कांग्रेस में जान फूंकने यूथ कांग्रेस के प्रशिक्षण शिविर की शुरुआत
कांग्रेस में जान फूंकने यूथ कांग्रेस के प्रशिक्षण शिविर की शुरुआतChandrashekhar Chouhan

कांग्रेस में जान फूंकने यूथ कांग्रेस के प्रशिक्षण शिविर की शुरुआत

भोपाल, मध्य प्रदेश : पुरानी रणनीति पर लौटी कांग्रेस, कार्यकर्ताओं को तैयार करने में लगी। यूथ कांग्रेस के प्रशिक्षण शिविर में दिग्विजय बताएंगे शिवराज सरकार की कमियां।

भोपाल, मध्य प्रदेश। प्रदेश में कांग्रेस का संगठनात्मक ढांचा पिछले कुछ सालों में लगभग समाप्त हो गया है। निचले स्तर पर कांग्रेस के पास कार्यकर्ताओं के नाम पर इक्का-दुक्का ही शेष रह गए हैं।

संगठन में दम न होने की वजह से कांग्रेस न केवल उपचुनाव हारी है, बल्कि भाजपा सरकार के खिलाफ मजबूती से खड़ी भी नहीं हो पा रही। नतीजतन कांग्रेस को अपनी पुरानी रणनीति पर लौटना पड़ रहा है और संगठन में जान फूंकने के लिए कार्यकर्ताओं से संवाद करने की शुरुआत की गई है। इसकी शुरुआत यूथ कांग्रेस के प्रशिक्षण शिविर से की जा रही है। यूथ कांग्रेस का प्रशिक्षण शिविर धार जिले के मोहनखेड़ा में शुरू हो गया है।

साल 2003 में हुए चुनाव के बाद उमा भारती सरकार बनने के साथ ही कांग्रेस ने अपने कार्यकर्ताओं को भगवान भरोसे छोड़ना शुरू कर दिया था। बीते 15 सालों में कांग्रेस ने अपने जमीनी कार्यकर्ताओं की सुध नहीं ली, जिसकी वजह से वे कई विधानसभा चुनाव हारती रही। सन 2018 में विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की सरकार बनी, लेकिन इसके पीछे संगठन की भूमिका नहीं थी, बल्कि भाजपा की कुछ गलतियां और लोगों की सरकार के प्रति नराजगी सरकार बनने की वजह थी। कांग्रेस की सरकार बनने के बाद भी सरकार में शामिल और संगठन के लोगों ने कार्यकर्ताओं की नहीं सुनी। इसके परिणाम यह हुए कि सरकार तो गिरी ही मध्यम और निचले स्तर पर कांग्रेस का सफाया हो गया। शहरों से लेकर ग्रामीण स्तर तक वर्तमान स्थिति में कांग्रेस के पास कार्यकर्ता नहीं हैं।

कार्यकर्ताओं के संकट से जूझ रही कांग्रेस को उबारने के लिए प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कवायद शुरू की है। इसकी पहल नव-निर्वाचित यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया के माध्यम से करवाई जा रही है। विक्रांत भूरिया ने यूथ कांग्रेस का सबसे पहला प्रशिक्षण शिविर धार जिले के मोहनखेड़ा में आयोजित किया है। तीन दिन के इस प्रशिक्षण शिविर में कई सत्र होंगे और इन सत्रों में कांग्रेस की रीति नीति, विचारधारा, कार्यप्रणाली की जानकारी कार्यकर्ताओं को दी जाएगी। इसके अलावा कार्यकर्ताओं से भी फीडबैक लिया जाएगा। सबसे महत्वपूर्ण बात इस प्रशिक्षण शिविर में यह रहेगी बड़े नेताओं और जमीनी युवा कार्यकर्ताओं के बीच संवाद होगा।

दिग्विजय बताएंगे शिवराज सरकार की कमियां :

शिविर के दौरान एक महत्वपूर्ण सत्र यह भी होगा, जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को शिवराज सरकार की कमियां बताएंगे। इन कमियों में न केवल राजनीति कमियां शामिल होंगी, बल्कि प्रशासनिक कमियां भी बताई जाएंगी। इससे यह स्पष्ट होता है कि आने वाले समय में यूथ कांग्रेस के माध्यम से प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और दिग्विजय सिंह शिवराज सरकार को घेरने की तैयारी में लगे हैं।

कांग्रेस की और भी है तैयारी :

कमलनाथ और दिग्विजय सिंह की जोड़ी ने प्रदेश में कांग्रेस के संगठनात्मक ढांचे को मजबूत करने के लिए रणनीति तैयार की है, जिसके तहत एनएसयूआई, यूथ कांग्रेस, महिला विंग, अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ, किसान प्रकोष्ठ, व्यापारी प्रकोष्ठ, अल्प प्रकोष्ठ सहित अन्य प्रकोष्ठों को न केवल सक्रिय किया जाएगा, बल्कि इन सबके प्रशिक्षण शिविर आयोजित किए जाएंगे। जिसमें इन प्रशिक्षण शिविरों के माध्यम से कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए तैयार किया जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co