गणतंत्र दिवस पर नई दिल्ली मे दिखेगी बस्तर की झांकी
गणतंत्र दिवस पर नई दिल्ली मे दिखेगी बस्तर की झांकीRE

गणतंत्र दिवस पर नई दिल्ली मे दिखेगी बस्तर की झांकी, सीएम साय ने शुभकामनाएं देकर किया विदा

इस साल गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में कर्तव्य पथ पर होने वाली राज्यों की सांस्कृतिक झांकी में छत्तीसगढ़ की झांकी भी नजर आएगी। बालिकाओं को मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने शुभकामनाएं देकर विदा किया।

हाइलाइट्स-

  • गणतंत्र दिवस पर नई दिल्ली मे दिखेगी बस्तर की झांकी।

  • मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने शुभकामनाएं देकर किया विदा।

  • सीएम साय ने कहा- 28 राज्यों के बीच हुई कड़ी प्रतियोगिता के बाद प्रदेश को यह अवसर मिला है।

रायपुर, छत्तीसगढ़। गणतंत्र दिवस के मौके पर इस साल भी आपको एक अलग नजारा दिखाई देगा। बता दें, इस साल गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में कर्तव्य पथ पर होने वाली राज्यों की सांस्कृतिक झांकी में छत्तीसगढ़ की झांकी भी नजर आएगी। ये झांकियां दर्शकों के लिए आकर्षण का विशेष केंद्र रहेंगी।

बता दें कि, गणतंत्र दिवस के अवसर पर नई दिल्ली के कर्तव्यपथ पर छत्तीसगढ़ की झांकी, "बस्तर की आदिम जनसंसद: मुरिया दरबार" को प्रदर्शित करने नई दिल्ली रवाना हो रही बालिकाओं को मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने शुभकामनाएं देकर विदा किया। यह झांकी छत्तीसगढ़ के जनजातीय समाज में आदि-काल से उपस्थित लोकतांत्रिक चेतना और परंपराओं को दर्शाती है। यह झांकी भारत सरकार की थीम "भारत :लोक तंत्र की जननी" पर आधारित है।

विष्णु देव साय ने कही यह बात:

मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने वीडियो कॉल के माध्यम से बालिकाओं से बातचीत की और कहा कि, पूरे छत्तीसगढ़ का मान और सम्मान आपके हाथों में हैं। उन्होंने बालिकाओं का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि, 28 राज्यों के बीच हुई कड़ी प्रतियोगिता के बाद प्रदेश को यह अवसर मिला है। छत्तीसगढ़ की बेटियों ने हमेशा प्रदेश का नाम ऊंचा किया है। आज एक बार फिर राष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन का मौका हमारे प्रदेश को मिला है।

उन्होंने कहा कि, गणतंत्र दिवस के अवसर पर आयोजित कर्तव्यपथ पर होने वाली परेड पर पूरे विश्व की दृष्टि हमारे भारतवर्ष पर रहती है। यह एक ऐसा माध्यम है, जहां देशभर की कला संस्कृति से अवगत होने का मौका भी मिलता है। विष्णु देव साय ने विश्वास जताया कि, अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन से हमारी बेटियां छत्तीसगढ़ की कला, संस्कृति और पुरातन परंपराओं को देश ही नहीं बल्कि वैश्विक मानचित्र पर पहचान दिलाने में कामयाब होंगी।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co