजस्व प्राप्त किया :

अपर परिवहन आयुक्त ने बताया कि इस वर्ष प्रदेश के रतलाम, शिवपुरी, मंदसौर, भोपाल, उज्जैन, गुना, ग्वालियर, सीधी, बैतूल, अशोकनगर, जबलपुर, कटनी, दमोह, शहडोल, छिंदवाड़ा, मंडला, इंदौर और सिंगरौली परिवहन कार्यालयों द्वारा आवंटित राजस्व लक्ष्य से अधिक राजस्व प्राप्त किया गया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co