छत्‍तीसगढ़ में प्रशासनिक फेरबदल
छत्‍तीसगढ़ में प्रशासनिक फेरबदलRE

छत्‍तीसगढ़ में प्रशासनिक फेरबदल, IAS सुनील कुमार जैन को राज्य खनिज विकास निगम का अतिरिक्त प्रभार

Raipur News: छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री विष्णु देव साय की सरकार बनने के बाद प्रशासनिक बदलाव लगातार जारी है। इसी बीच यहां प्रशासनिक बदलाव किया गया है।

हाइलाइट्स-

  • छत्‍तीसगढ़ में प्रशासनिक फेरबदल देखा गया।

  • IAS सुनील कुमार जैन को छत्तीसगढ़ राज्य खनिज विकास निगम का अतिरिक्त प्रभार।

  • राज्य शासन द्वारा जारी किया गया है आदेश।

  • IPS जितेंद्र सिंह मीणा सीबीआइ दिल्‍ली भेजे गए।

रायपुर, छत्तीसगढ़। छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री विष्णु देव साय की सरकार बनने के बाद कई तरह के बदलाव जारी हैं। वहीं, प्रशासनिक बदलाव लगातार जारी है। इसी बीच खबर आई है कि, राज्य शासन द्वारा भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी सुनील कुमार जैन को उनके वर्तमान कर्तव्यों के साथ प्रबंध संचालक, छत्तीसगढ़ राज्य खनिज विकास निगम का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया।

बता दें कि, राज्य शासन द्वारा भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी श्री सुनील कुमार जैन को उनके वर्तमान कर्तव्यों के साथ प्रबंध संचालक, छत्तीसगढ़ राज्य खनिज विकास निगम का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया।

IAS सुनील कुमार जैन को राज्य खनिज विकास निगम का अतिरिक्त प्रभार
IAS सुनील कुमार जैन को राज्य खनिज विकास निगम का अतिरिक्त प्रभार

राज्य शासन द्वारा जारी किया गया आदेश:

राज्य शासन द्वारा जारी आदेश में लिखा गया है कि, राज्य शासन एतदद्वारा सुनील कुमार जैन, भा.प्र.से. (2009), संचालक, भौमिकी तथा खनिकर्म तथा अति प्रभार विशेष सचिव, खनिज साधन विभाग, विशेष सचिव, ऊर्जा विभाग, मिशन संचालक, जल जीवन मिशन को उनके वर्तमान कर्तव्यों के साथ-साथ प्रबंध संचालक, छ.ग. राज्य खनिज विकास निगम का अतिरिक्त प्रभार सौंपता है।

जितेंद्र सिंह मीणा को मिली बड़ी जिम्मेदारी:

वहीं, आइपीएस अफसर जितेंद्र सिंह मीणा को बड़ी जिम्मेदारी दी गई है। 2007 बैच के IPS अफसर मीणा को डीआजी बनाकर सीबीआइ दिल्‍ली भेजा गया है। उन्‍हें आगामी पांच वर्षों के लिए पदस्‍थ किया गया है। गृह विभाग के अवर सचिव ने आदेश जारी किया है। आइपीएस अफसर शशिमोहन सिंह को बस्‍तर पुलिस अधीक्षक का अतिरिक्‍त प्रभार दिया गया है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co