ग्राम पिपरिया में आयोजित भेंट-मुलाकात कार्यक्रम
ग्राम पिपरिया में आयोजित भेंट-मुलाकात कार्यक्रमRaj Express

हमारी योजनाओं से आमजनों की ज़िंदगी में परिवर्तन आए, उनकी आमदनी बढ़े, इसी का प्रयास है : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

रायपुर, छत्तीसगढ़ : मुख्यमंत्री ने पाली-तानाखार विधानसभा के ग्राम पिपरिया में भेंट-मुलाकात में जानी योजनाओं की मैदानी हकीकत। क्षेत्र के विकास के लिए की अनेक घोषणाएं।

रायपुर, छत्तीसगढ़। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज कोरबा जिले के पाली तानाखार विधानसभा के ग्राम पिपरिया में आयोजित भेंट-मुलाकात में क्षेत्र के विकास के लिए अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं की है। उन्होंने पसान में जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के शाखा प्रारंभ करने, मोरगा में 36 के.वी. विद्युत सब स्टेशन की स्थापना, कोरबी एवं घुचापुर में हाथी प्रभावित क्षेत्रों हेतु रेस्क्यु सेंटर की स्थापना, कापूबहरा और तुलबुल (कर्री) में पुल निर्माण, ग्राम पिपरिया में मुख्यमंत्री हाट बाजार योजना के संचालन की घोषणा की। इसी के साथ उन्होंने पिपरिया में देवगुड़ी समेत कुल 25 देवगुड़ियों के निर्माण, पिपरिया के प्रमुख हाट-बाजार में शेड निर्माण, ग्राम पंचायत अरसिया में पेयजल की व्यवस्था, नगर पंचायत पाली में मंगल भवन का निर्माण, ग्राम पिपरिया में नवीन बालक छात्रावास खोलने और अमझर से जरौंधा सीमा तक सड़क निर्माण की घोषणा की। इस अवसर पर जिले के प्रभारी मंत्री एवं स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम एवं लोकसभा सांसद श्रीमती ज्योत्सना महंत भी उपस्थित थीं।

मुख्यमंत्री ने भेंट-मुलाकात में ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि योजनाओं से आमजनो की ज़िंदगी में परिवर्तन आए, उनकी आमदनी बढ़े, इसका प्रयास राज्य सरकार कर रही है। उन्होंने 2500 रूपए क्विंटल पर धान खरीदी के संबंध में बताया कि केंद्र सरकार ने कहा था कि धान के समर्थन मूल्य से एक रुपए भी धान के लिए ज्यादा दोगे तो हम धान नहीं खरीदेंगे। राज्य सरकार ने किसानों के हित में राजीव गांधी किसान न्याय योजना की शुरूआत की, जिसमें पहले साल 10 हजार रूपए प्रति एकड़ और इस साल 9 हजार रूपए प्रति एकड़ इनपुट सब्सिडी दी जा रही है। समर्थन मूल्य और इनपुट सब्सिडी मिलाकर किसानों को 25 सौ रुपए प्रति क्विंटल धान की कीमत दे रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कर्ज माफी, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की जानकारी ग्रामीणों से ली। इस बीच एक किसान ने बताया कि पहली बार धान का टोकन कटाए हैं और पहली बार धान बेचेंगे, किसान ने कहा कि सरकार की योजना के कारण आसानी से धान बेच पा रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने छत्रराम पटेल को पीएचडी की पढ़ाई करने के लिए एक लाख रूपए देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि भेंट-मुलाकात का उद्देश्य यह जानना है कि लोगों को शासन की योजनाओं का फायदा मिल रहा है कि नहीं। जहां कोई कमी रह जाती है, तो उसमें सुधार किया जा सके। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार बनते ही दो घंटे में किसानों का कर्जा माफ किया।

