Sheopur में आयोजित महिला स्व-सहायता समूह सम्मेलन
Sheopur में आयोजित महिला स्व-सहायता समूह सम्मेलनSocial Media

Sheopur में आयोजित महिला स्व-सहायता समूह सम्मेलन, जानें PM मोदी और CM शिवराज के भाषण की खास बातें...

मध्यप्रदेश। आज श्योपुर के कराहल में आयोजित महिला स्व-सहायता समूह में PM मोदी का राज्यपाल मंगुभाई पटेल और CM शिवराज एवं अन्य गणमान्य जनप्रतिनिधियों ने आत्मीय स्वागत किया।

मध्यप्रदेश। आज भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने 72वें जन्मदिवस के अवसर पर देश काे चीता युग की वापसी का उपहार दिया है। पीएम मोदी ने अपने जन्मदिवस पर नामीबिया से लाए गए चीतों को मध्यप्रदेश के श्योपुर स्थित औपचारिक तौर पर छोड़ा हैं। इसके बाद मध्यप्रदेश के श्योपुर में महिला स्व-सहायता समूह सम्मेलन आयोजित किया, श्योपुर के कराहल में आयोजित महिला स्व-सहायता समूह सम्मेलन में माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का महामहिम राज्यपाल मंगुभाई पटेल और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं अन्य गणमान्य जनप्रतिनिधियों ने आत्मीय स्वागत किया।

प्रधानमंत्री द्वारा श्योपुर में महिला स्व-सहायता समूहों को संबोधन :

श्योपुर में 'स्वयं सहायता समूह सम्मेलन' में लोगों के स्नेह से अभिभूत हूं : पीएम मोदी

इस सम्मेलन में पीएम मोदी ने कहा कि, मध्य प्रदेश के श्योपुर में 'स्वयं सहायता समूह सम्मेलन' में लोगों के स्नेह से अभिभूत हूं। विश्वकर्मा जयंती पर स्वयं सहायता समूहों का इतना बड़ा सम्मेलन, अपने आप में बहुत विशेष है, मैं आप सभी को, सभी देशवासियों को विश्वकर्मा पूजा की भी शुभकामनाएं देता हूं। मोदी बोले- मुझे आज इस बात की भी खुशी है कि भारत की धरती पर अब 75 साल बाद चीता फिर से लौट आया है, अब से कुछ देर पहले मुझे कुनो नेशनल पार्क में चीतों को छोड़ने का सौभाग्य मिला।

मोदी बोले- "2014 के बाद से ही देश, महिलाओं की गरिमा बढ़ाने, महिलाओं के सामने आने वाली चुनौतियों के समाधान में जुटा हुआ है। शौचालय के अभाव में जो दिक्कतें आती थीं, रसोई में लकड़ी के धुएं से जो तकलीफ होती थी, वो आप अच्छी तरह जानती हैं" पिछली शताब्दी के भारत और इस शताब्दी के नए भारत में एक बहुत बड़ा अंतर हमारी नारी शक्ति के प्रतिनिधित्व के रूप में आया है, आज के नए भारत में पंचायत भवन से लेकर राष्ट्रपति भवन तक नारीशक्ति का परचम लहरा रहा है। जिस भी सेक्टर में महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ा है, उस क्षेत्र में, उस कार्य में सफलता अपने आप तय हो जाती है। स्वच्छ भारत अभियान की सफलता इसका बेहतरीन उदाहरण है, जिसको महिलाओं ने नेतृत्व दिया है।

महिलाओं का आर्थिक सशक्तिकरण उन्हें समाज में भी उतना ही सशक्त बनाता है। हमारी सरकार ने बेटियों के लिए बंद दरवाजे को खोल दिया है। बेटियां अब सैनिक स्कूलों में भी दाखिला ले रही हैं, पुलिस कमांडो भी बन रही हैं और फौज में भी भर्ती हो रही हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

पीएम मोदी ने भाषण में कही ये बातें-

💠 मेरा प्रयास रहता है कि अपने जन्मदिन पर मां के पास पहुंचकर उनका चरण स्पर्श कर आशीर्वाद प्राप्त करूं। आज मां के पास तो नहीं जा सका, लेकिन आप जैसी हजारों माताओं का आशीर्वाद मुझे मिला है, यह देखकर मेरी मां ज्यादा खुश होंगी।

