जरूरत पड़ी तो राष्ट्रपति से मिलेंगे-PM आवास पर करेंगे प्रदर्शन: गहलोत
जरूरत पड़ी तो राष्ट्रपति से मिलेंगे-PM आवास पर करेंगे प्रदर्शन: गहलोत|Social Media
भारत

जरूरत पड़ी तो राष्ट्रपति से मिलेंगे-PM आवास पर करेंगे प्रदर्शन : गहलोत

राजस्‍थान के जयपुर में कांग्रेस विधायक दल (CPL) की बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा- हम राष्ट्रपति भवन जाएंगे, राष्ट्रपति से मिलेंगे एवं जरूरत पड़ी तो PM आवास के बाहर प्रदर्शन भी करेंगे!

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राजस्‍थान, भारत। राजस्‍थान का सियासी संकट कम नहीं बल्कि दिनों दिन बढ़ता जा रहा है और नौबत ये आ गई है, गहलोत सरकार के सभी समर्थक विधायक प्रदर्शन के लिए उतर गए। इसी बीच आज शाम जयुपर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक में हुई और इस दौरान राज्‍य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बड़ा बयान सामने आया है।

राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति से मिलेंगे गहलोत :

दरअसल, राजस्थान में राज्यपाल के घर के बाहर धरने पर बैठने के एक दिन बाद यानी आज जयुपर में कांग्रेस विधायक दल (CPL) की बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि, हम भाजपा की साजिश को सफल नहीं होने देंगे। अगर जरूरत हुई तो राष्ट्रपति भवन जाएंगे और राष्ट्रपति से मिलेंगे। अगर जरूरत पड़ी तो प्रधानमंत्री आवास के बाहर प्रदर्शन भी करेंगे। विधानसभा सत्र बुलाने की मांग को लेकर सीएम गहलोत एक बार फिर से राज्यपाल कलराज मिश्र से आज शाम मुलाकात करेंगे।

शनिवार दोपहर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि, विधायक दल की बैठक में CM गहलोत ने यह बात कही है। तो वहीं जानकारी के मुताबिक, मुख्यमंत्री आवास (CMR) पर आज शनिवार को कैबिनेट की बैठक में विधानसभा सत्र प्रस्ताव पारित हुआ। अब CM द्वारा विधानसभा सत्र बुलाने हेतु नए प्रस्ताव देने के लिए राज्यपाल कलराज मिश्र से मुलाकात की उम्मीद जताई जा रही है।

क्‍यों कर रहे कांग्रेस विधायक प्रदर्शन?

दरअसल, राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री गहलोत विधानसभा का सत्र बुलाने के लिए अड़े हुए है, इसके लिए उन्‍होंने कल राजभवन में जाकर राज्‍यपाल से मुलाकात भी की थी, कांग्रेस चाहती है कि राज्यपाल विधानसभा का सत्र बुलाएं, जहां गहलोत अपना बहुमत साबित करें, लेकिन राज्यपाल ने अभी तक इस फैसला नहीं लिया है। तो इस दौरान कांग्रेस के विधायकों ने कल राजभवन के बाहर विरोध प्रदर्शन किया था। राजभवन में धरने पर बैठे कांग्रेसी विधायकों ने मुख्यमंत्री के समर्थन में 'इंकलाब जिंदाबाद, अशोक गहलोत जिंदाबाद' के नारे लगाए थे और करीब पांच घंटे बाद विधायकों ने धरना समाप्त किया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co