Raj Express
www.rajexpress.co
दबंगों के आतंक का विरोध करने पर युवक की हत्‍या
दबंगों के आतंक का विरोध करने पर युवक की हत्‍या|Pankaj Yadav
मध्य प्रदेश

छतरपुर: दबंगों के आतंक का, विरोध करने पर युवक की हत्‍या- 2 के खिलाफ मामला दर्ज

सटई, छतरपुर: मोटर साइकिल से लौट रहे 3 युवकों पर सरपंच पति और उसके 2 बेटों व एक अन्य व्यक्ति ने जानलेवा हमला किया, इस घटना में घायल एक युवक की ग्वालियर ले जाते वक्त मौत हो गई, जबकि दो लोग घायल हैं।

Pankaj Yadav

राज एक्‍सप्रेस। दबंगों की गतिविधियों के खिलाफ आवाज उठाने की कीमत एक युवक को अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। निमंत्रण से मोटर साइकिल से लौट रहे 3 युवकों पर सरपंच पति और उसके दो बेटों के अलावा एक अन्य व्यक्ति ने जानलेवा हमला कर दिया। इस घटना में घायल एक युवक की ग्वालियर ले जाते वक्त मौत हो गई, जबकि दो लोग घायल हैं। सटई थाने में मृतक द्वारा मृत्यु पूर्व बयान भी दिए गए हैं। पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा कायम कर जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के मुताबिक :

सटई थाना क्षेत्र के ग्राम सिलावट के रहने वाले भागवली पटेल पुत्र हीरालाल पटेल अपने साथी देवीदीन पटेल व पप्पू कोरी के साथ बीती शाम करीब 4 बजे कदवां निमंत्रण में गए थे। निमंत्रण करने के बाद तीनों मोटर साइकिल से अपने घर लौट रहे थे, तभी ठाकुर बाबा तिगड्डा के पास सिलावट निवासी बहादुर सिंह व इन्दू उर्फ इन्द्राज पटेल ने बहादुर सिंह के दो बेटों के साथ मिलकर भागवली, देवीदीन तथा पप्पू के ऊपर लाठियों से हमला कर दिया। इस घटना में तीनों लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को परिजनों द्वारा जिला अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन भागवली की हालत नाजुक होने के कारण उसे जिला अस्पताल से ग्वालियर रिफर किया गया। मगर झांसी के पास उसकी मौत हो गई। पुलिस ने बहादुर सिंह, इन्दू उर्फ इन्द्राज पटेल के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपियों को पुलिस ने दबोच लिया है।

यह है मामला :

करीब एक सप्ताह पहले बहादुर सिंह भागवली के घर गया और कुछ सामान लेकर चला आया। सूत्र बताते हैं कि, गांव में आतंक का पर्याय बने बहादुर सिंह व उसके बेटे किसी के भी घर में घुसकर कोई भी सामान उठा लेते हैं। गांव में इनका इतना आतंक है कि, कोई इनके खिलाफ आवाज भी नहीं उठाता। पूर्व में पूर्व सरपंच संतोष पटेल को बहादुर सिंह द्वारा गोली मरवाई गई थी इस मामले में आरोपियों ने जेल की हवा भी खाई थी। गुरूवार शाम साढ़े 4 बजे निमंत्रण जाने के बाद करीब 6 बजे भागवली पटेल अपने साथी देवीदीन और पप्पू के साथ घर लौट रहे थे।

लौटने के दौरान गांव से छतरपुर की ओर सरपंच पति बहादुर सिंह और उसका ड्राईवर इन्दू पटेल ने भागवली की मोटर साईकिल को क्रॉस किया लेकिन कुछ दूर चलने के बाद दोनों लौटकर भागवली की मोटर साईकिल का पीछा करने लगे। कांग्रेस के मंडल अध्यक्ष खूबचन्द्र पटेल ने बताया कि ठाकुर बाबा तिगड्डा के पास पहले से ही बहादुर सिंह के पुत्र अरविंद और दीपू खड़े थे उधर पीछे से मोटर साईकिल से बहादुर सिंह आए और भागवली की मोटर साईकिल के आगे बाईक अड़ाकर रास्ता रोक लिया। इसके बाद मारपीट शुरू कर दी, लाठियों से लगातार हमला करने के कारण गंभीर रूप से घायल भागवली की मौत हो गई।