Raj Express
www.rajexpress.co
फसलें हुई बर्बाद
फसलें हुई बर्बाद|Shashikant Rao
मध्य प्रदेश

विदिशा: लगातार बारिश ने फिर लोगों के जीवन को किया अस्त-व्यस्त, फसलें हुई बर्बाद

विदिशा, मध्यप्रदेश : इस बार लगातार हो रही बारिश से पूरी फसलें बर्बाद हो गई। करोड़ों रूपए का नुकसान हुआ है। तो वहीं जन, धन, पशु हानि आदि हो चुकी।

Shashikant Rao

राज एक्सप्रेस। इस बार लगातार हो रही बारिश से पूरी फसलें बर्बाद हो गई। करोड़ों रूपए का नुकसान हुआ है। तो वहीं जन, धन, पशु हानि आदि हो चुकी। जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया। गत 13 अगस्त से जारी बारिश 28 सितंबर तक लगातार हो रही है। केवल अभी दो दिन बारिश बंद हुई थी जिससे थोड़ी राहत मिली पर फिर मौसम का मिजाज बदला और लगातार बारिश ने फिर लोगों के जीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया।

लगातार बारिश से सोयाबीन-उड़द की फसल पूरी हुई बर्बाद-

अब लोग इन्द्रदेव से प्रार्थना कर रहे है कि बारिश पर विराम लगाए लेकिन हर नक्षत्र में हो रही जोरदार बारिश से लोग त्राहि-त्राहि कर चुके हैं। कर्जमाफी के कारण कई किसान नहीं करा पाए बीमा, बारिश से सब्जी की फसल, उड़द व सोयाबीन भी नष्ट हो चुका है। इस बार बेहतर पैदावार की उम्मीद लगाए बैठे किसानों के सपने टूट गए हैं। खेतों में बारिश का पानी डेढ़ माह से भरा होने से फसलें गल गई।

फसलें हुई बर्बाद
फसलें हुई बर्बाद
Shashikant Rao

सबसे बड़ी बात तो यह है कि-

प्रशासन ने सर्वे कर मुआवजा देने के निर्देश दिए है पर सर्वे कार्य में हो रही लेटलतीफी से किसान चिंतित दिखाई दे रहे हैं। अतिवृष्टि से हुए नुकसान का आंकलन करने केन्द्रीय राहत आपदा प्रबंधन का दल भी जांच कर रिर्पोट ले जा चुका है। किसानों ने ऋण माफी के कारण कर्ज समय पर चुकता नहीं किया जिससे अगला ऋण नहीं दिया गया साथ ही केसीसी आदि नहीं बनाए जाने पर फसलों का बीमा भी अधिकांश किसान नहीं करा पाए जिससे किसानों के सामने चिंता मुंह फैलाए खड़ी है।

गत वर्ष से दोगुनी हुई बारिश:

विदिशा तहसील बारिश में तीसरे नंबर पर पिछले साल से जिले की दोगुनी औसत बारिश दर्ज की गई है। जिले में अब तक 1663.1 मिमी वर्षा दर्ज हुई है। जबकि गतवर्ष उक्त अवधि में 850.1 मिमी वर्षा हुई थी। शनिवार को जिले की सभी तहसीलों में वर्षा दर्ज की गई है। विदिशा में 1700 मिमी, बासौदा में 1959.2 मिमी, कुरवाई में 1518.7 मिमी, सिरोंज में 1503.5 मिमी, लटेरी में 1431.5 मिमी, ग्यारसपुर में 1645.5 मिमी, गुलाबगंज में 1862 मिमी तथा नटेरन तहसील में 1595 मिमी वर्षा दर्ज की जा चुकी है।

अत्यधिक वर्षा, जलभराव से 24 जनहानि हुई हैं जिसमे से 17 मृतकों के परिजनों को आरबीसी के प्रावधानों के तहत 68 लाख रूपए की मदद जारी की गई है वही 32 पशु हानि के प्रकरण पंजीबद्व किए गए हैं, जिसमें से 12 निराकृत कर 33 हजार रूपए की राशि पशुपालकों को प्रदाय की गई है। जिले में आंशिक पूर्ण मकान, कुंआ एवं अन्य सामग्री क्षति के कुल 5370 प्रकरण अभी तक पंजीबद्ध किए गए हैं जिसमें से 2911 प्रकरणों का निराकरण कर एक करोड़ 73 लाख की राशि वितरित की जा चुकी है। विदिशा जिले के कुल 118 गांव प्रभावित हुए हैं। बाढ़ से प्रभावित 1110 व्यक्तियों को राहत शिविरों में ठहराया गया था।