फिर बदलेगा मौसम का मिजाज : नए साल की शुरूआत में तीव्र होंगे ठंड के तेवर

गुरुवार से पूर्वी मप्र का भी मौसम साफ होने लगेगा। साथ ही हवा का रुख उत्तरी बना रहने से अब रात के तापमान में गिरावट का सिलसिला शुरू होगा। आगामी दो दिनों तक कोहरा छाया रहेगा।
नए साल की शुरूआत में तीव्र होंगे ठंड के तेवर
नए साल की शुरूआत में तीव्र होंगे ठंड के तेवरSyed Dabeer Hussain - RE

भोपाल, मध्यप्रदेश। बीते दो-तीन दिनों से प्रदेश में बादल छाए रहने के साथ ही कहीं-कहीं बौछारें पड़ने से मौसम का मिजाज बदल गया था। मौसम विज्ञानियों ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के कमजोर पड़ने से बुधवार से पश्चिमी मध्यप्रदेश में बादल छंटने लगे हैं। गुरुवार से पूर्वी मप्र का भी मौसम साफ होने लगेगा। साथ ही हवा का रुख उत्तरी बना रहने से अब रात के तापमान में गिरावट का सिलसिला शुरू होगा। आगामी दो दिनों तक कोहरा छाया रहेगा। मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि उत्तर में काफी बर्फबारी के कारण प्रदेश में भी मौसम बदला है। 30 दिसंबर से प्रदेशभर में कोहरा छा जाएगा। 31 दिसंबर और 1 जनवरी को अच्छी ठंड रहेगी। दिन का तापमान काफी नीचे आएगा।

यहां छाएगा घना कोहरा :

मौसम विभाग के अनुसार जबलपुर, रीवा और शहडोल संभाग में रिमझिम बारिश हो सकती है। वहीं भोपाल, शाजापुर, आगर-मालवा, दतिया, शिवपुरी, मुरैना, भिंड, ग्वालियरए, श्योपुरकलां, राजगढ़, टीकमगढ़, छतरपुर, जबलपुर, छिंदवाड़ा, सतना और नरसिंहपुर जिलों में घना कोहरा छा सकता है।

यह सिस्टम बदलेंगे मौसम :

वर्तमान में पश्चिमोत्तर उत्तर प्रदेश के ऊपर पश्चिमी विक्षोभ समुद्र तल से 3.1 किमी की ऊंचाई पर एक चक्रवातीय परिसंचरण के रूप में ट्रफ के साथ अभी भी सक्रिय है। अन्य चक्रवातीय परिसंचरण पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार के ऊपर सक्रिय है, जिससे होकर पूर्वी मध्य प्रदेश और तेलंगाना तक ट्रफ लाइन भी गुजर रही है। 1- 2 जनवरी को दुर्बल पश्चिमी विक्षोभ के गुजरने के बाद 5 से 7 जनवरी के बीच अगले प्रभावशाली पश्चिमी विक्षोभ की संभावना बनी हुई है, जिससे मध्य प्रदेश में फिर से वर्षा/ तड़ित झंझावात का मौसम सम्भावित है।

लुढ़केगा पारा, बढ़ेगी ठंड :

मौसम परिस्थितियों के कारण 29-30 दिसंबर के दौरान प्रदेश में कहीं-कहीं से कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा की संभावना है। पूर्वी मध्यप्रदेश के कई हिस्सों में न्यूनतम तापमान सामान्य से 4 से 8 डिग्री सेल्सियस एवं पश्चिमी मध्यप्रदेश कई हिस्सों में 5 डिग्री सेल्सियस अधिक रहे। अगले 24 घंटों के दौरान मध्य भारत के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान में कोई महत्वपूर्ण बदलाव की संभावना नहीं है। उसके बाद 31 दिसंबर व 1 जनवरी को 3 से 5 डिग्री सेल्सियस गिरने की संभावना है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co