💠 आज मुझे इस बात की खुशी है कि 70 साल बाद देश में चीता पुन: लौट आया है, नामीबिया से आये चीते के रूप में विशिष्ट अतिथियों का हम सब हृदय से स्वागत करें। मध्यप्रदेश के मेरे भाइयों-बहनों, भारत सरकार ने आपको यह चीता इसलिए भेंट किया है, क्योंकि हमारा विश्वास आप पर ज्यादा है, मध्यप्रदेश ने कभी मेरे भरोसे पर आंच नहीं आने दी है और मैं जानता हूं कि श्योपुर के भाई-बहन भी मेरे विश्वास को टूटने नहीं देंगे।

💠 हाल में संपन्न हुए पंचायत चुनावों में पूरे मध्यप्रदेश में लगभग 17000 बहनें जनप्रतिनिधि के रूप में चुनी गई हैं। यह बड़े बदलाव का संकेत है, बड़े परिवर्तन का आह्वान है। आजादी की लड़ाई में सशस्त्र संघर्ष से लेकर सत्याग्रह तक देश की बेटियां किसी से पीछे नहीं रहीं हैं। आप स्वसहायता समूह की मेरी बहनों, आपने कोरोना काल में संकट की उस घड़ी में मानव मात्र की सेवा के लिए लाखों मास्क बनाये और उसके पश्चात आजादी के 75वें अमृत वर्ष में आपने असंख्य तिरंगे बनाकर हम सबको गौरवान्वित किया हैं।

💠 मध्यप्रदेश में अब तक 40 लाख परिवारों को नल से जल पहुंचाया जा चुका है। मैं इस अभियान की सफलता का श्रेय आप बहनों को देता हूं, 3 हजार से अधिक नल जल परियोजनाओं का प्रबंधन आप स्वसहायता समूह की बहनों द्वारा सफलतापूर्वक किया जा रहा है।

💠 मध्यप्रदेश में जनजाति बहनों द्वारा बनाए बेहतरीन उत्पादों की बहुत अधिक प्रशंसा भी होती रही है। पीएम कौशल विकास योजना के तहत जनजाति क्षेत्रों में नए स्किलिंग सेंटर से इस प्रकार के प्रयासों को और बल मिलेगा।

💠 एक जिला एक उत्पाद के माध्यम से हर जिले के उत्पाद को बड़े मार्केट तक पहुंचाने का प्रयास सरकार कर रही है। मुझे खुशी है कि, शिवराज सिंह चौहान आपके उत्पादों को बड़े बाजारों तक पहुंचाने के लिए विशेष प्रयास कर रहे हैं।

सीएम शिवराज ने भाषण में कही ये बातें-

👉 पात्र लाभार्थियों को लाभ देने के लिए आज शिविर लगाए जा रहे हैं। रक्तदान शिविर और वृक्षारोपण के कार्यक्रम हो रहे हैं। दिव्यांग भाई-बहनों को उपकरणों का वितरण हो रहा है, सारा प्रदेश आज आनंद और प्रसन्नता से झूम रहा है।

👉 अब चीता मध्यप्रदेश की धरती पर आए हैं। चीतों का आना साधारण घटना नहीं है। "प्राणियों में सद्भावना हो" यह भारत का मंत्र है। उसको साकार प्रधानमंत्री ने किया है।

👉 आज प्रधानमंत्री मध्यप्रदेश की धरती पर आये हैं। आज हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री का जन्मदिन है और अपने जन्मदिन पर चीते के रूप में ऐतिहासिक उपहार लेकर आये हैं। मैं संपूर्ण मध्यप्रदेश की ओर से उनका अभिनंदन करता हूं, शुभकामनाएं देता हूं।

👉 चीता अगर आए हैं तो चीतों को देखने के लिए बड़ी संख्या में पर्यटक आएंगे। पर्यटक आएंगे तो गाड़ियां लगेगी, होटल और रेस्टोरेंट्स चलेंगे, कई तरह का रोजगार पैदा होगा। आज इस घटना से जनता की तकदीर बदलेगी और क्षेत्र की तस्वीर बदलेगी।

👉 मध्यप्रदेश में लाडली लक्ष्मी जैसी योजनाओं के कारण मध्यप्रदेश में बेटियों की जन्मदर में वृद्धि हुई है। प्रधानमंत्री ने बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ जैसी योजना के माध्यम से बेटियों को नये आत्मविश्वास से भरने का काम किया है।

👉 जो होटल और रिसॉर्ट बनाएंगे और जनता और पर्यटकों की सुविधा के लिए अधोसंरचना बनाएंगे, हम उनको विशेष सुविधाएं देने का काम करेंगे। स्व सहायता समूह की बहनों से मैं कहना चाहता हूं कि रोजगार का एक और अवसर सामने है। आप दीदी कैफे चलाती हैं, तो अब केवल एक दीदी कैफे नहीं चलेगा, इस जिले में कई दीदी कैफे चल सकेंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co