भेंट-मुलाकात में चंद्रकला पोर्ते ने मुख्यमंत्री से कहा कि राशन कार्ड में चावल, शक्कर, नमक रेगुलर मिलता है। गैस सिलेंडर और मिट्टी का तेल बहुत महंगा है। निर्मला कुजूर ने मुख्यमंत्री को बताया कि राशन कार्ड बना है, चावल, शक्कर, नमक नियमित रूप से मिलता है। गैस सिलेंडर महंगा होने की वजह से लकड़ी में खाना बनाती हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि गैस सिलेंडर योजना बांबे की मिठाई हो गई है, जो लिया वो भी पछता रहा है, जो नहीं लिया वो भी पछता रहा है, गैस सिलेंडर बहुत महंगा है।

अनिता को बी.एड के लिए 50 हजार, छत्रराम को पीएचडी के लिए 01 लाख रूपए की सहायता :

भेंट-मुलाकात के दौरान एथलेटिक्स के युवा खिलाड़ी ने मुख्यमंत्री के समक्ष अपनी समस्या रखी, उसने बताया कि प्रशिक्षण में दिक्कत आ रही है, जिसे सुनकर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने उन्हें हॉस्टल में प्रवेश देने की घोषणा की। अनीता राज ने बताया कि मैं महिला समूह की सदस्य हूं। समूह में 12 सदस्य हैं, मैं पढ़ती भी हूं...प्राइवेट बीएड कर रही हूं। तीन साल में 2 लाख 70 हजार का खाद बेची हैं, यहां कॉलेज नहीं है मैं तो दूर जाकर पढ़ी हूं लेकिन आप यहां कालेज खुलवा दीजिए। अनीता की पढ़ाई पूरी करने के लिए मुख्यमंत्री ने 50 हजार रूपए की सहायता देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने छत्रराम पटेल को पीएचडी की पढ़ाई करने के लिए एक लाख रूपए देने की घोषणा की है। संगीता साहू ने बताया कि तेंदू पत्ता तोड़ने का काम कर रहे हैं। आपने रेट बढ़ाया तब से तोड़ना शुरू किया। आपने तेंदूपत्ता संग्राहकों का बीमा कराया है उसकी बहुत खुशी है।

तेजकुंवर ने 40 हजार रूपए का बेचा गोबर :

भेंट-मुलाकात में तेजकुंवर ने बताया कि 40 हजार का गोबर बेची हूं। पहले तो गोबर फेंक देती थी, अब गौठान में देती हूं। इसी से घर चला रही हूं, बच्चे की शादी में भी इस पैसे का इस्तेमाल किया। एक लाख रूपए खाद बनाकर कमाया है। हरनाम सिंह मरकाम ने बताया उन्हें एक एकड़ जमीन का पट्टा मिला है। इसी जमीन में खेती कर अपने परिवार का पालन पोषण कर रहे हैं। उन्होंने वनाधिकार पट्टा योजना को अच्छी योजना बताया। मुख्यमंत्री से बात करते हुए जगतपाल सिंह ने बताया कि 1.5 एकड़ जमीन का पट्टा मिला है। उन्होंने बताया कि अब जमीन में खेती करते हैं, योजनाओं का लाभ भी मिल रहा है। प्रेम सिंह ने बताया कि उनका वनाधिकार पट्टा बना है। धान भी बेचा है, उसने बताया कि गांव के कुछ लोगों को पट्टा नही मिला है, जिस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रक्रिया के तहत मिल जायेगा।

अनिता अर्मो को कोदो खरीदी से 1.82 लाख रूपए की आमदनी हुई :

भेंट-मुलाकात में लघु वनोपज ख़रीदी करने वाले समूह की सदस्य अनिता अर्माे ने बताया कि हम कोदो, रागी, ईमली खरीद रहे हैं। कोदो 30, रागी 31 रुपए किलो में खरीदते हैं। कोदो खरीदी से एक लाख 82 हज़ार रुपए की आमदनी हुई है। किसान महेश कुमार ने बताया कि पहली बार धान बेचा है, और तीन किश्त मिल चुकी है। उन्होंने 1.5 एकड़ खेत खरीदा है। स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल के छात्र सूर्यांश गुप्ता, पसान ने बताया कि उनका स्कूल 9वीं तक का है। उसने अंग्रेजी में बात करते हुए अपने स्कूल में उपलब्ध सुविधाओं पर बात रखी।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co