Raj Express
www.rajexpress.co
छतरपुर विधानसभा में दो लघु सिंचाई परियोजनाओं को मिली मंजूरी
छतरपुर विधानसभा में दो लघु सिंचाई परियोजनाओं को मिली मंजूरी|Social Media
मध्य प्रदेश

छतरपुर विधानसभा में दो लघु सिंचाई परियोजनाओं को मिली मंजूरी

छतरपुर, मध्य प्रदेश: छतरपुर को आगे बढ़ाने और यहां के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए छतरपुर विधानसभा के कांग्रेस विधायक आलोक चतुर्वेदी 'पज्जन भैया' द्वारा किए जा रहे प्रयास अब रंग ला रहे हैं।

Pankaj Yadav

राज एक्सप्रेस। छतरपुर को आगे बढ़ाने और यहां के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए छतरपुर विधानसभा के कांग्रेस विधायक आलोक चतुर्वेदी पज्जन भैया द्वारा किए जा रहे प्रयास अब रंग ला रहे हैं। श्री चतुर्वेदी के प्रयासों से क्षेत्र के सैकड़ों किसानों को सिंचाई की नई सौगात मिलने जा रही है।

मध्य प्रदेश के सिंचाई मंत्रालय ने छतरपुर विधानसभा में दो लघु सिंचाई परियोजनाओं को मंजूरी दी है। इन परियोजनाओं के अंतर्गत धसान नदी पर ग्राम कूंड़ में पांच करोड़ की लागत से एक वियर का निर्माण किया जाएगा। इस छोटे बांध की मदद से ग्राम कूंड़ एवं टपरियन की लगभग 295 हेक्टेयर भूमि सिंचित हो सकेगी। धसान नदी में बह जाने वाले पानी को रोक कर इन दोनों गांव के लगभग 300 किसान परिवारों को सिंचाई का पानी उपलब्ध कराए जाने की योजना है।

सिंचाई मंत्रालय ने इस कार्य को साध्यता देते हुए, विभाग से इसका डीपीआर मांगा है। सिंचाई विभाग ने मुख्य कार्यपालन यंत्री केके मिश्रा ने बताया कि, हम 15 दिन के भीतर इसका डीपीआर विभाग को सौप देंगे। उन्होंने बताया कि, इस परियोजना पर लगभग 5 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे। इसी तरह छतरपुर विधानसभा के ग्राम नैगुवां में भी लगभग 32 करोड़ की लागत से यहां के स्थानीय नाला पर एक बांध बनाने एवं नहर के माध्यम से किसानों को पानी उपलब्ध कराने की एक अन्य लघु सिंचाई परियोजना को शासन ने तकनीकि स्वीकृति प्रदान कर दी है।

इस योजना के माध्यम से ग्राम नैगुवां और दालौन के किसानों की लगभग 1000 हेक्टेयर भूमि को सिंचाई का पानी मिल सकेगा। इस योजना के माध्यम से क्षेत्र के लगभग 1500 किसान लाभान्वित होंगे। सिंचाई विभाग के कार्यपालन यंत्री के.के मिश्रा ने बताया कि, जल्द ही इस कार्य के लिए टेंडर आमंत्रित किये जायेंगे।

क्षेत्र की समृद्धि ही मेरा संकल्प है :

उक्त दोनों सिंचाई परियोजनाओं को मंजूरी मिलने के बाद विधायक आलोक चतुर्वेदी ने प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा, यह कदम क्षेत्र के किसानों के लिए वरदान साबित होगा। उन्होंने कहा कि, छतरपुर विधानसभा में सिंचाई के लिए किसानों को पानी उपलब्ध कराना एक बड़ी चुनोती है। क्षेत्र में बड़ी नदियों का अभाव होने के कारण हम तालाबों और सीमित नदी-नालों पर ही संसाधनों की खोज कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि, मेरा लक्ष्य है कि, मैं अपने कार्यकाल में क्षेत्र के एक एक गाँव तक पीने और सिंचाई के पानी का प्रबंध कर सकूं। कुछ लोग अपने कार्यकाल में भ्रष्टाचार को ही अपना ईमान बनाये रहे। उन लोगों ने स्वयं भले ही कुछ न किया हो, लेकिन आज जब उनके भ्रष्टाचार पर सवाल उठते हैं तो वे बौखला उठते हैं।

श्री चतुर्वेदी ने कहा कि, ऐसे लोगों को वर्तमान में किये जा रहे प्रयास नजऱ नही आते वे आज भी अपने पुराने अव्यवस्थित कामों का घण्टा बजाते घूम रहे है। उन्होंने क्षेत्र की जनता को भरोसा दिलाया की हम ऐसे लोगों की आलोचनाओं का जवाब अपने विकास कार्यों से देंगे। उन्होंने कहा कि, हर क्षेत्र में बुनियादी जरूरतों को पूरा कर समृद्धि लाना ही उनका संकल्प है।