उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी
उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामीSocial Media

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया आपदा प्रभावित धारचूला का दौरा और हवाई सर्वेक्षण

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) ने आज पिथौरागढ़ (Pithoragarh) में अतिवृष्टि के कारण हुए नुकसान का हवाई सर्वेक्षण किया ।

पिथौरागढ़, भारत। उत्तराखंड के पिथौरागढ़ (Pithoragarh) में भारत नेपाल सीमा पर बादल फटने के बाद शनिवार की रात भी पिथौरागढ़ ज‍िले मेें भारी बारिश हुई। जिससे यहां तबाही मच गई, जिसके बाद उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) आपदा प्रभावित क्षेत्र धारचूला पहुंचे। उन्होंने यहां आपदा प्रभावित धारचूला का दौरा और हवाई सर्वेक्षण किया।

बता दें कि, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज रविवार को आपदा प्रभावित धारचूला का दौरा और हवाई सर्वेक्षण किया। उन्होंने यहां आपदा प्रभावित गांव खोतिला के साथ ऐलधारा में हुए भूस्खलन से हुए नुकसान का हवाई सर्वेक्षण किया। साथ ही अधिकारियों को भूस्खलन को रोकने के लिए ठोस रणनीति के तहत काम करने के निर्देश दिए है।

वहीं, जिला प्रशासन, एसडीआरएफ एवं पुलिस द्वारा राहत और बचाव कार्य तेजी से किए जा रहे हैं। प्रदेश सरकार द्वारा आपदा प्रभावितों की हर सम्भव मदद की जाएगी।

रिपोर्टस के अनुसार, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी आज धारचूला पहुंचे है। यहां उन्होंने आपदा प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लेते हुए स्थानीय स्टेडियम में आपदा प्रभावितों से मिलकर उनका हाल जाना। आपदा की इस घड़ी में उन्होंने गॉड ऑफ ऑनर भी नहीं लिया। वह खुद राहत एवं बचाव कार्यों पर नजर बनाए हुए हैं।

पुष्कर सिंह धामी ने कही यह बात:

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस दौरान कहा कि, "यहां काफी नुकसान हुआ है। कोकिला गांव के 58 परिवार के मकान पूरी तरह से प्रभावित हुए हैं। एल धारा में भूस्खलन हुआ है उससे धारचूला शहर में मलबा आ गया है, काफी घर उसकी चपेट में आ गए हैं। हम लोग यहां पुनर्वास की व्यवस्था की बात कर रहे हैं। आपदा राहत के काम भी करेंगे।"

आपको बता दें कि, बादल फटने से पिथौरागढ़ से नेपाल को जोड़ने वाली काली नदी में भारी मात्रा में मलबा आने से पिथौरागढ़ के धारचूला के खोतीला में भारी नुकसान हुआ है। बीते दिन शनिवार की रात हिमालय की ऊंची चोटियों नंदा देवी, नंदाकोट, पंचाचूली, हँसलिंग, राजरम्भा, सिदमधार, छिपलाकेदार सहित अन्य चोटियों पर हिमपात हुआ है। पिथौरागढ़ जिले में लिपुलेख मार्ग सहित 26 मार्ग बंद हैं। ऐसे में स्थानीय लोगों को आवगमन में समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co