Raj Express
www.rajexpress.co
पैरालिसिस होने के बावजूद पिता नहीं बने बोझ
पैरालिसिस होने के बावजूद पिता नहीं बने बोझ|Sonu Vishwkarma
मध्य प्रदेश

छतरपुर:जिले में विश्व आत्महत्या निषेध दिवस कार्यक्रम सम्पन्न

छतरपुर, मध्य प्रदेश: जिला प्रबंधक कार्यालय में विश्व आत्महत्या निषेध दिवस के अंतर्गत अल्पविराम कार्यक्रम सम्पन्न कराया गया, जिसमें अवसाद से उबरने, सकारात्मकता बढ़ाने पर लोगों ने अपने अनुभव साझा किए।

Sonu Vishwkarma

राज एक्सप्रेस। भारत संचार निगम लिमिटेड के जिला प्रबंधक कार्यालय में विश्व आत्महत्या निषेध दिवस के अंतर्गत 'अल्पविराम कार्यक्रम' सम्पन्न कराया गया, जिसमें अवसाद से उबरने तथा सकारात्मकता बढ़ाने पर लोगों ने अपने अनुभव साझा किए। मास्टर ट्रेनर अध्यात्म लखनलाल असाटी ने कहा कि, प्रसिद्ध वैज्ञानिक एडीसन की अनुसंधान प्रयोगशाला आग से जलकर खाक हो गई थी पर 67 वर्ष की अवस्था में उन्होंने इससे निराश होने की जगह कहा था कि, 'आग के साथ मेरी सारी गलतियां भी जल गई हैं और कल से मैं नई शुरूआत करूंगा।'

टीडीएम कामेश्वर सिंह का कहना:

टीडीएम कामेश्वर सिंह ने कहा कि, बीएसएनएल के कर्मचारियों के लिए अल्पविराम अत्यंत आवश्यक है, जिससे उनके जीवन का उत्साह बढ़े और वे सकारात्मक सोच के साथ काम करें। जेटीओ मार्केटिंग सचिन खेरा ने कहा कि, जीवन में उन्हें सर्वाधिक प्रेरणा अपने पिता से प्राप्त हुई है। आर्थिक तंगी के बावजूद उन्होंने पूरे परिवार को एकजुट रखा और सभी पर ध्यान दिया।