Weather Update : कमजोर हुए सिस्टम, आसमान साफ होने पर बढ़ेगी ठंड
Weather Update : कमजोर हुए सिस्टम, आसमान साफ होने पर बढ़ेगी ठंडSocial Media

Weather Update : कमजोर हुए सिस्टम, आसमान साफ होने पर बढ़ेगी ठंड

मौसम विज्ञानियों का कहना है कि सिस्टम का अधिक प्रभाव प्रदेश के ग्वालियर, चंबल, इंदौर और उज्जैन संभाग में अधिक हुआ है। बादल छंटने के साथ ही रात के पारे में गिरावट होगी और ठंडक बढ़ेगी।

भोपाल, मध्यप्रदेश। बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में बने गहरे निम्न दबाव के क्षेत्र के साथ ही पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से राजधानी सहित प्रदेश में मावठे की बारिश हो रही है। वर्षा की गतिविधियों के कारण दिन का तापामन कम हो गया है, वहीं रात का तापमान बढ़ गया है। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि सिस्टम का अधिक प्रभाव प्रदेश के ग्वालियर, चंबल, इंदौर और उज्जैन संभाग में अधिक हुआ है। शुक्रवार शाम को राजधानी के वर्षा दर्ज की गई। रविवार से इस सिस्टम का प्रभाव कम होने लगेगा। दिन का तापमान कम हो चुका है। बादल छंटने के साथ ही रात के पारे में गिरावट होगी और ठंडक बढ़ेगी।

पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से बदलता है मौसम :

मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि वर्तमान में अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में बना लो प्रेशर एरिया, वेल लो मार्क में तब्दील हो गया है। साथ ही एक पश्चिमी विक्षोभ भी मौजूद है जिसके चलते प्रदेश के मौसम में बदलाव हुआ है। साहा ने बताया कि इस सीजन में बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में हुई हलचल का प्रदेश के मौसम पर अधिक प्रभाव नहीं पड़ता है। लेकिन अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में बने सिस्टम के साथ ही पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से मौसम में बदलाव हुआ है। राजधानी सहित प्रदेश में वर्षा की गतिविधियां देखी गई हैं।

कमजोर पड़े सिस्टम :

साहा ने बताया कि हैवी बारिश की संभावना नहीं है। यदि लगातार बादल आते हैं, तो बारिश की संभावना ज्यादा रहती है। वहीं ज्यादा बारिश होती है तो फिर अचानक ठंड बढ़ती है। बंगाल की खाड़ी में बना अवदाब का क्षेत्र उत्तरी आंध्र के तट पर पहुंच गया है। अरब सागर में बना कम दबाव का क्षेत्र अवदाब के क्षेत्र में परिवर्तित होने वाला है। अरब सागर से दक्षिण मप्र तक बना ट्रफ कमजोर पड़ने लगा है। साहा ने बताया कि उत्तर भारत में बना पश्चिमी विक्षोभ भी शनिवार से आगे बढ़ने लगेगा। इस वजह से वातावरण में नमी आने का सिलसिला कम होने लगा है। शनिवार से बादल छंटने लगेंगे। आसमान साफ होने पर 20-21 नवंबर से रात का पारा गिरेगा। जिससे पारा वापस 12-13 डिग्री पर पहुंच जाएगा और ठंड़क बढ़ेगी।

रात का पारा सामान्य से तीन डिग्री अधिक :

शुक्रवार को राजधानी में बादलों की आवाजाही बनी रही। शाम को बूंदाबांदी हुई। अधिकतम तापमान 27.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जो सामान्य से एक डिग्री कम रहा। साथ ही गुरुवार के अधिकतम तापमान से 1.4 डिग्री कम रहा। न्यूनतम तापमान 17.5 डिग्री रिकार्ड किया गया। जो सामान्य से तीन डिग्री अधिक रहा। यह गुरुवार के न्यूनतम तापमान के मुकाबले एक डिग्री अधिक रहा। हवा की दिशा उत्तरी, उत्तर-पूर्वी है।

ऐसी रही पारे की चाल :

  • सुबह 05:30 बजे का तापमान 18.2 डिग्री सेल्सियस रहा।

  • सुबह 08:30 बजे का तापमान 19.8 डिग्री सेल्सियस रहा।

  • सुबह 11:30 बजे का तापमान 25.0 डिग्री सेल्सियस रहा।

  • दोपहर 2:30 बजे का तापमान 27.0 डिग्री सेल्सियस रहा।

  • शाम 5:30 बजे का तापमान 24.8 डिग्री सेल्सियस रहा।

  • सुबह 4:00 बजे का तापमान 21.0 डिग्री सेल्सियस रहा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.