उज्जैन : बिल पास कराने के लिए दबाव बना रहा था ठेकेदार

उज्जैन, मध्य प्रदेश : जैन समाज ने शुभम खंडेलवाल कांड की निष्पक्ष जांच की मांग की, एएसपी को दिया ज्ञापन।
उज्जैन : बिल पास कराने के लिए दबाव बना रहा था ठेकेदार
बिल पास कराने के लिए दबाव बना रहा था ठेकेदारRaj Express

उज्जैन, मध्य प्रदेश। नगर निगम ठेकेदार शुभम खंडेलवाल द्वारा आत्महत्या के मामले में आरोपी बनाये गये इंजीनियर नरेश जैन के समर्थन में जैन समाजजन शनिवार को पुलिस कंट्रोल रूम पहुंचे। समाजजनों ने एसपी के नाम दिये ज्ञापन में कहा कि पुलिस नरेश जैन के भाईयों के परिजनों को परेशान करना बंद करें। सभी भाई अलग-अलग रहते हैं, जबकि पुलिस बार-बार परिजनों को थाने बुलाकर बेवजह बैठा रही है।

धमकी दी जा रही है कि परिवार की महिलाओं को भी थाने बुलाएंगे। इसके साथ ही समाजजनों ने कहा कि शुभम खंडेलवाल खुद 9 लाख के काम का 19 लाख रूपये का बिल बनाने के लिए नरेश जैन पर दबाव डाल रहा था।

श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ के तत्वावधान में पुलिस अधीक्षक के नाम एएसपी रूपेश द्विवेदी को सौंपे ज्ञापन में कहा कि समाज की जानकारी में जो तथ्य आया है उसके अनुसार ठेकेदार शुभम खंडेलवाल ने उज्जैन नगर पालिक निगम से निर्माण कार्य के लिए 12 लाख रूपये का कोई ठेका स्वीकृत कराया था। इसमें उसने करीब 9 लाख 72 हजार रूपये का कार्य पूर्ण किया था। शुभम ने नरेश जैन पर यह दबाव बनाया कि वह 19 लाख 48 हजार 64 रूपये का बिल स्वीकार करवा दें। नरेश जैन मौके पर हुए काम के अनुसार 9 लाख 82 हजार 560 रूपये का कार्य बताते हुए नगर पालिका में प्रस्तुत कर चुके थे। शुभम खंडेलवाल ने अनुचित लाभ उठाने के उद्देश्य से नरेश जैन को डरा-धमकाने के लिए 7 सितंबर की रात्रि को नरेश जैन के घर पर जाकर तोड़फोड़ की थी। इस घटना की नरेश जैन ने तत्काल निगमायुक्त को जानकारी दी थी और पुलिस खाराकुआ में शिकायत दर्ज की थी।

गंभीरता से हो मामले की जांच :

समाजजनों ने कहा कि यह जानकारी में सामने आया है कि शुभम खंडेलवाल की मृत्यु कार एक्सीडेंट में लगी चोट के कारण हुई है। इन तथ्यों को आधार बताते हुए जैन समाजजनों ने नरेश जैन को निर्दोष बताते हुए उसके खिलाफ उपरोक्त प्रकरण की जांच सीनियर पुलिस अधिकारी से गंभीरता पूर्वक कराकर दोषी के खिलाफ उचित कार्यवाही की मांग की है।

पुलिस दिनभर थाने में बैठाकर प्रताड़ित कर रही है :

संघ अध्यक्ष मदनलाल दुग्गड़, चंद्रप्रकाश जैन, महेन्द्रकुमार जैन (सेठिया) ने कहा कि इंजीनियर नरेश जैन के भाई सुरेशचंद्र जैन निवासी नानाखेड़ा तथा दिनेशचंद्र जैन, राजेश जैन डाबरीपीठा में निवास करते हैं। सभी भाई वर्षों से अपने अपने परिवार सहित अलग-अलग निवास करते हैं। इनका व्यवसाय भी अलग है। नरेश जैन के खिलाफ ठेकेदार शुभम खंडेलवाल द्वारा आत्महत्या करने के मामले में चिंतामण थाने में प्रकरण दर्ज होने के बाद से पुलिस द्वारा नरेश जैन के भाईयों, भाईयों के लड़कों, परिवार को बार-बार थाने बुलाकर परेशान किया जा रहा है। पुलिस खाराकुआ दिन भर थाने में बैठा रही हैं। धमकी दी जा रही है कि घर की महिलाओं को भी थाने पर बुलवायेंगे।

नरेश जैन होते आए सम्मानित :

समाजजनों ने बताया कि नरेश जैन सद्चरित्र और सभ्य व्यक्ति हैं, नगर पालिका उन्हें उनके अच्छे कार्यों के कारण प्रतिवर्ष प्रशस्ति पत्र भी देती रही है। समाजजनों ने मांग की कि पुलिस नरेश जैन के भाईयों व परिजनों को प्रताड़ित न करे। शुभम खंडेलवाल की मृत्यु के संबंध में सीनियर पुलिस अधिकारी से जांच कराई जाए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co