शराबबंदी को लेकर उमा भारती ने मुख्यमंत्री शिवराज को लिखा पत्र, कही यह बात
उमा भारती ने मुख्यमंत्री शिवराज को लिखा पत्रPriyanka Yadav-RE

शराबबंदी को लेकर उमा भारती ने मुख्यमंत्री शिवराज को लिखा पत्र, कही यह बात

भोपाल, मध्यप्रदेश। अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाली मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने अब मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को एक पत्र लिखा है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती पिछले कुछ समय से लगातार मध्य प्रदेश में शराबबंदी की बात कह रही है, अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाली मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने अब मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को एक पत्र लिखा है, बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने हाल ही में नशा मुक्ति अभियान का ऐलान किया था, जिसे शुरू करने से पहले पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने मुख्यमंत्री शिवराज को पत्र लिखा है।

पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने शिवराज को लिखा पत्र-

बता दें कि नई शराब दुकानें खोलने का प्रस्ताव लाकर किरकिरी करा चुकी शिवराज सरकार की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने घेराबंदी तेज कर दी है, अब पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को एक पत्र लिखा है, इसमें कहा है कि शराबखोरी से गरीबों की जिंदगी तबाह हो रही है। पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने यह भी लिखा कि- कोई गलतफहमी ना हो, इसलिए पत्र को सार्वजनिक कर रही हूं।

पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने शिवराज को लिखा पत्र
पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने शिवराज को लिखा पत्रSocial Media

पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने कहा-

मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने पत्र में शराबखोरी और नशाखोरी को गरीब लोगों की तबाही का कारण बताया है, उमा भारती ने लिखा, 'मैं जानती हूं इसकी चिंता आपको भी है. मध्यप्रदेश एक शांतिपूर्ण संस्कार शील राज्य है, यहां सामाजिक जागरण की दिशा में प्रयास हों, इस सोच के साथ 8 मार्च को एक विमर्श होगा, इस संबंध में आपसे भी हम विचार करते रहेंगे।

बताते चलें कि कल ही पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के शराब बंदी अभियान को बीजेपी के कद्दावर चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग का समर्थन मिला है, विश्वास सारंग ने समर्थन देते हुए कहा था कि, उमा भारती हमारी नेता है वो शराब बंदी के लिये अपना अभियान शुरू करेगी। ये सामाजिक चेनता और जनजागरण का अभियान है। जिसे कांग्रेस द्वारा राजनैतिक पहलुओं से जोड़कर देखा जाता है। वह तो बिना किसी एंट्री फीस के एंट्री लेती है। अगर राजनैतिक स्तर से ही शराबबंदी करनी थी तो वह प्रदेश में शराब बंदी कर सकते थे।

नीचे दी गई लिंक पर क्लिक कर पढ़ें खबर- विश्वास सारंग ने दिया उमा भारती के आंदोलन को समर्थन

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co