राजधानी दिल्ली के पास होने के बाद भी ग्वालियर क्यों पिछड़ा : सिंधिया
राजधानी दिल्ली के पास होने के बाद भी ग्वालियर क्यों पिछड़ा : सिंधियाSocial Media

राजधानी दिल्ली के पास होने के बाद भी ग्वालियर क्यों पिछड़ा : सिंधिया

राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर के विकास को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि राजधानी दिल्ली के इतना करीब होते हुए भी हमारा शहर विकास मेें आखिर क्यों पिछड़ गया?

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर के विकास को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि राजधानी दिल्ली के इतना करीब होते हुए भी हमारा शहर विकास मेें आखिर क्यों पिछड़ गया। वे विक्की फैक्ट्री स्थित एक मैरिज गार्डन में आयोजित विजन डॉक्यूमेंट्स पर आयोजित परिचर्चा में मुख्यमंत्री के रूप में बोल रहे थे। इस मौके पर उन्होंने विकास के लिए प्रतिबद्ध रहने, स्वच्छता व ट्रेफिक व्यवस्था में सहयोगी बनने एवं ग्वालियर के मान-सम्मान की रक्षा का हाथ खड़े कर संकल्प दिलाया।

ग्वालियर के विकास के लिए इस परिचर्चा में 40 विभिन्न व्यापारिक, सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों ने भाग लिया। इस अवसर पर सिंधिया ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जब तीन दिन पहले ग्वालियर आए थे, उस वक्त ग्वालियर के विजन डाक्यूमेंट पर तीन घंटे तक गहन चर्चा हुई थी।

एलीवेटेड रोड बदली तस्वीर :

उन्होंने कहा कि विगत काल में वे भले ही गुना-शिवपुरी से सांसद रहे लेकिन ग्वालियर का विकास उनकी प्राथमिकता रही। ग्वालियर के विकास के लिए स्वर्णरेखा पर एलिविटेड रोड, शहर में वेस्टर्न बायपास रिंग रोड, हैरिटेज को संरक्षित करने के साथ महाराज बाड़े का सौंदर्यीकरण, तीन गैस बेस्ड स्टेशनों के आधार पर बिजली की आपूर्ति, 240 करोड़ की लागत से रेल्वे स्टेशन का पुनरोद्धार, ढाई सौ करोड़ की लागत से चंबल से ग्वालियर पानी लाने एवं एक हजार बिस्तरों के अस्पताल जैसी तमाम योजनाओं की दिशा में कार्य हो रहा है।

सिंधिया ने यह कहा भी कि आज सोमवार के वर्किंग डे के दिन, सुबह 11 बजे के व्यस्तता काल में और वह भी शहर से दस किमी दूर कार्यक्रम में इतनी भारी संख्या में नगर के सभी संगठनों की उपस्थिति से व्यक्त होता है कि ग्वालियर के विकास के लिए समर्पित इस आयोजन को सफल बनाने के लिए काफी मेहनत की। उन्होंने कहा कि महानगर के विकास की अधोसंरचना पर जमीनी काम पूरा होने के बाद हमें औद्योगीकरण एवं पर्यटन के क्षेत्र में शहर को राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय पटल पर उभारने की दिशा में तेजी से कार्य करना है। ग्वालियर के विकास के लिए स्वर्णरेखा पर एलिविटेड रोड, शहर में वेस्टर्न बायपास रिंग रोड, हैरिटेज को संरक्षित करने के साथ महाराज बाडे का सौंदर्यीकरण, तीन गैस बेस्ड स्टेशनों के आधार पर बिजली की आपूर्ति, 240 करोड़ की लागत से रेल्वे स्टेशन का पुनरोद्धार, ढाई सौ करोड़ की लागत से चंबल से ग्वालियर पानी लाने एवं एक हजार बिस्तरों के अस्पताल जैसी तमाम योजनाओं की दिशा में कार्य हो रहा है।

व्यवसायी मुकेश अग्रवाल ने कहा कि हम सभी भी आगे बढ़कर अपनी सामर्थ्य अनुसार ग्वालियर के विकास में अपना योगदान दें। प्रस्तावना मप्र चेम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष विजय गोयल ने रखी। इस मौके पर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, पूर्व मंत्री नारायण सिंह कुशवाह, पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल केट के प्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र जैन, भाजपा अध्यक्ष कमल माखीजानी,कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह एवं स्मार्टसिटी की सीईओ जयति सिंह भी विशेष रूप से मंचासीन थे। इस मौके पर भाजपा नेता मोहन सिंह राठोर, सुरेन्द्र शर्मा, अशोक शर्मा सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co