भाजपा की वापसी से साथ राज्यसभा सीट से कांग्रेस का नुकसान तय
भाजपा की वापसी से साथ राज्यसभा सीट से कांग्रेस का नुकसान तय|Social Media
मध्य प्रदेश

भाजपा की वापसी के साथ राज्यसभा सीट से कांग्रेस का नुकसान तय

मध्यप्रदेश से कमलनाथ सरकार की विदाई और भाजपा की वापसी के साथ राज्यसभा सीट से कांग्रेस का नुकसान होना लगभग तय है।

Aditya Shrivastava

राज एक्सप्रेस। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 15 महीने तक सरकार चलाने के बाद शुक्रवार को इस्तीफा दे दिया। उनके इस्तीफे के साथ ही भाजपा के लिए सरकार बनाने का दावा पेश करने का रास्ता साफ हो गया है। प्रदेश में भाजपा की सरकार आने के साथ देखना होगा कि हाल ही में आने वाले राज्यसभा चुनाव में क्या कांग्रेस का नुकसान होना तय है।

मध्य प्रदेश की तीन राज्यसभा सीटों पर चार प्रत्याशी हैं। इनमें भारतीय जनता पार्टी से ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी तो कांग्रेस से दिग्विजय सिंह और फूल सिंह बरैया हैं। माना जा रहा है दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया राज्यसभा में जगह बना लेंगे पर मप्र की तीन सीटों में से एक सीट पर प्रत्याशियों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। मध्य प्रदेश की सत्ता से कमलनाथ की विदाई होने के बाद कांग्रेस की दो राज्यसभा सीटें जाती दिख रही हैं, जबकि बीजेपी एक बार फिर अपनी दोनों सीटों को बचाए रखने में सफल नजर आ रही है।

आपको बता दें कि, पहले भी भाजपा के पास मध्यप्रदेश से राज्यसभा में दो सीटें और कांग्रेस के पास एक सीट थी। जिनमें कांग्रेस से दिग्विजय सिंह और भाजपा से प्रभात झा और सत्यनारायण जटिया सदन के सदस्य थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम

Raj Express
www.rajexpress.co