जंगली हाथियों ने शहर का किया रूख, तहस-नहस किये खेत खलिहान
जंगली हाथियों ने शहर का किया रूख, तहस-नहस किये खेत खलिहान|Afsar Khan
मध्य प्रदेश

उमरिया : जंगली हाथियों ने शहर का किया रूख, तहस-नहस किये खेत खलिहान

रविवार और सोमवार की दरमियानी रात 2 बजे के आस-पास जंगली हाथियों के झुण्ड ने शहर का रूख किया। इस दौरान झुण्ड ने ताण्डव भी मचाया, सूचना मिलने के बाद पार्क का अमला हाथियों को जंगल की ओर खदेड़ने में जुटा।

Afsar Khan

हाइलाइट्स :

  • उत्पात के साथ किसानों की फसलें की तबाह

  • कई अन्नदाताओं के खेत भी उजाड़े

  • रेस्क्यू में जुटी पार्क की पांच टीमें

उमरिया, मध्य प्रदेश। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में बीते कई वर्षाे से झारखण्ड, उड़ीसा व छत्तीसगढ़ के 30 से अधिक हाथी रेस्क्यू कर लाये गये थे, जो कभी पार्क के कोर, बफर जोन के अलावा पार्क से सटे ग्रामीण क्षेत्रों में उत्पात मचाया करते थे, बीते माहों में एक हाथी की करंट की चपेट में आने से मौत हो गई थी। हाथियों के झुण्डों ने अब शहर का रूख कर लिया है, रविवार और सोमवार की दरमियानी रात 2 बजे के आस-पास जंगली हाथियों के झुण्ड ने शहर का रूख किया। इस दौरान झुण्ड ने ताण्डव भी मचाया, सूचना मिलने के बाद पार्क का अमला हाथियों को जंगल की ओर खदेड़ने में जुटा हुआ है।

शहर आ पहुंचे उत्पाती हाथी :

3 झुण्डों में घूम रहे उत्पाती जंगली हाथी, जिनकी संख्या 32 के आस-पास बताई जा रही है, जो कि अलग-अलग झुण्ड में हैं, नगरीय क्षेत्र के वार्ड क्रमांक- 2 लालपुर तक आ पहुंचे, इससे पहले धमोखर होते हुए हाथियों का झुण्ड शहर से लगे हुए बडवार, जमुनिहा, कुआं आदि ग्रामीण क्षेत्रो में भी जमकर उत्पात मचाया, गनीमत यह रही कि किसी भी प्रकार की जनहानि नहीं हुई।

खेत-फसलें की तबाह :

शहर से लगे ग्रामीण क्षेत्रों में हाथियों ने रिहायशी इलाकों के पास खेतों को तबाह करने के साथ ही खड़ी फसलों को भी चौपट कर दिया, शहर के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी जंगली हाथियों के विचरण होने के चलते दहशत बनी हुई है। कोरोना ने पहले ही किसानों को तोड़ दिया था, अब जंगली हाथियों का कहर भी फसलों को बर्बाद कर रहा है। उत्पाती हाथियों ने कई किसानों के पूरे खेत तबाह कर दिये, तो कईयों की खड़ी फसल को बर्बाद कर दिया।

रेस्क्यू में जुटी 5 टीमें :

रविवार व सोमवार की दरमियानी रात से ही हाथियों के शहर की ओर रूख करने के बाद से पार्क की टीम लगातार हाथियों को जंगल की ओर खदेड़ने में जुटी हुई है। 5 टीमें जंगली हाथियों को जंगल की ओर खदेड़ने में पार्क प्रबंधन के द्वारा रेस्क्यू दल के साथ लगाई गई है। जमुनिहा व लालपुर के 13 से 14 किसानों की पूरी तरह से जंगली हाथियों ने तबाह कर दी।

100 मीटर खदेड़ा :

ग्रामीणों ने बताया कि जैसे ही उन्हें हाथियों के खेतों की ओर पहुंचने की खबर मिली तो, वह अपने खेतों के पास पहुंचे, जहां जंगली हाथियों के झुण्डों ने उन्हें 100 से 150 मीटर तक खदेड़ दिया, बमुश्किल वह जान बचाकर भागे, सोमवार की सुबह होते ही हाथियों का झुण्ड जंगल की ओर चला गया, देर शाम को हाथियों के झुण्डों को पिपरिया के पास विलाईकाप तालाब के पास देखा गया है, जो फिर से लालपुर की ओर लौट रहे हैं, वहीं रेस्क्यू अमला लगातार हाथियों को जंगल की ओर खदेड़ने में जुटा हुआ है।

हो रहा मुआवजे का प्रकरण तैयार :

जंगली हाथियों के झुण्ड ने लालपुर एवं जमुनिया ग्राम के 13 किसानों की धान की फसल को क्षति पहुंचाई है। कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव द्वारा संबंधित अधिकारियों को तत्काल सर्वे कर मुआवजा के प्रकरण तैयार करने के निर्देश दिए गए। अनुविभागीय अधिकारी बांधवगढ़ अनुराग सिंह ने बताया कि पटवारी द्वारा सर्वे कर 13 किसानों के मुआवजा के प्रकरण तैयार कर स्वीकृति हेतु तहसीलदार बांधवगढ़ को भेज दिए गए हैं।

इनका कहना है :

धमोखर होते हुए जंगली हाथियों का झुण्ड लालपुर सहित अन्य स्थानों पर पहुंचा था, 5 रेस्क्यू टीमें हाथियों को जंगल में खदेडऩे में जुटी हुई हैं।

अनिल शुक्ला, एसडीओ, बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व, उमरिया

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co