सेवढ़ा जेल में जन्म दिन मनाने वालों के पास खड़े थे दो प्रहरी, दोनों सस्पेंड
सेवढ़ा जेल में जन्म दिन मनाने वालों के पास खड़े थे दो प्रहरी, दोनों सस्पेंडसांकेतिक चित्र

सेवढ़ा जेल में जन्म दिन मनाने वालों के पास खड़े थे दो प्रहरी, दोनों सस्पेंड

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : दो दिन बाद सामने आया दूसरा ऑडियो। सेन्ट्रल जेल पर पदस्थ एक अन्य प्रहरी का ऑडियो हुआ था वायरल, उसे भी किया निलंबित।

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। सेवढ़ा जेल में कैदी के जन्म दिन मनाने की पार्टी के मामले में सोमवार को दो अन्य प्रहरियों को सस्पेंड किया गया है। दोनों प्रहरियों को जन्म दिन पार्टी का दूसरा वीडियो वायरल होने के बाद सस्पेंड किया गया है। जबकि सेन्ट्रल जेल के एक प्रहरी को भी सस्पेंड किया गया है। जिसका कुछ ही दिन पूर्व ऑडियो वायरल हुआ था। जिसमें वह किसी अन्य प्रहरी को फंसाने के लिए जाल बुन रहा था।

ज्ञात हो कि सेन्ट्रल जेल अधीक्षक मनोज साहू ने रविवार को सेवढ़ा उप जेल पर पदस्थ प्रहरी पुरुषोत्तम पाण्डेय, अम्बरीश भदौरिया व परमवीर बघेल को सस्पेंड किया था। इन तीनों प्रहरियों की उप जेल सेवढ़ा पर ड्यूटी थी। इसी दौरान कैदी साहिल गुर्जर की जन्म दिन पार्टी जेल गेट पर मनाई गई थी। इस दौरान कैदी जेल गेट के अन्दर थे, जबकि उसके साथ गेट के बाहर डांस कर रहे थे। इसी मामले को लेकर तीनों प्रहरी और डिप्टी जेल हेमंत नागर को सस्पेंड किया गया था।

वीडियो में सामने दिखाई दे रहे हैं दोनों प्रहरी :

घटना के दो दिना बाद एक अन्य वीडियो वायरल हुआ है। इस वीडियों में प्रहरी रामबाबू व भानू सिंह तोमर उस जगह पर खड़े थे। जहां पर साहिल गुर्जर व उसके साथ डांस कर रहे थे और पार्टी मना रहे थे। दोनों प्रहरी दूसरी वीडियो में खड़े दिखाई दे रहे हैं। यह वीडियो जैसे ही सामने आया, तो जेल अधीक्षक ने मुख्यालय के निर्देश पर प्रहरी रामबाबू व भानू सिंह तोमर को सस्पेंड कर दिया।

रोहित बना रहा था दूसरे प्रहरी को फंसाने का षडयंत्र :

जेल अधीक्षक साहू ने रोहित शर्मा नाम के एक प्रहरी को भी सस्पेंड किया है। प्रहरी रोहित शर्मा सेन्ट्रल जेल पर पदस्थ है। उसकी सेन्ट्रल जेल के अन्दर ड्यूटी कुछ ही दिन पूर्व लगाई गई थी। इसके कुछ समय बाद एक ऑडियो वायरल हुआ। जिसमें प्रहरी रोहित शर्मा द्वारा किसी अन्य प्रहरी को फंसाने के लिए षडयंत्र रचना बताया गया है। इसी वायरल ऑडियो के चलते रोहित को सस्पेंड किया गया है।

जब सिपाही पर कार्रवाई तो जेलर पर क्यों नहीं ?

सेन्ट्रल जेल पर पदस्थ प्रहरी रोहित शर्मा का जो ऑडियो वायरल हुआ है। उसमें प्रहरी द्वारा एक जेलर का भी नाम लिया गया है। बताया गया है कि ऑडियो में जेलर टिकारिया का नाम प्रहरी द्वारा लिया जा रहा है। वायरल ऑडियों को ध्यान से सूनने पर पता चलता है कि प्रहरी और जेलर के बीच अच्छी सांठ- गांठ है। ऑडियो में प्रहरी जेलर को भी अपने पक्ष में होने के संकेत दे रहा है। अब सवाल यह उठता है जब वायरल ऑडिया के आधार पर सिपाही के खिलाफ कार्रवाई की गई है। फिर जेलर के खिलाफ कोई कार्रवाई क्यों नहीं की गई है ?

इनका कहना :

मैंने इस संबंध में जेल टिकारिया से पूछताछ की थी। ऑडियो में जेलर की आवाज सुनाई नहीं दी है। इसलिए फिलहाल जेलर के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई है। जहां तक बात जेलर का षडयंत्र में शामिल होने की है, तो मामले की जांच की जा रही है। यदि जेलर दोषी पाए जाएंगे तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई के लिए मुख्यालय को प्रस्ताव भेजा जाएगा।

मनोज कुमार साहू, जेल अधीक्षक

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co