नरसिंहपुर में सर्वाधिक वर्षा से बाढ़ की स्थिति
नरसिंहपुर में सर्वाधिक वर्षा से बाढ़ की स्थिति|Syed Dabeer-RE
मध्य प्रदेश

मप्र में तबाही का मंजर शुरू, नरसिंहपुर में सर्वाधिक वर्षा से बाढ़ की स्थिति

मध्य प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश से तबाही का मंजर शुरू हो गया है, मुख्यमंत्री ने कहा कि जल जमाव और बाढ़ की स्थिति होने पर प्रशासन को सूचित करें।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

मध्यप्रदेश। प्रदेश में जहां एक तरफ कोरोना से हाहाकार मचा हुआ है वही दूसरी तरफ प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश के कारण बुरा हाल है। प्रदेश के कई हिस्सों में लगातार बारिश होने के कारण शहर में पानी भर गया, वही इस बीच जहां लोग थे वहां ही फंस गए। हालात ये हैं कि सिर्फ 24 घंटे में इतनी बारिश हो गई है कि बाढ़ की स्थिति बन गई है।

बता दें कि मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर में भारी बारिश से लोग परेशान, प्रदेश में सबसे ज्यादा 12 इंच बारिश दर्ज की गई। नदी-नालों का पानी कॉलोनियों में घुसा। मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में 24 घंटे से लगातार हो रही भारी बारिश से तबाही का मंजर शुरू हो गया है। राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 26 बी नरसिंहपुर छिंदवाड़ा मार्ग ग्राम धुवघट के पास एक पुलिया टूट जाने से बंद हो गया है। जिससे दोनों तरफ वाहन खड़े हैं।

बता दें कि मौसम विभाग ने अगले दो दिन तक इसी तरह बारिश होने की संभावना जताई है। अगस्त के आरंभ से कई इलाकों में ज़बरदस्त मॉनसून वर्षा देखने को मिल रही है। यही कारण है कि कुछ हिस्सों में बाढ़ का संकट भी देखने को मिला है। बीते दो दिनों से पूर्वी मध्य प्रदेश में बारिश की गतिविधियां बढ़ी हैं। बीते 24 घंटों के दौरान पूर्वी मध्य प्रदेश में कई स्थानों पर मूसलाधार वर्षा दर्ज की गई।

वहीं होशंगाबाद में रात 12 बजे नर्मदा का जलस्तर 963 फीट पर रहा, छिंदवाड़ा में 2.7 इंच बारिश, नदियों का पानी सड़कों पर आने से सभी रास्ते बंद। वाहनों की लंबी कतार छिंदवाड़ा-नागपुर मार्ग पर गहरानाला उफान पर होने से रोड बंद रहा। नरसिंहपुर मार्ग पर सिंगोड़ी के समीप बने पेंच नदी के पुल के ऊपर पानी जाने के बाद इस मार्ग का भी संपर्क जिले से टूट गया। छतरपुर के आसपास के सभी रास्ते बंद रहे।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि छिंदवाड़ा, नरसिंहपुर, रायसेन में सर्वाधिक वर्षा, जल जमाव और बाढ़ की स्थिति होने पर प्रशासन को सूचित करें। प्रदेश के अनेक अंचलों में निरंतर हो रही वर्षा के चलते राज्य के लगभग सभी बांध भर गये हैं। तवा डैम, इंदिरा सागर, राजघाट, बरगी, मंडला और पेंच के गेट खोल दिये गये हैं। प्रभावित होने वाले क्षेत्रों में पहले से ही सुरक्षा के व्यापक प्रयास किये जा रहे हैं।

छिंदवाड़ा, नरसिंहपुर, रायसेन में सर्वाधिक वर्षा को देखते हुए एनडीआरएफ, एसडीआरएफ की सभी टीम को एलर्ट कर दिया गया है। आवश्यकता होने पर टीम का डिप्लॉयमेंट तुरंत होगा
मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा-

मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा जिन जिलों में भारी बारिश हो रही है वहा सभी बचाव और राहत के लिए टीमें तैयार हैं। व्यवस्थाएं सुचारू कर ली गई हैं। सभी नागरिकों से आग्रह है कि सतर्क रहें। जल जमाव और बाढ़ की स्थिति होने पर प्रशासन को सूचित करें। प्रदेश की टीमें पूरी तरह मुस्तैद हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co