वीडी शर्मा ने कमलनाथ पर साधा निशाना
वीडी शर्मा ने कमलनाथ पर साधा निशानाSyed Dabeer Hussain - RE

वीडी शर्मा ने कमलनाथ पर साधा निशाना

श्री शर्मा ने कहा कि नेमावर की घटना अत्यंत निंदनीय है। लेकिन जिस तरह से कांग्रेस और उसके नेता कमलनाथ इस घटना का इस्तेमाल अपनी राजनीति के लिए कर रहे हैं, वह इससे भी ज्यादा निंदनीय है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। नेमावर की घटना के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के सोमवार को नेमावर दौरे को लेकर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने उनसे पूछा है कि क्या श्री नाथ कांग्रेसी पृष्ठभूमि वाले अपराधियों को शाबासी देने वहां गए थे?

श्री शर्मा ने कहा कि नेमावर की घटना अत्यंत निंदनीय है। लेकिन जिस तरह से कांग्रेस और उसके नेता कमलनाथ इस घटना का इस्तेमाल अपनी राजनीति के लिए कर रहे हैं, वह इससे भी ज्यादा निंदनीय है। जिन लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया है, उन अपराधियों की पारिवारिक पृष्ठभूमि कांग्रेस से संबंधित रही है। इस घटना को राजनीति के चश्मे से देखने वाले कमलनाथ को प्रदेश की जनता को यह बताना चाहिए कि क्या वे अपने कांग्रेसी साथियों को इस जघन्य हत्याकांड के लिए शाबासी देने नेमावर गए हैं।

आरोपों को बताया बेबुनियाद :

श्री शर्मा ने कहा कि इस घटना को लेकर कांग्रेस और उसके नेता कमलनाथ जो आरोप सरकार और अन्य संगठनों पर लगा रहे हैं, वे सरासर वेबुनियाद हैं। सच्चाई यह है कि घटना के मुख्य आरोपी सुरेंद्रसिंह का परिवार पीढ़ियों से कांग्रेसी रहा है और उसके दादा 15 सालों तक कांग्रेस के सक्रिय कार्यकर्ता और नगर अध्यक्ष रहे हैं। इस घटना के आरोपी नंबर तीन विवेक तिवारी के पिता बबलू तिवारी नेमावर नगर कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष रहे हैं और कांग्रेस ने उन्हें पार्षद का टिकट भी दिया था। श्री शर्मा ने कहा कि घटना के आरोपियों में से दो मनोज कोरकू और करण कोरकू भी उसी आदिवासी समाज से हैं, जिस समाज से पीड़ित परिवार का संबंध रहा है। ऐसे में यह स्पष्ट है कि नेमावार की घटना सिर्फ एक अपराधिक घटना है, इसका किसी जाति, समाज से कोई लेना-देना नहीं है। श्री शर्मा ने कहा कि इस घटना को वर्गभेद की नजरों से देखना राजनीति चमकाने के प्रयास से ज्यादा कुछ नहीं है।

पूरी संवेदनशीलता से काम कर रही प्रदेश सरकार :

श्री शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार इस घटना को लेकर पूरी संवेदनशीलता से काम कर रही है। पुलिस ने पूरी तत्परता से कार्रवाई करते हुए इस घटना के सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। प्रदेश सरकार ने पीड़ित परिवार के लिए 41 लाख रुपए की सहायता राशि स्वीकृत की है। श्री शर्मा ने कहा कि सरकार इस घटना के आरोपियों को सजा दिलाने के लिए कटिबद्ध है और आरोपियों की संपत्तियों को ढहा दिया गया है। यही नहीं, बल्कि इस अमावनीय घटना के पीड़ितों को शीघ्र न्याय दिलाने के लिए सरकार ने इस मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने का निर्णय लिया है। श्री शर्मा ने कहा कि वैसे तो यह घटना राजनीतिक चश्मे से देखने का विषय नहीं है, फिर भी अगर कमलनाथ ऐसा कर रहे हैं, तो उन्हें यह समझ लेना चाहिए कि इस घटना में लिप्त लोग उनके ही कांग्रेसी भाई हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co