Raj Express
www.rajexpress.co
जिले की औसत बारिश
जिले की औसत बारिश|Shashikant Rao
मध्य प्रदेश

विदिशा: पिछले साल से अब तक दोगुनी हुई जिले की औसत बारिश

विदिशा, मध्यप्रदेश : विदिशा में बारिश ने ना केवल सूखे को खत्म किया बल्कि अतिवृष्टि और बाढ़ जैसे हालात पैदा कर लोगों के जीवन को तहस-नहस कर दिया।

Shashikant Rao

हाइलाइट्स

  • लगातार बारिश ने लोगों के जीवन को तहस-नहस कर दिया

  • बारिश से सैंकड़ों मकान, किसानों की फसलें, क्षतिग्रस्त हो गई

  • वर्षा और जलभराव से स्कूल एवं छात्रावास भवन क्षतिग्रस्त हुए

  • अतिवृष्टि से 400 स्कूल हुए क्षतिग्रस्त, 544 लाख का नुकसान

राज एक्सप्रेस। 15 जून से लेकर 12 अगस्त तक बारिश प्रारंभ नहीं होने के कारण किसान उदास दिखाई दिए। भीषण गर्मी पड़ने और बारिश नहीं होने से लोग भी बेचैन हो उठे। इन्द्रदेवता को मनाने के लिए तरह-तरह के प्रयास और धार्मिक आयोजन किए गए। 13 अगस्त को जब सुबह से बारिश प्रारंभ हुई तो लोगों ने शुरूआत में राहत की सांस ली, लेकिन उस दिन से आज तक लगातार हो रही बारिश ने ना केवल सूखे के आंकड़ों को खत्म किया बल्कि अतिवृष्टि और बाढ़ जैसे हालात पैदा कर लोगों के जीवन को तहस-नहस कर दिया। अनेक पशु, पक्षियों की जान चली गई, अनेक लोग बाढ़ के काल में समां गए।

किसानों की फसलें बर्बाद हो गई:

किसानों की सोयाबीन और उड़द की फसलें बर्बाद हो गई। सरकारी इमारतों समेत सैकड़ों मकान बारिश से क्षतिग्रस्त हो गए। इस अतिवृष्टि और जलभराव की समस्या से करोड़ों का नुकसान हो गया। लगातार हो रही बारिश से अब जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। लोग अब इन्द्रदेव से प्रार्थना कर रहे है कि बारिश बंद करे ताकि लोगों का जीवन पटरी पर आ सके। डिप्टी कलेक्टर एवं प्रभारी डीपीसी बृजेन्द्र सिंह यादव ने बताया कि, जिले में विगत दिनों हुई अनवरत वर्षा और जलभराव से शिक्षा विभाग एवं आदिम जाति कल्याण विभाग अंतर्गत जिले में 399 स्कूल एवं छात्रावास भवन क्षतिग्रस्त हुए है इन स्कूलों एवं छात्रावास की मरम्मत के लिए अनुमानत: 543.91 लाख राशि की आवश्यकता होगी।

शिक्षा विभाग
शिक्षा विभाग
Shashikant Rao

डिप्टी कलेक्टर ने बताया-

डिप्टी कलेक्टर श्री यादव ने बताया कि जिले में 271 प्राथमिक विद्यालय भवन क्षतिग्रस्त हुए हैं इन भवनों की मरम्मत हेतु 264.27 लाख राशि की आवश्यकता पड़ेगी। इसी प्रकार 88 माध्यमिक विद्यालय भवनों की मरम्मत हेतु 93.59 लाख रूपए, क्षतिग्रस्त 80 उच्च माध्यमिक विद्यालय भवनों की मरम्मत के लिए 95.85 लाख रूपए, क्षतिग्रस्त उच्चतर 28 विद्यालय भवनों की मरम्मत हेतु 80.5 लाख की आवश्यकता पड़ेगी। जिले में 12 छात्रावास भवन भी क्षतिग्रस्त हुए हैं जिनकी मरम्मत के लिए 9.70 लाख रूपए की आवश्यकता होगी। विदिशा जिले में अब तक 1617.9 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है जबकि गतवर्ष उक्त अवधि में 843.3 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई थी।

जिले की तहसीलों में स्थापित वर्षामापी यंत्रों पर दर्ज की गई वर्षा की जानकारी देते हुए अधीक्षक भू-अभिलेख ने बताया कि, 22 सितम्बर की प्रात: 8 बजे रिकार्ड की गई वर्षा अनुसार 30.5 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है। रविवार 22 सितम्बर को तहसीलवार दर्ज की गई वर्षा की जानकारी तदानुसार विदिशा में 33 मिमी, बासौदा में 38.8 मिमी, कुरवाई में 56.2 मिमी, सिरोंज में 52 मिमी, लटेरी में 10 मिमी, ग्यारसपुर में 9 मिमी, गुलाबगंज में 23 मिमी, नटेरन तहसील में 22 मिमी वर्षा दर्ज हुई है। जिले की तहसीलो में अब तक दर्ज वर्षा तदानुसार विदिशा में 1680.5 मिमी, बासौदा में 1914.8 मिमी, कुरवाई में 1454.9 मिमी, सिरोंज में 1477.5 मिमी, लटेरी में 1371.5 मिमी, ग्यारसपुर में 1595.5 मिमी, गुलाबगंज में 1785 मिमी, नटेरन तहसील में 1566.4 मिमी वर्षा दर्ज हुई है।