दो ठेकेदारों के बीच तनाव के चलते माल गोदाम बना छावनी
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ,एसडीएम 100 पुलिसकर्मियों के साथ माल गोदाम पहुंचे विदिशा ब्यूरो

दो ठेकेदारों के बीच तनाव के चलते माल गोदाम बना छावनी

सौराई रैक पाईंट माल गोदाम बनाए जाने पर ठेकेदार भी बदल गए। पहले विदिशा प्लेटफार्म पर माल गोदाम था जिससे यहां माल भरने, उतरने का ठेका सिद्धार्थ जैन के पास था।

विदिशा, मध्य प्रदेश। सौराई रैक पाईंट माल गोदाम बनाए जाने पर ठेकेदार भी बदल गए। पहले विदिशा प्लेटफार्म पर माल गोदाम था जिससे यहां माल भरने, उतरने का ठेका सिद्धार्थ जैन के पास था। अब माल गोदाम सौराई पर बनाया गया जिससे सौराई के पास के ग्राम मूडरा हरीसिंह निवासी राजेन्द्र सिंह राजपूत ने मजदूरों से माल भरवाने, उतरवाने का ठेका आईटीसी ठेकेदार कंपनी से ले लिया। पूर्व के ठेकेदार सिद्धार्थ जैन चाहता था कि उसके पास ही ठेका रहे। इसी बात को लेकर पिछले कई माह से दोनों के बीच तनाव और विवाद की स्थिति बनी हुई थी। इसकी सूचना पुलिस प्रशासन को भी थी चूंकि जब तक रेक नहीं आएगी तब तक विवाद की कोई गुंजाईश नहीं होने के कारण पुलिस प्रशासन ने कोई कार्यवाही नहीं की।

100 पुलिसकर्मियों के साथ माल गोदाम पहुंचे

गुरूवार को सौराई माल गोदाम पर गेहूं से भरी रैक आने की सूचना पर ठेकेदार राजेन्द्र सिंह राजपूत अपने मजदूरों के साथ प्लेटफार्म पर ट्रेन के आने का इंतजार करने लगे तो वहीं विदिशा से ठेकेदार सिद्धार्थ जैन भी अपने मजदूरों और साथियों के साथ सौराई माल गोदाम पहुंच गए। इसकी सूचना लगते ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजय साहू, एसडीएम गोपाल वर्मा लगभग 100 पुलिसकर्मियों के साथ माल गोदाम पहुंचे और माल गोदाम रैक पाईंट को पुलिस छाबनी में तब्दील कर दिया। यह देखकर आसपास के गांववाले भी जमा होने लगे।

किसी तरह का कोई विवाद नहीं हुआ

जब मालगाड़ी आई और उसमें रेलवे के ठेकेदार आए जिन्होंने दोनों ठेकेदारों से चर्चा की और आपस में विवाद न हो ताकि उन्हें नुकसान ना हो इसके लिए दोनों को आधा आधा काम देने की बात पर सहमति बनाई गई। एएसपी संजय साहू ने कहा कि दोनों ठेकेदारों के बीच विवाद की स्थिति न हो इसके लिए पुलिस बल एहतियात के तौर पर तैनात किया गया था। कोई दिक्कत नहीं है, शांति है, किसी तरह का कोई विवाद नहीं हुआ है।

वहीं ठेकेदार राजेन्द्र सिंह राजपूत ने कहा कि रेलवे के ठेकेदारों ने उन्हें काम दिया है और मजदूर भी उनके पक्ष में है साथ ही उनके गांव के पास माल गोदाम है तो आसपास ग्रामीण क्षेत्र के मजदूरों को लाभ मिले इसके लिए वह यहां मौजूद है और ठेकेदारों ने उन्हें ही जिम्मेदारी दी है। वहीं सिद्धार्थ जैन ने बताया कि उनका काम विदिशा माल गोदाम पर पिछले कई सालों से चल रहा है। आज रैक आने पर मजदूरों के साथ सौराई रैक पाईंट पहुंचे है, किसी तरह का कोई विवाद नहीं है। रेलवे के ठेकेदार रेक पाईंट के साथ आऐंगे और वह जिनको काम सौंपेगा वह काम करेगा, बाकी के वापिस लौट जाऐंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co