चीनी दूतावास के बाहर ताइवान नेशनल डे का पोस्टर देख बौखलाया चीन

दिल्‍ली के हाई सिक्‍योरिटी इलाके चाणक्‍यपुरी में जगह-जगह ताइवान को बधाई देते पोस्‍टर्स लगे हैं। तजिंदर पाल सिंह बग्‍गा ने ये पोस्‍टर्स लगवाए हैं, जिसे देख चीन ने बीजेपी को आग से न खेलने की धमकी दी है।
चीनी दूतावास के बाहर ताइवान नेशनल डे का पोस्टर देख बौखलाया चीन
चीनी दूतावास के बाहर ताइवान नैशनल डे का पोस्टर देख बौखलाया चीनSocial Media

दिल्‍ली, भारत। भारत के रिश्‍ते ताइवान से मधुर हैं। वहीं, आज यानी 10 अक्‍टूबर को ताइवान का नेशनल डे है। इस मौके पर दिल्‍ली में चीनी दूतावास के बाहर बीजेपी नेता तजिंदर पाल सिंह बग्‍गा ने ताइवान को बधाई देते पोस्‍टर्स लगाए गए हैं, जिसे देख चीन भड़क गया।

और ज्यादा खराब होंगे भारत-चीन संबंध :

चीन का सरकारी अखबर ग्लोबला टाइम्स ने पोस्टर लगाए जाने पर नाराजगी जताते हुए कहा है कि, "यह आग से खेलने जैसा काम है और इससे पहले से खराब चल रहे भारत-चीन संबंध और ज्यादा खराब होंगे।" चीनी अखबार के मुताबिक ये भी कहा गया कि, ''भारत की सत्‍तारूढ़ बीजेपी मूर्खों जैसा व्‍यवहार छोड़े और यह समझे कि वह आग से खेल रही है।''

ग्‍लोबल टाइम्‍स ने चीनी विशेषज्ञ लियू काइयू के हवाले से कहा कि, "बीजेपी नेता ने यह कदम ऐसे समय पर उठाया है जब भारतीय मीडिया ने ताइवान के नैशनल डे का समर्थन किया है और सहयोग किया है।"

साथी भारतीय विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने भारतीय मीडिया के एक चीन की नीति का सम्‍मान नहीं करते हुए अपने विचारों को प्रकाशित करने के अधिकारों का समर्थन किया है।पोस्‍टर्स देख ताइवान के सांसद वांग टिंग-यू ने लिखा- ताइवान के लोग आपकी भावना, आपकी निडरता और जो सही है, उसके लिए खड़े होने के संकल्‍प को खासा पसंद करते हैं। भारत में चीनी दूतावास ने भारतीय मीडिया से कार्यक्रम से दूर रहने के लिए कहा था। उस वक्‍त भी ताइवान ने चीन को करारा जवाब दिया था।

शंघाई इंस्‍टीट्यूट में अंतरराष्‍ट्रीय मामलों के विशेषज्ञ झाओ गांचेंग ने कहा कि, "भारत को उस समय आश्‍चर्य नहीं होना चाहिए, जब उसे आर्थिक तथा आपसी आदान-प्रदान से हाथ धोना पड़ जाए। राष्‍ट्रवादी बीजेपी अनैतिक तरीके से भारत-चीन तनाव के बीच ताइवान के सवाल को भड़का रही है। उसने लक्ष्‍मण रेखा को पार कर दिया है क्‍योंकि वह ताइवान का कार्ड खेल रही है और यह सोच रही है कि चीन के साथ मोलभाव में काम देगा।"

भारत सरकार खुलेआम अभी भी एक चीन नीति का पालन करती है, लेकिन प्रेस की स्‍वतंत्रता के नाम पर कंधे उचकाने लगती है।

चीनी विशेषज्ञ

बता दें कि, इससे पहले चीन ने ताइवान के राष्ट्रीय दिवस मानने को लेकर भारत के अखबरों में दिए गए विज्ञापन पर नाराजगी जताते हुए कहा था कि, ''भारत को वन चाइना पॉलिसी का ध्यान रखना चाहिए।'' दरअसल, बात ये है कि, चीन इसलिए नाराजगी जता जता रहा, क्‍योंकि वो ताइवान को अपना हिस्सा मानता है और भारत के रिश्‍ते ताइवान से मधुर हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co