छत्तीसगढ़ का अगला मुख्यमंत्री
छत्तीसगढ़ का अगला मुख्यमंत्रीRaj Express

नक्सल प्रभावित इलाकों में काम करने वाले पूर्व कलेक्टर हो सकते हैं छत्तीसगढ़ के CM, रमन सिंह का मानना भी जरूरी

Chhattisgarh Next CM : मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में पूर्व सीएम रमन सिंह भी शामिल है। चर्चाओं से अलग मुख्यमंत्री के नाम का फैसला बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व करेगा।

हाइलाइट्स

  • पूर्व IAS को मुख्यमंत्री पद के दावेदार के रूप में देखा जा रहा।

  • UPSC की परीक्षा पहले अटेम्प्ट में क्लियर की थी।

  • प्रधानमंत्री एक्सीलेंस अवॉर्ड से हो चुके सम्मानित।

Chhattisgarh Next CM : रायपुर। छत्तीसगढ़ की जनता ने जनादेश भाजपा को दिया है। जिसके बाद अब भाजपा में मुख्यमंत्री के दावेदार के कई नाम सामने आ रहे है। सभी अपने- अपने पसंदीदा नेता के सिर पर मुख्यमंत्री का ताज सजाना चाहते है। इसी कड़ी में नक्सल प्रभावित इलाकों में काम करने वाले पूर्व आईएएस अफसर को मुख्यमंत्री पद के दावेदार के रूप में देखा जा रहा है। हालांकि मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में पूर्व सीएम रमन सिंह भी शामिल है। चर्चाओं से अलग मुख्यमंत्री के नाम का फैसला बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व करेगा।

इधर, जानकारी है कि चुनाव के परिणाम घोषित होने के बाद भाजपा के दिग्गज नेता पार्टी कार्यालय में अगले सीएम को लेकर बैठक करने वाले थे जिसे निरस्त कर दिया गया था। आइये अब जानते है छत्तीसगढ़ के अगले मुख्यमंत्री के दावेदार और पूर्व आईएएस के बारे में...।

कौन है पूर्व आईएएस जो मुख्यमंत्री पद के हैं दावेदार

छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री के रूप में जिस चेहरे को देखा जा रहा है उन्होंने 22 साल की उम्र में UPSC की परीक्षा पहले अटेम्प्ट में क्लियर की थी। जिसके बाद उन्हें आईएएस की पोस्ट मिली थी। वो जिले से पहली बार में परीक्षा क्लियर कर आईएएस बनने वाले पहले शख्स थे, यह कोई और नहीं बल्कि रायगढ़ जिले के बायंग गांव के रहने वाले ओपी चौधरी है। ओपी चौधरी जब दंतेवाड़ा के कलेक्टर थे उस समय उन्होंने नक्सल प्रभावित इलाकों में बहुत काम किया, इसके साथ ही रायपुर का 'प्रयास स्कूल' ओपी चौधरी की ही देन माना जाता है। ओपी चौधरी ने अपने 13 साल के कार्यकाल के दौरान कई योजनाओं पर काम किया जिससे वो लोकप्रिय भी बने। ओपी चौधरी को 'प्रधानमंत्री एक्सीलेंस अवॉर्ड' से भी सम्मानित किया जा चुका है।

पूर्व आईएएस ओपी चौधरी दुर्ग में SDM, जिला पंचायत- जिला जांजगीर एवं सरगुजा में मुख्य कार्यपालन अधिकारी, राजधानी रायपुर में नगर निगम आयुक्त, जिला दंतेवाड़ा में कलेक्टर, जिला जांजगीर में कलेक्टर तथा जिला रायपुर में निर्देशक जन संपर्क के पद पर कार्य कर चुके है|

गृह मंत्री शाह के माने जाते है करीबी :

पूर्व आईएएस और अगले मुख्यमंत्री ओपी चौधरी गृहमंत्री अमित शाह के करीबी माने जाते है। 13 साल सर्विस करने के दरमियाँ उन्होंने कई जन कल्याणकारी कार्य किये जिसके बाद उनके किये कामों को राष्ट्रीय स्तर पर सराहना मिली। जिससे ओपी चौधरी लोगों के साथ नेताओं की नजर में आ गए। इसके बाद बाद उन्होंने 2018 के चुनाव से पहले आईएएस पद से इस्तीफ़ा दिया और भाजपा ने उन्हें खरसिया विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया था और ओपी चौधरी को वहां हार का सामना करना पड़ा था। लेकिन इस बार ओपी चौधरी के चुनाव जीत गए है। अब सियासी गलियारों में उनकी मुख्यमंत्री पद की दावेदारी को लेकर चर्चा तेज हो गई है।

जब अमित शाह ने कहा- ओपी को बड़ा आदमी मैं बना दूंगा

जब केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह रायगढ़ में भाजपा के चुनाव प्रचार करने आये थे उस दौरान उन्होंने ओपी चौधरी के लिए वोट अपील करते हुए कहा था कि, आप चौधरी को चुनाव जिता दें। इन्हें बड़ा आदमी मैं बना दूंगा। बड़ा आदमी बनाना मेरा काम है। गृहमंत्री अमित शाह का करीबी होने की वजह से सियासी गलियारे में चर्चा है कि भाजपा ओपी चौधरी को छत्तीसगढ़ की कमान सौंप सकती है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co