कांग्रेस के लीगल सेल के राष्ट्रीय अध्यक्ष का विवेक तंखा ने छोड़ा पद
कांग्रेस के लीगल सेल के राष्ट्रीय अध्यक्ष का विवेक तंखा ने छोड़ा पदSyed Dabeer Hussain - RE

कांग्रेस के लीगल सेल के राष्ट्रीय अध्यक्ष का विवेक तंखा ने छोड़ा पद

राज्य सभा सांसद विवेक तंखा का कांग्रेस पार्टी के लीगल सेल से इस्तीफा दे दिया है, उन्होंने इस बारे में सोनिया गांधी को पत्र लिखा था, जिसे स्वीकार कर लिया गया।

भोपाल। कांग्रेस पार्टी में एक के बाद एक नेताओं का स्थिति का दौर जारी है अब मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता एवं राज्यसभा सदस्य विवेक तंखा ने कांग्रेस के लीगल सेल के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद छोड़ इस्तीफा दिया है।

सोनिया गांधी को लिखा था पत्र :

बताया जा रहा है कि, विवेक तंखा कांग्रेस के नाराज नेताओं के समूह जी-20 में शामिल थे और उन्होंने अपने इस पद के इस्तीफे का पत्र 25 जून को कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखा था, जिसे स्वीकार कर लिया गया है। इस बारे में राज्यसभा सदस्य विवेक तंखा ने खुद अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट चर्चा करते हुए जानकारी साझा की है। कांग्रेस के दिग्गज नेता विवेक तंखा ने अपने ट्वीट में लिखा- मैंने 5 साल तक एआईसीसी कानूनी विभाग के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया, जो किसी भी पद के लिए एक लंबा कार्यकाल है। मैं कांग्रेस अध्यक्ष और सभी से योगियों को उस अद्भुत विश्वास सहयोग और तालमेल के लिए धन्यवाद देता हूं,जिसका मैंने अनुभव किया। मेरा विचार है कि, अब इस पद पर नए लोगों जिम्मेदारी मिलना चाहिए, इसलिए मैंने 25 जून को पत्र लिखा इस पद से इस्तीफा दे दिया है।

इसके अलावा एक अन्य ट्वीट में विवेक खन्ना ने यह भी लिखा- मैं वास्तव में यह नहीं मानता कि कोई भी बहुत लंबे समय तक बने रहने से किसी पद के साथ न्याय कर सकता है नए लोगों को अवसर मिलना चाहिए मैंने जीवन भर इस सिद्धांत का पालन किया है दुनिया में सिर्फ एक पद पर बने रहने के अलावा और भी बहुत कुछ है।

विवेक तंखा ने सोनिया गांधी को कहा धन्यवाद :

इस दौरान उन्होंने यह भी बताया कि, "मेरा धन्यवाद पत्र 25 जून को सीपी आईएनसी को कानूनी, मानव संसाधन और आईटी विभाग में के अध्यक्ष के पद से हटा दिया गया, क्योंकि मैंने 5 साल का लंबा कार्यकाल किया था। नए लोगों को मौका मिलना चाहिए, यह मेरे जीवन का विश्वास है। मैंने हमेशा इसकी वकालत की है और इसलिए इसका अभ्यास करना चाहिए।आपके गर्मजोशी भरे पत्र के लिए कांग्रेस अध्यक्ष का धन्यवाद मुझे नहीं चुनौतियां लेना पसंद है, पब्लिक वेल मेरा आदर्श वाक्य है। सोने से पहले, सोने से पहले मिलो चलना है। हाथ जोड़कर प्रणाम"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co