उमरिया : धरती के भगवान भूल गये कोविड-19 में अपनी शपथ
उमरिया, मध्य प्रदेश : उपचार में लापरवाही से हो रही कोरोना संक्रमितों की मौत। मृतक के पुत्र ने चिकित्सालय प्रबंधन पर लगाये आरोप।
उमरिया : धरती के भगवान भूल गये कोविड-19 में अपनी शपथ
मृतक के पुत्र ने चिकित्सालय प्रबंधन पर लगाये आरोपAfsar Khan

उमरिया, मध्य प्रदेश। कोरोना वर्तमान में पीक पर है, रोजाना आधा सैकड़ा के आस-पास मामले सामने आ रहे हैं, इसी बीच चिकित्सकों और अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही भी लगातार सामने आ रही है। सोशल मीडिया में इलाज न मिलने और ऑक्सीजन की कमी के कई वीडियो पहले भी वॉयरल हो चुके हैं, वहीं प्रदेश सरकार के दावों की पोल भी खुलती नजर आ रही है कि कोरोना संक्रमितों को बेहतर इलाज दिया जा रहा है, चिकित्सक और प्रबंधन की लापरवाही से कोरोना संक्रमित की मौत हो गई, पुत्र ने प्रबंधन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कार्यवाही की मांग की है।

चिल्लाती रही मां नहीं आया कोई :

कोरोना संक्रमित पिता की मौत के बाद मीडिया में दिये गये बयान में पुत्र ने अस्पताल प्रबंधन पर गंभीर आरोप लगाये हैं, पुत्र का कहना है कि सांस लेने में तकलीफ होने के चलते पिता को कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया गया था, जहां उनकी रिपोर्ट पॉजीटिव आई थी, साथ में माँ को भी भर्ती कराया गया था। अचानक तबियत बिगड़ी, मां चिकित्सकों को बुलाती रही, लेकिन ड्यूटी पर तैनात डॉ. रिचा गुप्ता नहीं पहुंची।

ऑक्सीजन मिल जाती तो, बच जाती जान :

मृतक के पुत्र का यह भी आरोप है कि उसकी मां कई बार गुहार लगाती रही कि उसके पिता की तबियत बिगड़ रही है, ड्यूटी डॉक्टर तो नहीं आई, लेकिन सेंटर में तैनात कर्मचारियों ने ऑक्सीजन तक नहीं लगाया, जिसके चलते उसके पिता की मौत हो गई।

नहीं बदली जाती चादरें :

कोविड केयर सेंटर का आलम यह है कि यहां पर कई दिनों तक बेड की चादरें नहीं बदली जाती, पिता की जान चिकित्सक, सेंटर में कार्यरत कर्मचारियों और प्रबंधन की लापरवाही से होने का आरोप लगाने वाले मृतक के पुत्र का यह भी आरोप है कि कई दिनों तक चादरें तक नहीं बदली जाती हैं। भर्ती मरीज इस मामले में कई बार शिकायत भी कर चुके हैं, लेकिन कोई सुधार नहीं हो रहा है।

7 पहुंचा मौत का आंकड़ा :

संभाग में कोविड-19 से सबसे पहली मौत उमरिया जिले में हुई थी, आनन-फानन में रात्रि में उसका अंतिम संस्कार गांव के पास ही कर दिया गया था, मौत के लिए लकडिय़ा भी पूरी तरह नसीब नहीं हुई थी, स्वान अधजली लाश के पास देखे गये थे, मामला सोशल मीडिया में वॉयरल होने के बाद दोबारा अंतिम संस्कार किया गया, शुक्रवार तक जिले में कोरोना से 7 वीं मौत हुई है, जबकि कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 340 पहुंच चुका है। 180 स्वस्थ्य होकर घर जा चुके हैं, कोविड केयर सेंटर में 44 मरीजों का उपचार चल रहा है, 109 कोरोना पॉजीटिव को होम आईसीलेशन में रखा गया है, शुक्रवार को 23 नये मामले सामने आये।

इनका कहना है :

मौत ह्रदय गति रूक जाने से हुई है, ऑक्सीजन का लेवल भी मृतक का सही था, इस मामले में मृतक के परिजन भ्रांति फैलाने का काम कर रहे हैं, नियमित रूप से सारे काम कोविड केयर सेंटर में हो रहे है, प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग लगातार निगरानी बनाये हुए है। किसी भी प्रकार की लापरवाही कोविड-19 को लेकर नहीं की जा रही है।

संजीव श्रीवास्तव, कलेक्टर, उमरिया

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co