उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी
उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी Social Media

सीएम धामी ने ऋषिकेश में आयोजित 'अन्तर्राष्ट्रीय योग महोत्सव' कार्यक्रम का किया शुभारंभ

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज ऋषिकेश में आयोजित 'अन्तर्राष्ट्रीय योग महोत्सव' कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

राज एक्सप्रेस। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज ऋषिकेश में आयोजित 'अन्तर्राष्ट्रीय योग महोत्सव' कार्यक्रम का शुभारंभ किया। बता दें, उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद की तरफ से आयोजित 'अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव 2023' का ऋषिकेश में गंगा तट पर शानदार ढंग से शुभारंभ हो गया है। योग महोत्सव में देश विदेश के योग साधक शिरकत कर रहे हैं। देश के विख्यात योगाचार्य, योग साधकों का मार्गदर्शन करेंगे।

बता दें कि, ऋषिकेश के मुनिकीरेती स्थित जीएमवीएन गंगा रिजॉर्ट में आयोजित अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव 2023 का आज बुधवार को शुभारंभ हो गया है। इस दौरान सीएम पुष्कर सिंह धामी और पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज, वन मंत्री सुबोध उनियाल, कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल, महापौर अनीता मामगाई, पालिका अध्यक्ष मुनिकीरेती रोशन रतूड़ी मौजूद रहे, जिन्होंने इस महोत्सव का शुभारंभ किया। इन्होंने इस दौरान संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। इस मौके पर विख्यात योगाचार्य पद्मश्री शिवानंद तथा पद्मभूषण रजनीकांत भी मौजूद रहे। 

इस बार पहली बार उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव का आयोजन कर रहा है। इससे पहले गढ़वाल मंडल विकास निगम अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव आयोजित करता था।

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कही यह बात:

इस खास मौके पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि, "हर साल की तरह इस साल भी अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव का आयोजन करना राज्य के लिए सम्मान की बात है...उत्तराखंड देश की आध्यात्मिक व सांस्कृतिक राजधानी है, हमारी सरकार योग को बढ़ावा देने हेतु निरंतर कार्य कर रही है।"

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि, "उत्तराखंड योग, ध्यान तथा अध्यात्म के लिए पूरे विश्व में पहचान कराता है। उन्होंने कहा कि, उत्तराखंड की प्रतिभाएं आज वैश्विक मंच पर सम्मानित हो रही हैं, यह हम सबके लिए सम्मान का विषय है। उन्होंने कहा कि योग की महत्ता को हम सब ने कोविड काल में बखूबी महसूस किया है। कोविड काल में योग और आयुष ही था, जिसने हम सबको इस महामारी से डटकर सामना करने की हिम्मत दी।"

जानकारी के लिए बता दें कि, अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव में इस बार साधकों से कोई योग शुल्क नहीं लिया जा रहा है। कोई भी साधक महोत्सव में प्रतिभाग कर योगिक क्रियाओं का अभ्यास कर सकते हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co