Umaria : मानपुर से हो रहा अवैध महुआ का कारोबार
मानपुर से हो रहा अवैध महुआ का कारोबारRaj Express

Umaria : मानपुर से हो रहा अवैध महुआ का कारोबार

उमरिया, मध्यप्रदेश : मंडी उड़नदस्ता ने अवैध महुआ परिवहन करते वाहन को पकड़ा। कोल्ड स्टोर सहित गोदामों में रखा है अवैध महुआ फूल।
Summary

महुआ उत्पादन में मानपुर क्षेत्र हमेशा से अव्वल रहा है, क्षेत्रीय लोग महुआ फूल जब गिरता है, तब एकत्र करके इसे बेच देते हैं। जिसके चलते व्यापारी इस महुआ को अन्य जिलों से लेकर अन्य प्रांतों तक बेचकर अच्छा मुनाफा कमाते हैं। वहीं अब ग्रामीण अंचलों से महुआ लेकर स्थानीय कोल्ड स्टोर सहित दूसरे जिलों के कोल्ड स्टोर में व्यापारी बड़े पैमाने पर एकत्रित कर रहे हैं, यह गोरखधंधा इन दिनों अपने चरम पर है।

उमरिया, मध्यप्रदेश। जिले के कोने कोने में ठीहा बनाये पूंजीपति महुआ व्यापारियों द्वारा आये दिन मंडी टैक्स की चोरी कर चोरी-चुपके भारी भरकम एवं पिकप वाहनों से महुआ सप्लाई के कारोबार में संलिप्त थे, जिसकी लगातार मिल रही शिकायत पर मंडी उड़नदस्ता की टीम द्वारा कार्यवाही करते हुए बताया गया कि अमरपुर चौकी पुलिस द्वारा जानकारी दी गई है कि एक भारी भरकम वाहन में मंडी का टैक्स चोरी कर अवैध तरीके से भारी मात्रा में महुआ फूल की सप्लाई की जा रही है, जिस पर भारसाधक अधिकारी के दिशा निर्देशन में मंडी जांच दल उमरिया के द्वारा 6 मई को वाहन पकड़ा, जिसमे लोड महुआ फूल 750 बोरी वजन 300 क्विंटल था, अवैध परिवहन के विरुद्ध कार्रवाई कर 83750 रुपये की दांडिक मंडी शुल्क वसूली की कार्यवाही की गई, वहीं जिला मंडी उड़नदस्ता द्वारा सभी व्यापारियों से कहा गया कि कृषि उपज व वनोपज का क्रय-विक्रय वैध दस्तावेज के साथ ही रखे और कानूनी कार्यवाही से बचें।

टैक्स चोरी का खेल :

मानपुर विधानसभा क्षेत्र में महुआ फूल का भारी मात्रा में कारोबार होता है, खबर है कि ग्रामीणों से सस्ते दाम में महुआ खरीद कर पूंजीपति व्यापारी महंगे दाम में महुआ बाहर सप्लाई करते हैं, वही मंडी टैक्स की चोरी कर भारी भरकम वाहनों एवं पिकप वाहन से रातों-रात महुआ कोल्ड स्टोर में पहुंचाया जाता है, इन पूंजी पति व्यापारियों का कहना है कि मंडी की फीस जमा करने पर महुए में कम फायदा होता है और टैक्स चोरी करने में रिस्क तो रहता है , लेकिन अच्छा खासा फायदा भी होता है, इसलिए क्षेत्र के व्यापारी टैक्स चोरी कर रातों-रात भारी भरकम वाहनों से महुए की सप्लाई कर मोटी रकम की कमाई में मशगूल हैं, जिले की मंडी उड़दस्ता टीम से अपेक्षा है कि सम्बंधित क्षेत्र में भी सघन सर्चिंग कर अवैध तरीके से महुआ परिवहन पर कानूनी कार्यवाही की जाए।

की जाएगी कानूनी कार्यवाही :

जिला मंडी सचिव एवं स्थानीय पदस्थ कर्मचारियों की सांठ-गांठ व्यापारियों से होने के कारण क्षेत्र से मंडी टैक्स की चोरी कर व्यापारियों द्वारा महुआ सप्लाई को अंजाम दिया जा रहा है, वहीं कुछ व्यापारियों ने नाम न बताने की शर्त पर जानकारी देते हुए बताया कि यह चोरी वाट्सअप के माध्यम से होती है , मंडी टैक्स की चोरी का उल्लेख करते हुए बताया कि स्थानीय पदस्थ कर्मचारी द्वारा सभी व्यापारियों को निर्देश दिया गया है कि जो भी व्यापारी बिना मंडी टैक्स जमा किये अपना महुआ बाहर भेजेगा पहले वाट्सअप में जानकारी डालेगा, अगर बिना जानकारी दिए महुआ बाहर भेजा और पकड़ा गया तो , कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

कटघरे में कर्मचारी :

कानूनी कार्यवाही से बचने के लिए संबंधित व्यापारी स्थानीय पदस्थ कर्मचारी के वाट्सअप में सूचना डाल कर वाहन रवाना कर देते हैं और सुबह होते ही कर्मचारी हिसाब किताब क्लियर करने व्यापारियों के यहां पहुंच जाते हैं, ऐसा नही है कि इस टैक्स चोरी व अवैध कारोबार की जानकारी ऊपर बैठे संबंधित विभाग के आला अफसरों को न हो बल्कि नीचे से ऊपर तक बैठे विभागीय टीम के जिम्मेदारों तक बकायदा साझेदारी ईमानदारी के साथ बनी रहती है, जिसका नतीजा देखा जाए तो, इस सीजन में अभी तक मानपुर में विभाग के जिम्मेदारों द्वारा अवैध तरीके से महुआ सप्लाई पर कोई कार्यवाही नही की गई है। स्थानीय लोगों ने कलेक्टर से मांग की है कि मंडी विभाग में पदस्थ कर्मचारियों के फोन की डिटेल खंगाली जाये, जिससे शासन को हो रही राजस्व क्षति से बचा जा सके।

गोदाम सहित कोल्ड स्टोर की हो जांच :

जिले में अवैध तरीके से भंडार किए गए महुए के फूल पर आज तक संभाग में कोई जांच नही की गई है, जिले में महुए के फूल खरीदने का कृषि उपज मंडी से लाइसेंस कई व्यापारियों ने ले रखा है, लेकिन भंडार की कोई स्वीकृति नहीं है, चर्चा है कि जिले सहित कस्बाई क्षेत्रों में कई अवैध गोदाम व्यापारियों ने महुआ फूल से भर लिए है, इसके अलावा कोल्ड स्टोर में भी बगैर किसी दस्तावेज के लाखों का महुआ रखा है, स्थानीय व्यापारियों का कहना है कि अगर कोल्ड स्टोर सहित महुआ गोदामों पर दबिश देकर दस्तावेज खंगाले जायें तो, लाखों की कर चोरी सहित अन्य मामला भी सामने आ सकता है। चर्चा यह भी है कि जिले में फल-फूल रहे इस अवैध कारोबार में कृषि उपज मंडी के जिम्मेदारों की कार्यशैली कटघरे में हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.