ग्वालियर : वर्क ऑर्डर जारी नहीं हुआ, ठेकेदार कैसे लगाएगा म्युजिकल फाउंटेन
वर्क ऑर्डर जारी नहीं हुआ, ठेकेदार कैसे लगाएगा म्युजिकल फाउंटेनRaj Express

ग्वालियर : वर्क ऑर्डर जारी नहीं हुआ, ठेकेदार कैसे लगाएगा म्युजिकल फाउंटेन

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : स्मार्ट सिटी सीईओ ने किया सावरकर सरोवर का निरीक्षण। पत्थर लगाने सहित अन्य कार्य 31 दिसंबर तक पूर्ण करने के दिए निर्देश।

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। स्मार्ट सिटी द्वारा सावरकर सरोवर का जीर्णोद्धार किया जा रहा है। यह कार्य काफी लेट हो चुका है और इसे लेकर सांसद विवेक नारायण शेजवलकर सहित अन्य जनप्रतिनिधि नाराजगी जता चुके हैं। म्युजिकल फाउंटेन लगाने के लिए कलकत्ता की कंपनी को टेण्डर मिला है लेकिन अब तक वर्क ऑर्डर जारी नहीं हुआ है जिसके चलते लगातार काम में देरी हो रही है। सोमवार शाम को स्मार्ट सिटी सीईओ जयति सिंह द्वारा कार्य स्थल का निरीक्षण कर विभिन्न दिशा निर्देश जारी किए गए। इस दौरान फाउटेंन लगाने वाली कंपनी के ठेकेदार एवं स्मार्ट सिटी अधिकारी उपस्थित थे।

वीर सावरकर सरोवर के जीर्णोद्धार को लेकर कई बार शिकवे शिकायतें हो चुकी हैं। यहां म्युजिकल फाउंटेन लगाने के लिए किए जा रहे टेण्डर को लेकर भी कई बार स्मार्ट सिटी की किरकिरी हो चुकी है। पहले यहां चाईनीज कंपनी को ठेका दिया जा रहा था जिसे लेकर सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने आपत्ति दर्ज कराई थी। इसके बाद भी हालातों में किसी तरह का सुधार नहीं हुआ। जिन अधिकारियों को वीर सावरकर सरोवर के जीर्णोद्धार की जिम्मेदारी सौंपी गई है उनके द्वारा लगातार गुणवत्ताहीन कार्य कराए गए। यही वजह रही है कि शिकवे शिकायतों की फेर हिस्त लंबी होती चली गई और कार्य प्रभावित हुआ। प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी के कार्यों की धीमी गति को लेकर नाराजगी जाहिर की थी। इसके बाद अधिकारी हरकत में आए और अधूरे कार्यों को समय सीमा में पूर्ण कराने की कवायद शुरू की गई। सोमवार शाम 5.30 बजे स्मार्ट सिटी सीईओ जयति सिंह ने कटोराताल का निरीक्षण कर कार्य की धीमी गति पर नाराजगी जाहिर की। यहां सिविल वर्क भी अभी खत्म नहीं हुआ है जिसे लेकर उन्होंने प्रभारी अधिकारी को दिशा निर्देश दिए। इस दौरान म्युजिकल फाडंटेन का ठेका लेने वाली कंपनी के पदाधिकारी भी मौजूद थे। उन्होनें वास्तु स्थिति की जानकरी दी। सवाल यह है कि एक तरफ अधिकारी म्युजिकल फाउटेंन लगाने के लिए दिशा निर्देश दे रहे हैं लेकिन कंपनी को वर्क ऑर्डर भी जारी नहीं किया गया। ऐसे में कंपनी कब काम शुरू करेगी और कब काम खत्म होगा यह समझ से परे है।

पानी खत्म हो जाएगा तो कैसे होगी पूर्ति :

निरीक्षण के दौरान अधिकारियों ने कहा कि कटोरा ताल में पानी कम होता रहता है। इसकी पूर्ति के लिए समर सीवल पंप लगाने की स्वीकृति दी जाए तो बेहतर होगा। स्मार्ट सिटी सीईओ ने पंप लगाने पर सहमति जताई। साथ ही बाकी बचा सिविल वर्क एक महीने से पहले पूरा करने के निर्देश भी दिए। इस दौरान अन्य बिंदुओं को लेकर भी चर्चा की गई।

अधिनस्त अमला नहीं कर रहा सहयोग, कैसे होगा काम :

स्मार्ट सिटी सीईओ द्वारा कार्य में तेजी लाने के प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन सिफारिश के दम पर स्मार्ट सिटी में पैर जमाने वाले अधिकारियों की लेट लतीफी एवं भ्रष्टाचार के चलते हालात विपरीत हुए हैं। जब तक सीईओ अधिनस्त अमले का सख्त हिदायत देकर कार्यवाही का दण्डा नहीं चलाएंगी तब तक हालातों में बदलाव संभव नहीं है। यहां काम करने वाले ठेकेदार भी मनमानी कर रहे हैं जिससे कार्य की गुणवत्ता भी प्रभावित हो रही है।

इस तरह विकसित हो रहा है सावरकर सरोवर :

  • सावरकर सरोवर में सप्ताह के 6 दिन म्युजिकल हेरीटेज थीम पर 30 मिनिट का लेजर शो किया जायगा।

  • कार्यक्रम थीम आधारित रहेगा जो पुरातन और नूतन के अदभुत समागम का उदाहरण पेश करेगा।

  • इसको लगाने वाली कंपनी को ही 5 साल तक इसका मेंटिनेंस और इसको आपरेट करने का जिम्मा रहेगा।

  • कटोरा ताल के बीच स्थित वीर सावरकर जी की प्रतिमा को भी अत्याधुनिक प्रकाश व्यवस्था के साथ रोशन किया जायेगा।

  • सैलानी यहां पूरे परिवार के साथ आकर मनोरंजन कर सकेंगे।

  • फाउंटेन को लगाने से पहले जो भी बचे हुये कार्य है उन्हें नये साल से पहले पूर्ण किया जायगा।

  • लोग अंदर आकर म्युजिकल फाउटेंन के लेजर शो को देखें इसके लिए विशेष व्यवस्था करना आवश्यक है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co