शराबबंदी को लेकर Uma Bharti ने फिर खोला मोर्चा, एक के बाद एक किए कई ट्वीट
Uma Bharti ने एक के बाद एक किए कई ट्वीटSocial Media

शराबबंदी को लेकर Uma Bharti ने फिर खोला मोर्चा, एक के बाद एक किए कई ट्वीट

भोपाल, मध्य प्रदेश। शराब बंदी को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के तेवर फिर सख्त हो गए हैं, उमा भारती ने कहा कि हम भूलवश मध्य प्रदेश को पंजाब की तरह उड़ता मध्य प्रदेश ना बना दें।

भोपाल, मध्य प्रदेश। पिछले कुछ समय से पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती लगातार मध्य प्रदेश में शराबबंदी की बात कह रही है, अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाली पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने एक बार फिर शराबबंदी को लेकर मोर्चा खोला है। शराब बंदी को लेकर उमा भारती के तेवर फिर सख्त हो गए हैं मंगलवार शाम को उमा भारती ने भोपाल के आशिमा मॉल के सामने स्थित शराब दुकान के अहाते के सामने चौपाल लगाई। इस दौरान पूर्व सीएम ने कहा कि शराब और शराबियों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। समस्या वैसी की वैसी है।

उमा भर्ती ने किये कई ट्वीट :

उमा भारती ने मध्यप्रदेश के ‘उड़ता मध्यप्रदेश’ ना बन जाने की आशंका जताते हुए कहा है कि वे फिर से शराबबंदी को लेकर अपना जागरुकता अभियान शुरु कर रही हैं। उमा भारती ने अपने ट्वीट के माध्यम से कहा कि, करीब सवा महीने पहले मेरी और शिवराज जी की शराबबंदी को लेकर लंबी वार्ता हुई फिर दिल्ली में हमारी पार्टी संगठन के वरिष्ठतम नेतृत्व से मेरी इसी विषय पर बातचीत हुई। फिर भोपाल में हमारी पार्टी के प्रदेश मुख्यालय के अंदर मध्य प्रदेश पार्टी संगठन के वरिष्ठ प्रभारियों से भी इसी संबंध में लंबा संवाद हुआ तथा इन तीनों मीटिंग में सबका यही कहना था कि हम सब शराब के खिलाफ हैं एवं निषिद्ध स्थानों पर शराब की दुकान नहीं होना चाहिए तथा शराब पिलाने के अहाते तो मध्य प्रदेश में कहीं नहीं होना चाहिए। इस संपूर्ण प्रसंग में लगभग डेढ़ महीना निकल चुका है, मुझे विश्वास है कि जब इन दिनों इतने महत्वपूर्ण लोगों से बातचीत हो चुकी है तो कुछ सकारात्मक परिणाम आएगा ही।

आगे पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने कहा कि, नशा एवं शराब के खिलाफ जागरूकता का अभियान चलेगा यह बात हमारे प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं प्रदेश के अध्यक्ष महोदय कह चुके हैं, बातचीत के परिणाम आने की प्रतीक्षा करते हुए मैं आज से जागरूकता अभियान प्रारंभ कर रही हूं, क्योंकि जागरूकता अभियान हमारी पार्टी एवं सरकार की नीति के ही अनुसार है। आज एक अजीब सी विसंगति देखी, हमारे देश में शराब पीकर वाहन चलाना अपराध है तो जो अहातों में बैठकर बड़े-बड़े झुंड में शराब पी रहे हैं वह जब बाहर निकलेंगे तब वह घर कैसे जायेंगे। उमा भारती बोली- "खुद वाहन चलाकर" या "घर का कोई वाहन लेकर उनको लेने आएगा" या "सरकार खुद उसके लिए वाहन की व्यवस्था करेगी" क्योंकि यहां हमारी ही नीति में विसंगति एवं विरोधाभास है।

उन्होंने कहा कि यह अभियान तेजी पकड़े यह बहुत जरूरी है, मैं इसके लिए पंजाब का उदाहरण दूंगी, पहले शराब पीने का प्रचंड दौर चला फिर एक समय ऐसा आता है कि शराब से नशे की हवस पूरी नहीं होती तो व्यक्ति दूसरे नशे करता है और फिर भरी जवानी में नष्ट हो जाता है, यही उड़ता पंजाब की कहानी है, हम भूलवश मध्य प्रदेश को पंजाब की तरह उड़ता मध्य प्रदेश ना बना दें तथा जो विकास की राह हमें हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी ने दिखाई तथा जिस पर चलने का वायदा हमारी प्रदेश की सरकार ने किया है उसको पूरा करने में हम सब सरकार का सहयोग करें तथा अपने अभियान में तेजी लाएं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co