Umaria : शासन आदेश देता है, सुविधा नहीं!
शासन आदेश देता है, सुविधा नहीं!Raj Express

Umaria : शासन आदेश देता है, सुविधा नहीं!

उमरिया, मध्यप्रदेश : धान खरीदी केन्द्र में अन्नदाता हो रहा परेशान। कड़कड़ाती ठण्ड में खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर। खुद मजदूर लगाकर भरवाना पड़ रहा बारदाना।
Summary

सरकारी धान खरीद केंद्रों पर किसानों को दिए जाने वाले सुविधाओं के दावे खोखले साबित हो रहे हैं। जिले के अधिकांश धान क्रय केंद्रों पर किसानों को बैठने तक का इंतजाम ही नहीं है। शुद्ध पेयजल और और ठंड से बचने की व्यवस्था तो दूर की बात है। क्रय केंद्रों पर धान विक्रय करने जाने वाले किसानों को दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ रहा है।

उमरिया, मध्यप्रदेश। संभागीय मुख्यालय से सटे उमरिया जिले के बिरसिंहपुर पाली जनपद क्षेत्र के मालाचुआ ग्राम पंचायत में शासन द्वारा किसानों की धान खरीदी की जा रही है, लेकिन किसानों को खुले आसमान के नीचे धान खरीदी करनी पड़ रही है, भले ही कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव धान खरीदी को लेकर गंभीर हो, लेकिन स्थानीय स्तर पर अव्यवस्था के कारण किसान काफी परेशान हैं, किसानों का कहना है कि धान खरीदी केन्द्र में किसी भी प्रकार की व्यवस्था नहीं है, धान खरीदी केन्द्र में न तो अलाव की व्यवस्था की गई है और न ही टेंट लगाकर शीत लहर से बचने की ही कोई व्यवस्था की गई है और अगर मौसम खराब होता है तो, खुले में रखी धान भी भीग जायेगी।

धान खरीदी केन्द्र में किसान का दर्द :

मुख्यमंत्री सहित जिले के मुखिया ने जिला विपणन अधिकारी को सभी क्रय केंद्रों पर किसानों के लिए शुद्ध पेयजल, बैठने आदि का प्रबंध कराने का निर्देश दिया है। इसके बावजूद अधिकांश केंद्रों पर शुद्ध पेयजल तक प्रबंध नहीं है। केंद्रों पर पहुंचने वाले किसानों को कितनी सुविधाएं मिल रही हैं इसका अंदाजा संभागीय मुख्यालय से सटे मालाचुआ धान खरीदी केन्द्र में देखा जा सकता है, यहां न तो किसानों के लिए शुद्ध पानी की व्यवस्था कराई गई है और न ही ठण्ड से बचने के लिए ही किसी प्रकार की कोई व्यवस्था है, धान क्रय केन्द पर मौजूद किसानों के दर्द से अंदाजा लगाया जा सकता है।

प्रबंधन कर रहा मनमानी :

किसानों को सुविधा देने के लिए यहां पर मात्र आधा दर्जन के आस-पास मजदूर है, लेकिन इसकी सुविधा उन्हें नहीं मिल रही है। पानी नहीं, तराजू की कमी इस केंद्र में बिजली- पानी की भी सुविधा नहीं है। बारदानों तथा तराज़ू की कमी है, इसके साथ ही धान को सुरक्षित रखने के लिए अब तक खरीदी केंद्र में तार की फैंसिंग नहीं करवाई गई है। एक ओर जिला प्रशासन किसानों को सुविधा देने के लिए कह रहा है, वहीं दूसरी ओर खरीदी केन्द्र के प्रबंधन द्वारा पूरी तरह मनमानी की जा रही है।

मुखिया ने कहा सुविधा का रखें ध्यान :

कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव का कहना है कि किसानों को खरीदी केंद्र में सभी सुविधा उपलब्ध कराए, इस बात का ख्याल रखे कि उन्हें किसी तरह की परेशानी उपार्जन केंद्र में न हो। करकेली जनपद अंतर्गत घुलघुली खरीदी केंद्र पहुंचे कलेक्टर ने प्रभारी प्रबंधक रूपचंद से कही। इस मौके पर कलेक्टर ने खरीदी केंद्र में उठाव, परिवहन, मजदूरों की मजदूरी सहित कई मामलों पर जानकारी ली और ज़रूरी निर्देश दिए है। इस मौके पर अपनी धान लेकर खरीदी केंद्र पहुंचे किसानों से भी पूछताछ कर समस्याओं की जानकारी ली, कलेक्टर ने नरवार में धान खरीदी केन्द्र का औचक निरीक्षण कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। वहीं पूरे मामले में धान खरीदी केन्द्र मालाचुआ के प्रबंधक कहते हैं कि शासन आदेश देता है, सुविधा नहीं देता।

नहीं किसी प्रकार की व्यवस्था :

मालाचुआ धान खरीदी केन्द्र में अव्यवस्था अपनी चरम पर है, किसानों की धान के लिए किसी प्रकार की सुरक्षा व्यवस्था भी नहीं है, खुले में धान रखी जा रही है, मजे की बात तो यह है कि धान खरीदी केन्द्र के प्रबंधक का कहना है कि शासन द्वारा इस वर्ष किसी प्रकार की सुविधा किसानों के लिए नहीं दी गई है, पीने के पानी के लिए हैण्ड पंप लगा हुआ है, उससे पानी पी सकते हैं, टेंट आदि के लिए किसी प्रकार की व्यवस्था शासन द्वारा नहीं की गई है।

इनका कहना है :

शासन द्वारा किसी प्रकार की सुविधा उपलब्ध नहीं कराई जाती, सिर्फ आदेश किये जाते हैं, अगर काम ज्यादा होता है तो, रात में अलाव जला दिया जाता है, पानी के लिए हैण्डपंप है।

बालेन्द्र द्विवेदी, प्रबंधक, मालाचुआ धान खरीदी केन्द्र

मैं अभी मीटिंग में हूँ, आपने जो जानकारी दी है, उसके संबंध में दिखवाता हूँ।

संजीव श्रीवास्तव, कलेक्टर, उमरिया

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co