डॉयल 100 के उत्कृष्ट संचालन हेतु दो दिवसीय प्रशिक्षण का हुआ समापन
डॉयल 100 के उत्कृष्ट संचालन हेतु दो दिवसीय प्रशिक्षण का हुआ समापनSocial Media

डॉयल 100 के उत्कृष्ट संचालन हेतु दो दिवसीय प्रशिक्षण का हुआ समापन

FRV के उत्कृष्ट संचालन हेतु वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में भोपाल में संचालित FRV में कार्यरत पुलिस स्टॉफ का पुलिस कंट्रोल रूम में दो दिवसीय प्रशिक्षण का शुभारंभ कल किया गया।

भोपाल, मध्य प्रदेश। FRV के उत्कृष्ट संचालन हेतु वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में भोपाल ज़िले में संचालित frv (first response vehicle) में कार्यरत पुलिस स्टॉफ का पुलिस कंट्रोल रूम में दो दिवसीय प्रशिक्षण का शुभारंभ कल प्रातः पुलिस अधीक्षक मुख्यालय श्री रामजी श्रीवास्तव द्वारा किया गया था। श्री श्रीवास्तव द्वारा शुभारंभ उपरांत frv स्टॉफ को संवेदनशीलता से करने एवं संयम व्यवहार बरतते हुए पीड़ित की तत्काल उचित मदद करने हेतु हेतु दिशा निर्देश दिए गए थे। इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (रेडियो) श्री राजेश कुमार सिंह द्वारा भी सेमिनार को सम्बोधित किया गया।

उक्त सेमिनार के समापन के अवसर पर पुलिस अधीक्षक दक्षिण श्री साई कृष्णा थोटा द्वारा प्रशिक्षणार्थियों को सम्बोधित कर संवेदनशील क्षेत्रों व भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में नियमित पेट्रोलिंग करने व इवेंट के दौरान आमजन से सभ्य व्यवहार करते हुए उचित कार्यवाही करने हेतु दिशा निर्देश दिए गए। साथ ही विगत दिनों में FRV स्टॉफ द्वारा विभिन्न इवेंट पर त्वरित कार्यवाही करते हुए पीड़ित के जीवन व जानमाल की रक्षा करने पर FRV स्टॉफ की सराहना करते हुए बधाई व शुभकामनाएं दीं। उपरांत प्रशिक्षणार्थियों को सर्टिफिकेट वितरित किये गए।

दो दिवसीय सेमिनार में प्रशिक्षकों द्वारा डॉयल 100 से सम्बंधित नई एवं पुरानी mdt, netviewer की कार्यप्रणाली, frv वाहनों का रखरखाव, रिस्पांस टाइम, sop के बारे में विस्तृत रूप से बताया गया एवं स्टॉफ को साफ्ट स्किल एंड कम्युनिकेशन के बारे में विस्तृत व्याख्यान दिया गया।

प्रशिक्षण के दौरान इंस्पेक्टर रेडियो(प्रभारी कंट्रोल रूम) श्री मनोज बैस, BVG से श्री नवरत्न सिंह, उप निरीक्षक अनिता गौड़, उप निरीक्षक सुरभि बाला, उप निरीक्षक लक्ष्मण सिंह यादव एवं लगभग 130 पुलिसकर्मी मौजूद रहे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.