दिल्ली: विधानसभा में CM केजरीवाल का फूटा गुस्सा, कृषि कानूनों की फाड़ी कॉपी
दिल्ली विधान सभा में सीएम केजरीवाल ने कृषि कानूनों की कॉपी फाड़ीSyed Dabeer Hussain - RE

दिल्ली: विधानसभा में CM केजरीवाल का फूटा गुस्सा, कृषि कानूनों की फाड़ी कॉपी

आज दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र के दौरान संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कृषि कानूनों की कॉपी फाड़ दी।

नई दिल्ली, भारत। देशभर में एक ओर जहां नए कृषि कानून को लेकर केंद्र के खिलाफ किसानों का आंदोलन लगातार बढ़ता जा रहा है वहीं दूसरी तरफ आंदोलन के बीच कृषि कानून को लेकर सरकार और विपक्ष के बीच बहसबाजी का सिलसिला भी जारी है जिसे लेकर ही आज दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र के दौरान संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कृषि कानूनों की कॉपी फाड़ दी। वही केंद्र से अपील भी की है।

सत्र के दौरान सीएम केजरीवाल ने कही ये बात

इस संबंध में, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, ''हर किसान भगत सिंह बन गया है। सरकार कह रही है कि वे किसानों तक पहुंच रहे हैं और फार्म बिलों के लाभों को समझाने की कोशिश कर रहे हैं। यूपी के सीएम ने किसानों से कहा कि वे इन बिलों से लाभान्वित होंगे, क्योंकि उनकी जमीन नहीं छीनी जाएगी। क्या यह लाभ है।'' उन्‍होंने कहा, ''फार्म लॉ को महामारी के दौरान संसद में पारित करने की क्या जल्दी थी? यह पहली बार हुआ है कि राज्यसभा में मतदान के बिना 3 कानून पारित किए गए। मैंने इस विधानसभा में 3 कानूनों को फाड़ दिया और केंद्र से अपील की कि वे अंग्रेजों से बदतर न बनें।'' साथ ही आगे कहा कि, "मैं केंद्र से पूछना चाहता हूं कि किसानों को कितनी कुर्बानियां देनी पड़ेंगी, उनकी आवाज सुनी जा सकेगी।"

राष्ट्रपति की सहमति के बाद लागू किया था कानूनों को

बताते चलें कि, केजरीवाल सरकार ने बीते 23 नवंबर को राष्ट्रपति की सहमति के बाद कानूनों को लागू कर दिया था। लेकिन अब सीएम केजरीवाल ने इन कानूनों को किसान विरोधी बताया है साथ ही दावा किया है कि, इससे महंगाई बढ़ेगी और कुछ ही पूंजीपतियों को फायदा होगा। बता दें कि, सत्र के दौरान आम आदमी पार्टी के विधायक महेंद्र गोयल ने भी कृषि कानूनों की कॉपी फाड़ दी है। इस संबंध में चर्चा के दौरान विधायक महेंद्र गोयल ने तीनों कृषि कानूनों की प्रति फाड़ते हुए कहा कि ये कानून किसान विरोधी हैं। साथ ही कहा कि, "मैं इन काले कानूनों को स्वीकार करने से इनकार करता हूं, जो किसानों के खिलाफ हैं।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co